scorecardresearch

गंगा में देशवासियों ने जो प्रदूषण फैलाया है, उसका पश्‍चाताप है नमामि गंगे: उमा भारती

भारती ने कहा कि वह गंगा किनारे उत्तराखंड में गंगोत्री और पश्चिम बंगाल में गंगासागर के बीच पैदल मार्च पर निकलेंगी।

गंगा में देशवासियों ने जो प्रदूषण फैलाया है, उसका पश्‍चाताप है नमामि गंगे: उमा भारती
केंद्रीय मंत्री उमा भारती (File Photo Source: Indian Express)

केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने आज कहा कि स्वतंत्रता के बाद गंगा को प्रदूषण के ‘‘पश्चाताप’’ के रूप में नमामि गंगे कार्यक्रम शुरू किया गया है। उन्होंने नदी के किनारे वाले क्षेत्रों के सांसदों से अपील की कि अभियान को सफल बनाने में सहयोग करें। एक आधिकारिक बयान में उनके हवाले से कहा गया, ‘‘गंगा में देशवासियों ने जो प्रदूषण फैलाया उसका पश्चाताप है नमामि गंगे… कार्यक्रम से गंगा पर हम कोई उपकार नहीं कर रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘बल्कि यह नदी के साथ जो खिलवाड़ हुआ उसका पश्चाताप है, जिस तरीके से इसके किनारे औद्योगिकीकरण और शहरीकरण हुआ उसका पश्चाताप है। हम आगामी पीढ़ी को स्वच्छ गंगा देंगे।’’ केंद्रीय जल संसाधन मंत्री ने अपने आवास पर पवित्र नदी के किनारे वाले संसदीय क्षेत्र के सांसदों के साथ बैठक के दौरान यह बयान दिया। मंत्री ने सांसदों से कहा कि सरकार नदी किनारे चार सौ गांवों में सीचेवाल मॉडल पर आधारित कचरा प्रबंधन पर काम शुरू कर चुकी है। पंजाब के सीचेवाल मॉडल में गंदे पानी और सीवेज को पर्यावरण हितैषी और प्राकृतिक प्रक्रिया से शोधित किया जाता है। उन्होंने कहा, ‘‘हम शुरू में गंगा किनारे स्थित हर गांव में सीचेवाल मॉडल विकसित करने के लिए आठ…आठ लाख रूपये खर्च करेंगे। इसमें गांवों में सफाई और सौंदर्यीकरण का काम शामिल होगा।’’

भारती ने कहा कि वह गंगा किनारे उत्तराखंड में गंगोत्री और पश्चिम बंगाल में गंगासागर के बीच पैदल मार्च पर निकलेंगी और लोगों से कार्यक्रम को सफल बनाने की अपील करेंगी। उन्होंने कहा कि मामले को वह प्रधानमंत्री के समक्ष उठाएंगी। बयान के मुताबिक कुछ सांसदों ने सुझाव दिया कि उनके संसदीय क्षेत्रों में कार्यक्रम को शुरू करने से पहले उनसे विचार…विमर्श किया जाए। मंत्री ने मंत्रालय के अधिकारियों से ऐसा करने को कहा। भारती ने भाजपा सांसद मनोज तिवारी के इस सुझाव का भी स्वागत किया कि गंगा किनारे जागरूकता कार्यक्रमों में क्षेत्रीय गायकों और संगीतकारों को भी जोड़ा जाए।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 10-08-2016 at 08:35:46 pm
अपडेट