ताज़ा खबर
 

लीबिया में बंधक बने दो भारतीय कराए गए रिहा

लीबिया की सिर्ते यूनिवर्सिटी में शिक्षण कार्य कर रहे दोनों भारतीयों का इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों ने पिछले साल जुलाई में अपहरण कर लिया था।

Author नई दिल्ली | September 16, 2016 1:17 AM
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज। (फाइल फोटो)

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने गुरुवार (15 सितंबर) को कहा कि लीबिया में एक साल से भी अधिक समय से बंधक बनाकर रखे गए दो भारतीयों को छुड़ा लिया गया है। सुषमा ने ट्वीट किया, ‘मुझे आपको यह बताते हुए खुशी हो रही है कि टी गोपालकृष्णा (आंध्र प्रदेश) और सी बलरामकिशन (तेलंगाना) जिन्हें 29 जुलाई, 2015 से लीबिया में बंधक बनाकर रखा गया था, उन्हें छुड़ा लिया गया है।’ लीबिया की सिर्ते यूनिवर्सिटी में शिक्षण कार्य कर रहे दोनों भारतीयों का इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों ने पिछले साल जुलाई में अपहरण कर लिया था। एक साल से भी अधिक समय से बंधक बनाकर रखे गए दो भारतीयों को छुड़ाए जाने पर उनके परिजनों ने राहत की सांस ली है और खुशी जाहिर की है।

बलराम की पत्नी श्रीदेवी ने बताया, ‘हमें विदेश मंत्रालय, लीबिया सरकार के अधिकारियों व अन्य द्वारा करीब आधी रात को सूचित किया गया कि उन्हें (बलराम) गोपालकृष्ण के साथ छुड़ा लिया गया है। मेरे पति ने भी गुरुवार सुबह मुझसे बात की। यह बातचीत कुछ ही सेकंड की रही। उन्होंने हमारे बच्चों और मेरे व अन्य परिजन का हालचाल पूछा।’ श्रीदेवी ने कहा, ‘पूरा परिवार इस बात से खुश है कि उन्हें छुड़ा लिया गया है और अब वह खतरे से बाहर हैं। मैंने पति की आवाज एक साल से भी ज्यादा समय के बाद सुनी। यह भगवान की कृपा है।’

सिकंदराबाद के बलराम के परिवार ने कहा, ‘हम काफी चिंतित थे लेकिन अब खुश हैं कि वह सुरक्षित हैं और हम उनकी सुरक्षित वापसी का इंतजार कर रहे हैं।’ गोपालकृष्ण के परिवार ने भी उनकी रिहाई पर खुशी जाहिर की। गोपालकृष्ण के भाई मुरलीकृष्ण ने कहा, ‘पिछले साल जुलाई के बाद से मेरे परिवार की उनसे (गोपालकृष्ण) बात नहीं हुई थी। हमें विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के अलावा लीबिया सरकार की ओर से भी उसकी रिहाई के बारे में सूचित किया गया।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App