ताज़ा खबर
 
title-bar

उज्ज्वला बोलीं, जून में दोनों लेने वाले थे तलाक

वहीं, दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने रोहित शेखर हत्याकांड में विभिन्न लोगों से लगातार तीन दिन तक की गई पूछताछ के आधार पर रविवार शाम रोहित की पत्नी अपूर्वा और घरेलू सहायक गोलू व सहायिका पार्थ को हिरासत में ले लिया।

Author April 22, 2019 1:42 AM
पिता एनडी तिवारी के साथ रोहित तिवारी (फोटोः इंडियन एक्सप्रेस)

निर्भय कुमार पांडेय

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के दिवंगत मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर की मौत की गुत्थी परत दर परत खुलती जा रही है। रोहित की मां उज्ज्वला रविवार को एक बार फिर मीडिया के सामने आर्इं और कहा कि रोहित और उनकी पत्नी अपूर्वा के बीच दिनोंदिन रिश्ते बिगड़ते जा रहे थे। यही वजह है कि दोनों सहमति से तलाक लेने की तैयारी कर रहे थे। अगर सब कुछ ठीक-ठाक रहता तो हो सकता है कि अपूर्वा और रोहित जून में तलाक ले लेते। उन्होंने बताया कि अपूर्वा अक्सर किसी न किसी बात को लेकर रोहित को परेशान करती थी। दोनों के बीच आए दिन लड़ाई-झगड़े भी होते थे।

उज्ज्वला ने आरोप लगाया है कि उनके बेटे की हत्या का कारण संपत्ति का लालच हो सकता है। उन्होंने कहा कि अपूर्वा और उसके परिवार को लगता था कि पूर्व मुख्यमंत्री तिवारी ने रोहित के नाम पर करोड़ों की संपत्ति छोड़ी है। अपूर्वा किसी भी कीमत पर यह संपत्ति हड़पना चाहती थी। उन्हें शक है कि इसी लालच में अपूर्वा और उसके परिवारवालों ने हत्या की साजिश रची होगी।

वहीं, दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने रोहित शेखर हत्याकांड में विभिन्न लोगों से लगातार तीन दिन तक की गई पूछताछ के आधार पर रविवार शाम रोहित की पत्नी अपूर्वा और घरेलू सहायक गोलू व सहायिका पार्थ को हिरासत में ले लिया। पुलिस टीम सुबह ही रोहित के घर पर पहुंच गई थी और शाम तक परिजनों व अन्य लोगों से पूछताछ करती रही। इसी बीच रोहित की मां उज्ज्वला भी डिफेंस कॉलोनी स्थित घर में पहुंच गईं थीं। शाम करीब छह बजे पुलिस अपूर्वा व दोनों घरेलू सहायकों को किसी अनजान स्थान पर लेकर गई।

मामले की जांच के लिए दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा के आला अधिकारियों के साथ-साथ उपायुक्त जॉय टिर्की भी रविवार को घटनास्थल पर पहुंचे थे। हालांकि, इस संबंध में देर शाम तक पुलिस ने साफ नहीं किया था कि तीनों को गिरफ्तार किया गया है या फिर हिरासत में लिया गया है। माना जा रहा है कि तीन दिन तक चली पूछताछ के बाद जांच टीम को कुछ अहम सबूत जरूर हाथ लगे हैं, जिनके आधार पर ही पुलिस तीनों लोगों को अपने साथ लेकर गई है। पुलिस टीम तीनों से किस स्थान पर पूछताछ कर रही है, इस बारे में अधिकारी कुछ भी कहने से बचते रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App