ताज़ा खबर
 

NDA में सेंध? ममता बनर्जी की रैली में उद्धव ठाकरे भी फूंकेंगे बीजेपी के खिलाफ बिगुल

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी द्वारा अगले साल जनवरी महीने में कोलकाता में आयोजित होने वाले महारैली में शामिल होंगे।

शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

देश के वर्तमान राजनीतिक हालात ये बता रहे हैं कि एनडीए के भीतर सब ठीक-ठाठ नहीं चल रहा है। ताजा मामला एनडीए के सहयोगी दल शिवसेना से जुड़ा हुआ है। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष ममता बनर्जी द्वारा अगले साल जनवरी महीने में कोलकाता में आयोजित होने वाले महारैली में शामिल होंगे। भाजपा के खिलाफ बिगुल फूंकेंगे। बुधवार को दिल्ली में टीएमसी कार्यालय में शिवसेना के संसदीय दल के नेता संजय राऊत के साथ बैठक में ममता ने 19 जनवरी 2019 को आयोजित होने वाली रैली में शामिल होने के लिए ठाकरे को आमंत्रित किया। सूत्रों के अनुसार, बैठक में रैली में शामिल होने का निमंत्रण दिए जाने पर राऊत ने कहा कि ठाकरे इसमें शामिल होंगे। बता दें कि इस रैली का उद्देशय 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर ममता बनर्जी को खुद को भाजपा विरोधी गुट के नेतृत्वकर्ता के रूप में दिखाना है।

गौर हो कि नवंबर 2016 में शिवसेना के सांसदों ने टीएमसी के साथ नोटबंदी के विरोध में राष्ट्रपति भवन तक मार्च किया था। इसके बाद से ठाकरे और ममता बनर्जी लगातार एक दूसरे के संपर्क में बने हुए हैं। पिछले साल नवंबर माह में ममता बनर्जी के मुंबई दौरे के समय ठाकरे और उनके बेटे आदित्य ठाकरे ने मुलाकात की थी। वहीं, जून महीने में शिवसेना के 52वें स्थापना दिवस के अवसर पर ममता बनर्जी ने ट्वीट कर बधाई भी दी थी।

मानसून सत्र के दौरान विपक्षी दलों द्वारा सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के बाद शिवसेना ने मोदी सरकार का साथ न देते हुए बॉयकाट कर दिया था। इसके कुछ दिन बाद ही ठाकरे के कोलकाता रैली में शामिल होने की बात से यह साफ जाहिर है, एनडीए में दरार आ चुकी है। वहीं कोलकाता रैनी में तमाम भाजपा विरोधी पार्टियों को एक मंच पर लाने के लिए ममता बनर्जी नवंबर से दौरा करेंगे। वहीं, इसके जवाब में 23 जनवरी 2019 को कोलकाता में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा ने एक रैली का आयोजन किया गया है। बता दें कि इससे भी कई मौके पर शिवसेन और भाजपा के बीच मतभेद सामने आते रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App