ताज़ा खबर
 

पीएम नरेन्द्र मोदी से बिना हाथ मिलाये ही आगे बढ़ गईं जर्मन चांसलर एंजेल मर्केल

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जर्मनी से स्पेन के लिए रवाना हो गये हैं।
पीएम मोदी ने हाथ आगे बढ़ाया लेकिन मर्केल आगे बढ़ गईं। (Source-TWITTER)

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इन 6 दिनों की विदेश यात्रा पर हैं। पीएम मोदी का पहला पड़ाव जर्मनी में है। जर्मनी में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने चांसलर  एंजेल मर्केल से मुलाकात की। दोनों नेताओं के बीच बहुत ही गर्मजोशी से बात हुई। पीएम मोदी ने बर्लिन में चांसलर मर्कल के साथ बातचीत की तस्वीरें भी ट्विटर पर साझा की। पीएम मोदी ने लिखा की चांसलर मर्केल के साथ अच्छी बातचीत हुई। लेकिन भारत के लोगों के बीच मंगलवार (30 मई) को चर्चा इस बात को लेकर हुई कि क्या जर्मनी की चांसलर  एंजेल मर्केल पीएम मोदी को संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान इग्नोर कर रही थीं। क्योंकि जब पीएम मोदी ने अपना हाथ आगे बढ़ाया तो मर्कल उनसे बिना हाथ मिलाये आगे चली गईं। इससे पहले 2015 में भी ऐसा ही वाकया दोनों नेताओं के बीच हो चुका है।

दरअसल संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पीएम मोदी  एंजेल मर्केल से हाथ मिलाने के लिए अपना हाथ बढ़ा रहे हैं। लेकिन  एंजेल मर्केल उनसे बिना हाथ मिलाये आगे बढ़ जा रही हैं। नीचे का वीडियो मंगलवार के प्रेस कॉन्फ्रेंस का है।

बता दें कि ऐसा ही वाकया अप्रैल 2015 में हुआ था, जब पीएम नरेन्द्र मोदी अपनी पहली आधिकारिक यात्रा पर जर्मनी गये थे। तब भी पीएम मोदी ने मर्केल से हाथ मिलाने के अपना हाथ बढ़ाया लेकिन मर्केल ने उस समय भी पीएम को इग्नोर कर दिया था। तब राजनीतिक हलकों में ये चर्चा हुई थी की क्या मर्केल पीएम मोदी को नजरअंदाज कर रही हैं। लेकिन मंगलवार (30 मई) को फिर से जर्मनी में वही वाकया दुहराया गया।

इस बीच पीएम मोदी अपनी जर्मनी की यात्रा समाप्त कर स्पेन के लिए रवाना हो गये हैं। पीएम ने ट्वीट किया है कि थैक्यू जर्मनी, मेरी इस यात्रा से दोनों देशों के बीच संबंधों की और भी मजबूती मिली है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. B
    bitterhoney
    May 30, 2017 at 11:57 pm
    यह हमारे प्रधान मंत्री का ही अपमान नहीं है बल्कि पूरे राष्ट्र का अपमान है. प्रधान मंत्री जी को तुरंत अपने सारे कार्यक्रम रद्द करके वापस भारत लौट आना चाहिए.
    (0)(0)
    Reply