scorecardresearch

अभिनंदन संग फोटो में दिखे PAK मेजर से ट्रेन्ड दो शख्स अरेस्ट, बोली दिल्ली पुलिस- आतंकी साजिश में था हाथ

दोनों आरोपियों में से एक यूपी के इलाहाबाद निवासी जीशान कमर (28) और दिल्ली के जामिया नगर निवासी ओसामा उर्फ सामी (22) है।

Pakistan, ISI, Terror, Pak Army
विंग कमांडर अभिनंदन के साथ जैकेट पहने दिख रहे शख्स की पहचान हमजा के तौर पर हुई, जो पाकिस्तानी सेना का एक अधिकारी है।

दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ द्वारा आतंकवाद के आरोप में गिरफ्तार किए गए दो लोगों ने कथित तौर पर एक पाकिस्तानी सेना अधिकारी हमजा की पहचान उन लोगों में से एक के रूप में की है, जिनसे वे पाकिस्तान में प्रशिक्षण के दौरान मिले थे। दिल्ली की एक अदालत में दायर आरोपपत्र के अनुसार, उन लोगों को उस अधिकारी की एक तस्वीर दिखाई गई थी, जिसमें भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान भी थे, जिन्हें तीन साल पहले पाकिस्तान में कुछ समय के लिए हिरासत में लिया गया था।

आरोपपत्र में दावा किया गया है कि पाकिस्तानी “मेजर” दो आरोपियों, यूपी के इलाहाबाद निवासी जीशान कमर (28) और दिल्ली के जामिया नगर निवासी ओसामा उर्फ सामी (22) द्वारा पहचाने गए नौ लोगों में से एक था। चार्जशीट के अनुसार दोनों को कथित तौर पर पाकिस्तान की इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (ISI) द्वारा प्रशिक्षित किया गया था।

जांच अधिकारी एसीपी ललित मोहन नेगी ने चार्जशीट में कहा “दोनों नेे इस्लामाबाद में रहने वाला पीओके निवासी हमजा नाम के एक पाकिस्तानी अधिकारी की पहचान की है। जीशान और ओसामा ने जिस जब्बार से रावलपिंडी में प्रशिक्षण लिया था, वह उस प्रशिक्षण का मुखिया था। हमजा ने यह भी बताया कि वह विंग कमांडर अभिनंदन की गिरफ्तारी के समय भी मौजूद थे, जिन्हें बालाकोट हवाई हमले की जवाबी कार्रवाई के दौरान पाकिस्तान की सीमा पर पकड़ा गया था। वह पाक सेना में एक मेजर है।”

इस साल नौ फरवरी को दाखिल आरोपपत्र पर सोमवार को अदालत ने संज्ञान लिया। अभिनंदन को 27 फरवरी, 2019 को सीमा के दूसरी ओर पकड़ लिया गया था, जब पिछले दिन बालाकोट हवाई हमले के बाद एक हवाई झड़प के दौरान उनके फाइटर जेट को मार गिराया गया था। दो दिन बाद वह भारत लौट सके थे।

पिछले साल कमर और ओसामा उन पांच लोगों में शामिल थे, जिनकी पहचान स्पेशल सीपी (स्पेशल सेल) नीरज ठाकुर ने एक आतंकी साजिश में कथित भूमिका के लिए की थी। इन दोनों के अलावा ठाकुर ने कहा था कि स्पेशल सेल ने सितम्बर में महाराष्ट्र से जान मोहम्मद शेख (47), यूपी के रायबरेली से मूलचंद उर्फ साजू (47), यूपी के बहराइच से मोहम्मद अबू बकर (23) और लखनऊ से मोहम्मद आमिर जावेद (31) को गिरफ्तार किया था।

ठाकुर ने कहा, “दो आरोपियों, ओसामा और जीशान ने 2021 में पाकिस्तान में प्रशिक्षण प्राप्त किया और आईएसआई से निर्देश प्राप्त कर रहे थे। उन्हें आईईडी लगाने के लिए दिल्ली और उत्तर प्रदेश में उपयुक्त स्थानों की रेकी करने के लिए कहा गया था।”

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X