ताज़ा खबर
 

प्रशांत भूषण को पीटने वाले तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने दिल्ली बीजेपी प्रवक्ता बनते ही डिलीट किए पुराने ट्वीट, कहा- मैंने मारा होता तो 6 साल में सबूत ढूंढ़ लेती पुलिस

तेजिंदर पाल सिंह बग्गा को भाजपा ने एमसीडी चुनाव से पहले प्रवक्ता बनाया है।

Author Updated: March 16, 2017 8:01 AM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ तेजिंदर पाल सिंह बग्‍गा। ( Photo Source: Facebook)

दिल्ली भाजपा के नए नियुक्त किए गए प्रवक्ता तेजिंदर पाल सिंह बग्गा ने अपने पुराने विवादित ट्वीट डिलीट कर दिए हैं। इसके साथ ही बग्गा का कहना है कि उन्होंने प्रशांत भूषण के साथ मारपीट नहीं की थी। बता दें, साल 2011 में बग्गा ने प्रशांत भूषण के साथ मारपीट की थी। बग्गा के दिल्ली भाजपा प्रवक्ता बनाए जाने पर प्रशांत भूषण ने लिखा है, ‘इसमें कोई अचंभे वाली बात नहीं है कि भाजपा ने बग्गा जैसे ठग को अपना प्रवक्ता चुना है। अमित शाह और मोदी जहां हर तरफ इन ठगों को बढ़ावा दे रहे हैं, उनसे इससे ज्यादा उम्मीद नहीं की जा सकती।’ बग्गा ने अक्टूबर 2011 में भूषण पर कथित तौर पर हमला कर दिया था। यह हमला उस वक्त किया था, जब भूषण ने कश्मीर में जनमत संग्रह कराए जाने का बयान दिया था। इस मामले में कोर्ट में अभी ट्रायल चल रहा है।

बग्गा उस वक्त भगत सिंह क्रांति सेना का सदस्य था। डॉक्यूमेंट्री सबूत होने के बावजूद बग्गा भूषण पर हमला करने की बात से इनकार करते हैं। बग्गा का कहना है, ‘इस मुद्दे पर टिप्पणी करना सही नहीं होगा, क्योंकि मामला अभी कोर्ट में है। लेकिन मैं आपको बता सकता हूं कि भूषण पर हमला करने वाला मैं नहीं था और मैं वहां पर मौजूद भी नहीं था। छह साल हो गए और क्या आपको लगता है कि अगर ऐसा होता तो छह साल में पुलिस मेरे खिलाफ सबूत नहीं ढूढ़ सकती।’ बग्गा ने कहा कि ज्यादातर ट्वीट्स मेरे समर्थन में हैं, आप टि्वटर पर जाइए और चेक कीजिए।’

यहां देखें, प्रशांत भूषण पर हमले का वीडियो-

बग्गा ने भूषण पर हमला करने के बाद ट्वीट किया था, ‘उसने मेरे देश को तोड़ने की कोशिश की, मैंने उसका सिर तोड़ने की कोशिश की।’ यह ट्वीट अभी डिलिट कर दिया गया है। बग्गा का कहना है, ‘मैंने ऐसा कोई ट्वीट नहीं किया।’ मई 2011 में बग्गा और तीन अन्य ने अरुंधति रॉय की किबात लॉन्चिंग के एक समारोह में बाधा डाली थी। बग्गा का कहना है, ‘उस दिन क्या हुआ था कि रॉय कश्मीर पाकिस्तान को दिए जाने की वकालत कर रही थीं। मैंने उन पर हमला नहीं किया। मैंने स्टेज पर पहुंचकर केवल मेरा विरोध दर्ज करवाया था।’

एमसीडी चुनाव से पहले प्रवक्ता बनाए गए इग्नू से आर्ट ग्रेजुएट बग्गा ने कहा कि अब राजधानी में ‘केजरीवाल मुक्त दिल्ली’ का कैम्पेन शुरू किया जाएगा। बग्गा का कहना है कि वह भाजपा के साथ तब से है, जब उसकी उम्र 18 साल थी। बग्गा का कहना है कि उन्होंने भगत सिंह क्रांति सेना की स्थापना इसलिए की थी, क्योंकि वह भाजपा का सदस्य रहते हुए कुछ चीजें नहीं कर पा रहे थे।

वीडियो- लालकृष्ण आडवाणी हो सकते हैं देश के अगले राष्ट्रपति; पीएम मोदी ने सुझाया नाम

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 विधानसभा चुनाव में जीत के बाद गदगद हुए बीजेपी सांसद, लोकसभा में पीएम के सामने लगाए जय श्री राम के नारे
2 यूएन में भारत ने कहा- आतंक की फैक्ट्री बना हुआ है पाकिस्तान, अल्पसंख्यकों पर भी ढा रहा है जुल्म
3 यूपी के नतीजों पर मनमोहन सरकार में अहम पद पर रहे नंदन नीलेकणि ने की नरेन्द्र मोदी की तारीफ