ताज़ा खबर
 

तारिक फतेह पर भड़के आशुतोष, बोले- मैं इनको बुद्धिजीवी नहीं मानता, देखिए एंकर ने किस तरह से दिया जवाब

मशहूर लेखक तारिक फतेह अली ने कहा कि 26 जैन मंदिरों को तोड़कर कुतुब मीनार बना दिया और उसको आप सेलिब्रेट कर रहे हैं। ये कैसी बातें हैं। हिंदुस्तानियों को मुगल नाम से ही बचना चाहिए। वे तो लुटेरे थे।

tajmahal, mahashivratriताजमहल के बाहर पहरा देता जवान। फोटो- पीटीआई

यूपी की योगी सरकार के एक फैसले को लेकर फिर मुगलकालीन इतिहास पर बहस छिड़ गई है। योगी सरकार ने ताजमहल के निर्माणाधीन म्यूजियम का नाम शिवाजी के नाम पर करने का फैसला किया है, जबकि 2016 में तब की अखिलेश सरकार ने इस पर काम शुरू करवाया था तब इस म्यूजियम का नाम मुगल म्यूजियम रखने का फैसला हुआ था।

टीवी चैनल आज तक पर एंकर रोहित सरदाना ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ की दलील है कि गुलामी की मानसिकता के प्रतीकों की कोई जगह नहीं है। ऐसे में सवाल है कि क्या योगी आदित्यनाथ मुगलकालीन चीजों को गुलामी की मानसिकता मानते हैं और उनका नाम बदलेंगे? और अगर नाम बदलेगा तो क्या इतिहास बदल जाएगा? उन्होंने मशहूर लेखक तारिक फतेह अली से पूछा कि क्या हिंदुस्तान का इतिहास बदलने जा रहा है। क्या मुगलों के नाम को हटाने से गुलामी की मानसिकता खत्म हो जाएगी। इस पर तारिक फतेह अली ने कहा कि गुलामी की प्रतीकों को हटाने का यह पहला कदम होगा। दिल्ली में लोधी गार्डन का भी नाम हटना चाहिए। बाबर न तो यहां पैदा हुआ और न ही यहां मरा। हजारों हिंदुस्तानियों का कतल किया। ये हीरो कैसे हो सकते हैं।

उन्होंने कहा कि 26 जैन मंदिरों को तोड़कर कुतुब मीनार बना दिया और उसको आप सेलिब्रेट कर रहे हैं। ये कैसी बातें हैं। हिंदुस्तानियों को मुगल नाम से ही बचना चाहिए। वे तो लुटेरे थे। आजादी के 70 साल हो गए और आप अब भी उनको सेलिब्रेट कर रहे हैं। कहा कि दुनिया में कोई ऐसा मुल्क नहीं है जो अपने को गुलाम बनाने वाले को अपने साथ जोड़ा हुआ है।

उनकी बात पर वरिष्ठ पत्रकार आशुतोष ने कहा कि मुझे लगता है कि अगर आप गुलामी के प्रतीकों को हटाते हैं तो ताज महल को भी तोड़ देना चाहिए। लाल किला को भी तोड़ देना चाहिए। कहा कि तारिक फतेह को भी अपना नाम बदल देना चाहिए। इस दौरान तारिक फतेह ने कहा कि मेरा नाम तारक है। यह संस्कृत से है। इस पर आशुतोष ने कहा कि मै आपको बुद्धिजीवी नहीं मानता हूं। कहा कि ये वे लोग हैं जो देश के टुकड़े करने की बात करते हैं।

एंकर रोहित सरदाना ने कहा आप इन्हें नहीं मानते तो न मानिए, लेकिन आप इतना उत्तेजित क्यों हो रहे है? आप कौन सा राष्ट्रवादी बातें कर रहे हैं।

भाजपा प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने कहा कि ताज महल, लाल किला को बनाने वाले इंजीनियर हमारे, वास्तुविद हमारे, कारीगर हमारे, सिर्फ हुकूमत उनकी है तो यह उनकी हो गई।

Next Stories
1 बीजेपी प्रवक्ता ने ममता की चिट्ठी पर कसा तंज तो बोले आचार्य प्रमोद- कौरवों ने चीरहण किया तो द्रोपदी ऐसे ही चीखी थी
2 संबित पात्रा ने सोनिया की देशभक्ति पर उठाया सवाल, कांग्रेस प्रवक्ता ने लगाई फटकार, बोलीं- बात करने की भी तमीज नहीं
3 जब बाला साहेब से एंकर ने पूछा, उद्धव ने आपको बचाने के लिए सीएम को किया था फोन, मिला जवाब
ये पढ़ा क्या?
X