आप ने पेगासस पर पूछा सवाल तो बोलीं बीजेपी प्रवक्ता-केजरीवाल को थूक के चाटने की आदत, देखें

आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता ने पूछा “सरकार पेगासस मामले की जांच क्यों नहीं करा रही है। इतनी अहंकार में क्यों है। कोरोना के दौरान ऑक्सीजन की कमी से हजारों लोग की मौत हो गई और कहती है कि ऑक्सीजन से एक भी मौत नहीं हुई।”

PARLIAMENT, BOTH HOUSE ADJURNED, PM MODI, PEGASUS, OPPSITION STORMED, FARMER ISSUE, OIL PRICE HIKE
पेगासस जासूसी मामले में टीएमसी ने संसद परिसर में किया रोष प्रदर्शन (फोटोः स्क्रीनशॉट लोकसभा टीवी)

दिल्ली में बारिश के बीच बंगाल की सीएम ममता बनर्जी की कांग्रेस नेता सोनिया गांधी समेत कई नेताओं के साथ मुलाकात से गर्म हुई राजनीति को लेकर चर्चा-परिचर्चा जोरों पर है। इसकी वजह से केंद्र सरकार के खिलाफ विपक्षी एकजुटता की भी चर्चा है। इधर, पेगासस जासूसी को लेकर भी सभी दल सरकार पर जांच के लिए दबाव बनाए हुए हैं।

टीवी चैनल आजतक पर डिबेट में एंकर चित्रा त्रिपाठी के साथ आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता दीपक वाजपेयी ने भाजपा की प्रवक्ता नुपुर शर्मा से सवाल पूछा कि सरकार जांच क्यों नहीं करा रही है। सरकार अहंकार में क्यों डूबी है। कोरोना के दौरान ऑक्सीजन की कमी से हजारों लोग की मौत हो गई और सरकार कहती है कि ऑक्सीजन से एक भी मौत नहीं हुई। सरकार अपने मंत्रियों को बचाने के लिए पेगासस की जांच नहीं करा रही है। इस पर भाजपा की नेता नुपुर शर्मा ने कहा कि “जो इनका हाल है, वह देखिए, इनके सीएम खुद को दिल्ली का मालिक बनाते हैं और पीएम को अहंकारी कहते हैं। पीएम को गाली देते हैं। दुनिया भर में गाली गाते फिरते हैं। पहले आप अपना देखिए। आपके सीएम अरविंद केजरीवाल को थूक के चाटने की आदत है। वे पहले आरोप लगाते हैं और फिर चुपके से माफी मांग लेते हैं। ये इनकी पुरानी आदत है। दुनियाभर में झूठ फैलाते हैं।”

इससे पहले ममता बनर्जी ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी, दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की। गुरुवार को उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी में अपने दौरे के चौथे दिन केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी, द्रमुक नेता कनिमोझी और गीतकार जावेद अख्तर से मुलाकात की।

अख्तर से मुलाकात के दौरान बनर्जी ने अपने चुनावी नारे “खेला होबे” पर उनसे एक गीत लिखने का आग्रह किया। दोपहर में गडकरी से हुई मुलाकात में बनर्जी ने वैश्विक निवेशकों को आमंत्रित करने की कोशिश के तहत राज्य की अवसंरचनात्मक परियोजनाओं पर चर्चा की।

उन्होंने केंद्रीय मंत्री से कहा कि अच्छा होगा अगर पश्चिम बंगाल में इलेक्ट्रिक वाहन उत्पादन उद्योग स्थापित हो जाए। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि राज्य की सीमा बांग्लादेश, नेपाल, भूटान और पूर्वोत्तर राज्यों से लगती है इसलिए वहां अच्छी सड़कों की आवश्यकता है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट