ताज़ा खबर
 

गांवों में कोरोना के प्रसार पर बीजेपी का दावा- सरकार संजीदगी से काम कर रही, एंकर का पलटवार- शुतुरमुर्ग जैसा व्यवहार क्यों

कांग्रेस नेता गौरव वल्लभ ने कहा कि पीएम मोदी अब सामने नहीं आते हैं। वे अब रात आठ बजे राष्ट्र के नाम संबोधन नहीं करते हैं। क्योंकि उनके पास कोई जवाब नहीं है। वे अब नहीं बोलेंगे।

पोस्ट कोविड के बाद बच्चों में सामने आ रहे हैं ये लक्षण (फोटो क्रोडिट- पिक्साबे)

कोरोना महामारी में कई शहरों में हालात काफी खराब है तो कहीं थोड़ा सुधार है। कोरोना का प्रसार अब शहर के साथ-साथ गांवों की ओर भी हो रहा है। इससे लोगों को बचाव के लिए सतर्कता बरतनी होगी। अब गांवों के लोगों का भी अस्पतालों में भीड़ जुटने लगी है। इसके आंकड़े को लेकर भी राजनीति शुरू हो गई है। विपक्ष का दावा है कि गांव तक सरकारी सुविधाएं नहीं पहुंच रही हैं, वहीं गांवों में कोरोना के प्रसार को लेकर सत्ताधारी भाजपा का दावा है कि सरकार संजीदगी से काम कर रही है।

इस मामले को लेकर टीवी चैनल न्यूज-24 पर एंकर संदीप चौधरी ने पूछा तो भाजपा के प्रवक्ता अपराजिता सारंगी ने कहा कि सरकार की कोशिशों में कोई कमी नहीं हैं। सरकार अपने संसाधन और सिस्टम से पूरे देश में हर कोशिश कर रही है कि सभी का इलाज हो सके। इस पर एंकर संदीप चौधरी ने कहा कि शुतुरमुर्ग जैसा व्यवहार क्यों करते हैं। इस पर उन्होंने कहा कि कुछ दिक्कतें हैं, लेकिन सरकार अपने स्तर पर सब कुछ सही करने में लगी है। कहा कि कोरोना की दूसरी लहर आने की आशंका जताई गई थी, लेकिन यह इतनी भयानक होगी, यह किसी को पता नहीं था। कहा कि हम किसी को धोखा देंगे तो वह खुद को धोखा होगा।

दूसरी तरफ कांग्रेस के गौरव वल्लभ ने कहा कि सरकार झूठ बोलती है। सरकार यह नहीं बता सकती है कि पिछले एक सप्ताह में गांवों में कितनी टेस्टिंग बढ़ाई गई, एक महीने में कितनी टेस्टिंग बढ़ाई गई है। सरकार कहती है कि केवल पॉजिटिव बातें करेंगे। वे अपने प्रवक्ता को केवल पॉजिटिव बातें करने के लिए ट्रेनिंग देते हैं।

गौरव वल्लभ ने कहा कि पीएम मोदी अब सामने नहीं आते हैं। वे अब रात आठ बजे राष्ट्र के नाम संबोधन नहीं करते हैं। क्योंकि उनके पास कोई जवाब नहीं है। वे अब नहीं बोलेंगे। देश को केवल अब वैक्सीनेशन से ही बचाया जा सकता है। लेकिन वह हो ही नहीं रहा है। सरकार के पास इसका कोई जवाब नहीं है।

उन्होंने कहा कि टेस्टिंग की दर लगातार गिर रही है और वैक्सीनेशन भी कम हो रही है। इसके कारण लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसा लगता है कि सरकार को इन बातों से कोई लेना देना नहीं है।

Next Stories
1 अमेरिकी संस्था की रिपोर्ट में दावा- मेडिकल सुविधाओं के मामले में पुणे अव्वल, दिल्ली-एनसीआर सबसे निचले पायदान पर
2 आप विधायक ने कहा- भारत बायोटेक केंद्र के कहने पर दिल्ली को वैक्सीन देने से कर रहा इनकार, संबित दिखाने लगे कागज
3 फारुक, हेमंत सोरेन समेत विपक्ष के 12 नेताओं ने लिखा पीएम मोदी को पत्र, कोरोना से लड़ाई के लिए सुझाए ये उपाय
यह पढ़ा क्या?
X