ताज़ा खबर
 

दिल्ली हिंसा के दो दिन बाद सड़क पर दिखी सख्ती, गाजीपुर बार्डर पर बना तनाव का माहौल

टिकैत ने पीटीआई को भेजे एक संदेश में कहा, "मैं आत्महत्या कर लूंगा लेकिन तब तक आंदोलन समाप्त नहीं करूंगा जब तक कि कृषि कानूनों को रद्द नहीं कर दिया जाता।"

गाजियाबाद पुलिस-प्रशासन का यूपी गेट खाली करने की चेतावनी और किसान नेताओं के आंदोलन जारी रखने की धमकी के बीच किसानों में स्थिति को लेकर बेचैनी बनी रही।

दिल्ली हिंसा के बाद गुरुवार को माहौल एक बार फिर गरम हो गया। गाजीपुर बार्डर पर गाजियाबाद प्रशासन ने प्रदर्शनकारी किसानों को आधी रात तक यूपी गेट खाली करने का अल्टीमेटम दिया है, वहीं किसान नेता राकेश टिकैत अपनी मांग पर अड़े रहे और कहा कि वह आत्महत्या कर लेंगे लेकिन आंदोलन समाप्त नहीं करेंगे।

दिल्ली की सीमा से लगे यूपी गेट पर टकराव की स्थिति के बीच भारी संख्या में सुरक्षा कर्मी तैनात किए गए हैं। वहीं प्रदर्शन स्थल पर शाम में कई बार बिजली कटौती देखी गयी जहां टिकैत के नेतृत्व में भारतीय किसान यूनियन (बीकेयू) के सदस्य 28 नवंबर से डटे हुए हैं।

गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में हिंसा को लेकर तीन किसान संगठनों ने तीन केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ अपना आंदोलन वापस ले लिया है। इसके बाद प्रशासन ने यह “मौखिक” निर्देश दिया। जिले के एक अधिकारी ने पीटीआई-भाषा से कहा कि गाजियाबाद के जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने यूपी गेट पर डेरा डाले प्रदर्शनकारियों से संवाद किया और उन्हें रात तक प्रदर्शनस्थल खाली करने को कहा। ऐसा नहीं करने पर प्रशासन उन्हें हटा देगा। हालांकि, बीकेयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता टिकैत ने इस कदम के लिए उत्तर प्रदेश सरकार और पुलिस की निंदा की।

टिकैत ने पीटीआई को भेजे एक संदेश में कहा, “मैं आत्महत्या कर लूंगा लेकिन तब तक आंदोलन समाप्त नहीं करूंगा जब तक कि कृषि कानूनों को रद्द नहीं कर दिया जाता।” अपनी जान को खतरा होने का दावा करते हुए उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि प्रदर्शन स्थल पर सशस्त्र गुंडों को भेजा गया था। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि सशस्त्र गुंडों को विरोध स्थल पर भेजा गया था।

farmer protest बार्डर पर बैठे किसानों को पुलिस ने रात तक चले जाने का अल्टीमेटम दिया है। प्रशासन ने चेतावनी दी है कि किसान नेता और उनके समर्थक वहां से नहीं हटे तो उन्हें जबरन हटा दिया जाएगा। farmer movement दिल्ली में गाजीपुर बार्डर पर तनाव को देखते हुए दिल्ली और यूपी पुलिस के जवान भारी संख्या में सड़क के दोनों ओर तैनात रहे। तेज ठंड और कोहरे के बीच माहौल में गर्मी का रुख रहा। farmer protest 1 गाजीपुर बार्डर पर किसान नेता राकेश टिकैत और उनके समर्थकों के साथ ही भारी संख्या में मीडिया का भी जमावड़ा रहा। राकेश सिंह टिकैत ने कहा कि वह जान दे देंगे, लेकिन आंदोलन नहीं बंद करेंगे। farmer protest 2 पुलिस की रात तक खाली करने की चेतावनी और किसानों के आंदोलन जारी रखने की धमकी के बीच कई किसान अपनी गाड़ी पर बिस्तर बिछाकर सड़क के किनारे जमे रहे। farmer protest 3 कई किसान देर रात तक अपने नेताओं के आगे की रणनीति की प्रतीक्षा में सड़क पर ही आग जलाकर तापते रहे। farmer protest 4 कई किसान देर रात तक आंदोलन स्थल पर गद्दे बिछाकर माहौल को लेकर चर्चा करते रहे। हालांकि वहां पर पहले जैसी भीड़भाड़ और धरना वाला माहौल नहीं दिखा। कुछ ही किसान वहां पर मौजूद दिखे। farmer protest 5 यूपी बार्डर को खाली कर देने के पुलिस-प्रशासन के अल्टीमेटम की वजह से गाजीपुर बार्डर पर पुलिस का सख्त पहरा रहा।

Next Stories
1 VIDEO: राकेश टिकैत ने कैमरे पर युवक को जड़ा थप्पड़, ‘BJP का है’ कह कर चिल्लाने लगे लोग
2 फफक-फफक कर रोए राकेश टिकैत, बोले- मारने की साजिश रची जा रही है; आत्महत्या की भी दी धमकी
3 रात तक यूपी गेट ख़ाली नहीं किया तो जबरन कराएंगे- ग़ाज़ियाबाद प्रशासन का आंदोलनकारी किसानों को अल्टीमेटम
ये पढ़ा क्या?
X