प्रशांत किशोर के ट्वीट के बाद ट्विटर पर भिड़े टीएमसी और कांग्रेस नेता, बघेल ने ममता पर तंज किया

शुक्रवार को चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने लखीमपुर खीरी मामले को लेकर कांग्रेस के ऊपर निशाना साधा था। प्रशांत किशोर ने कांग्रेस को ग्रैंड ओल्ड पार्टी (GOP) बताते हुए ट्वीट किया था कि जो लोग इस उम्मीद में हैं कि लखीमपुर खीरी घटना के बाद कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्ष की तुरंत वापसी होगी, वो बहुत बड़ी गलतफहमी में हैं।

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के कांग्रेस पर निशाना साधने वाले ट्वीट पर जब छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने पलटवार किया तो ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस उनसे ट्विटर पर ही भिड़ गई। (फोटो: पीटीआई/ एक्सप्रेस फाइल)

शुक्रवार को चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए एक ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने कहा था कि कांग्रेस की जड़ों के में ही दिक्कत है। प्रशांत किशोर के इस ट्वीट पर कांग्रेस नेता व छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी पलटवार किया और बिना नाम लिए हुए तृणमूल कांग्रेस एवं ममता बनर्जी पर निशाना साधा। ममता बनर्जी पर निशाना साधने के बाद टीएमसी ट्विटर पर ही कांग्रेस नेता भूपेश बघेल से भिड़ गई।

दरअसल चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर के ट्वीट पर पलटवार करते हुए कांग्रेस नेता व छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बिना नाम लिए हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और टीएमसी पर निशाना साधा। भूपेश बघेल ने ट्वीट करते हुए लिखा कि जो लोग खुद भी अपनी सीट नहीं जीत सकते हैं और कांग्रेस के नेताओं को अपनी पार्टी में शामिल करा कर राष्ट्रीय विकल्प बनने की संभावनाएं देख रहे हैं उन्हें बड़ी निराशा हुई है। साथ ही उन्होंने यह भी लिखा कि दुर्भाग्य से एक राष्ट्रीय विकल्प बनने के लिए गहरे और ठोस प्रयासों की आवश्यकता होती है और इसका कोई त्वरित समाधान उपलब्ध नहीं है।

भूपेश बघेल के इस ट्वीट पर टीएमसी बौखला उठीं। तृणमूल कांग्रेस ने ट्वीट कर भूपेश बघेल के ऊपर पलटवार किया। तृणमूल कांग्रेस ने ट्वीट करते हुए लिखा कि पहली बार के मुख्यमंत्री से इतने वजनी शब्द आ रहे हैं। भूपेश बघेल आपको अपने वजन से ऊपर पंच करना शोभा नहीं देता है। यह आलाकमान को खुश करने की घटिया कोशिश है। वैसे भी क्या कांग्रेस एक और ट्विटर ट्रेंड के जरिए अमेठी में हुई ऐतिहासिक हार को मिटाने की कोशिश करने जा रही है?

गौरतलब है कि शुक्रवार को चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने लखीमपुर खीरी मामले को लेकर कांग्रेस के ऊपर निशाना साधा था। प्रशांत किशोर ने कांग्रेस को ग्रैंड ओल्ड पार्टी (GOP) बताते हुए ट्वीट किया था कि जो लोग इस उम्मीद में हैं कि लखीमपुर खीरी घटना के बाद कांग्रेस के नेतृत्व वाले विपक्ष की तुरंत वापसी होगी, वो बहुत बड़ी गलतफहमी में हैं। साथ ही उन्होंने ट्वीट में यह भी लिखा कि ग्रैंड ओल्ड पार्टी की जड़ों और संगठनात्मक कमजोरी का कोई त्वरित समाधान नहीं है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।