ताज़ा खबर
 

ट्विटर ने आईटी राज्यमंत्री राजीव चंद्रशेखर का ब्लू टिक हटाया

मोदी सरकार के नए इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर का अकाउंट अनवेरीफाई कर ब्लू टिक हटा दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मंत्री के अकाउंट का यूजरनेम या हैंडल बदलने की वजह से ऐसा किया गया है।

मोदी सरकार के नए इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर का अकाउंट अनवेरीफाई कर ब्लू टिक हटा दिया है। (screenshot)

माइक्रोब्‍लॉगिंग साइट ट्विटर और भारत सरकार के बीच तकरार लगातार जारी है। इसी बीच मोदी सरकार के नए इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर का अकाउंट अनवेरीफाई कर ब्लू टिक हटा दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मंत्री के अकाउंट का यूजरनेम या हैंडल बदलने की वजह से ऐसा किया गया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक राजीव चंद्रशेखर का यूजर नेम पहले Rajeev MP था। जिसे बाद में उन्होंने बदलकर Rajeev GOI कर दिया। इसके चलते ट्विटर ने उनका ब्लू टिक हटाया है। ट्विटर की वेरिफिकेशन पॉलिसी के मुताबिक नाम बदले जाने पर ब्लू टिक हटा दिया जाता है। इसके अलावा यदि खाता छह महीने की अवधि के लिए निष्क्रिय है तो भी ब्लू टिक हट सकता है। ट्विटर इंडिया ने कहा कि हम मंत्री के कार्यालय के संपर्क में हैं और ब्लू टिक को बहाल करने के लिए काम कर रहे हैं।

कार्यभार संभालने के बाद ट्विटर विवाद पर चंद्रशेखर ने कहा था कि मंत्रालय एकतरफा आधार पर काम नहीं करता है। उन्होंने नए आईटी नियमों पर सरकार के साथ ट्विटर के विवाद पर कहा, “मैंने अभी चार्ज लिया है। मंत्रालय एकतरफा आधार पर काम नहीं करता है और इसका व्यक्तिगत विचारों और विचारों से कोई लेना-देना नहीं है। मंत्रालय नए केंद्रीय मंत्री के साथ बैठकर इन सभी मुद्दों का समाधान करेगा।”

यह पहली बार नहीं है जब ट्विटर ने किसी नेता के अकाउंट से ब्लू टिक हटाया है। कुछ दिन पहले भारत के उपराष्ट्रपति एम. वैंकेया नायडू के अकाउंट से ब्लू टिक हटा दिया था। जिसे बाद में बहाल कर दिया गया था।

रविवार को ट्विटर ने विनय प्रकाश को भारत के लिए निवासी शिकायत अधिकारी नियुक्त किया है। भारत में नए सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) नियमों का अनुपालन करने में विफल रहने की वजह से ट्विटर लगातार विवादों के घेरे में थी। नए आईटी नियमों के तहत 50 लाख से अधिक प्रयोगकर्ताओं वाली सोशल मीडिया कंपनियों को को तीन महत्वपूर्ण नियुक्तियां….मुख्य अनुपालन अधिकारी, नोडल अधिकारी और शिकायत अधिकारी की नियुक्ति करने की जरूरत है। ये तीन अधिकारी भारत के निवासी होने चाहिए।

ट्विटर की वेबसाइट पर डाली गई सूचना के अनुसार विनय प्रकाश कंपनी के निवासी शिकायत अधिकारी (आरजीओ) हैं। प्रयोगकर्ता पेज पर दी गई वेबसाइट के जरिये उनसे संपर्क कर सकते हैं। इसमें आगे कहा गया है कि ट्विटर से इस पते….चौथी मंजिल, द एस्टेट, 121 डिकन्सन रोड, बेंगलूर-560042 पर संपर्क किया जा सकता है।

Next Stories
1 राहुल-कांग्रेस जब अमेठी, यूपी के न हुए, तो मेरे कहां होने वाले- हंसते हुए CM योगी का तंज
2 बीजेपी MP का नीतीश पर निशाना- अच्छे नहीं क़ानून-व्यवस्था के हालात, चिराग से भेंट बाद लालू की तेजस्वी को नसीहत- संभल कर करो सियासत
3 मुकुल रॉय भी चले गए…राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पद की कीमत नहीं कि कोई भी लफंगा आए तो उसे दे दो…बोले बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी
ये पढ़ा क्या?
X