ताज़ा खबर
 

पंचायत चुनाव में हार पर एंकर ने कसा तंज तो बीजेपी नेता गिनाने लगे पहले की उपलब्धियां, बोले अनुराग- जनता ने चटा दी धूल

पंचायत चुनाव में गौतम बुद्ध नगर की 88 सीटों में से 40 पर महिलाओं ने जीत हासिल कर इतिहास रच दिया है। जिले में महिलाओं के लिए 30 फ़ीसदी पद आरक्षित था लेकिन महिलाओं ने 44 फीसदी ग्राम पंचायतों पर कब्जा किया है।

उत्तर प्रदेश में हाल ही में संपन्न हुए पंचायत चुनाव के नतीजे सत्ताधारी भाजपा के लिए उसकी उम्मीदों के मुताबिक नहीं आए हैं। दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी के विजयी प्रत्याशियों की संख्या में इजाफा हुआ है। इसको लेकर राजनीतिक बहस जारी है। कुछ लोग इसे कोविड संकट के दौरान भाजपा की लापरवाही का परिणाम बता रहे हैं तो कुछ लोग दूसरे तर्क दे रहे हैं।

टीवी चैनल आजतक के दंगल कार्यक्रम में एंकर चित्रा त्रिपाठी ने पूछा कि क्या पंचायत चुनाव में जनता ने भाजपा को नकार दिया। इस पर भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कहा कि भाजपा ने सीटें कम जरूर पाई हैं, लेकिन इतना भी कम नहीं है कि उसे नकार देना कहा जाए। साथ ही काफी संख्या में निर्दलीय उम्मीदवार भी जीते हैं, उनमें से काफी लोग भाजपा से ही जुड़े हैं। एंकर के यह कहने पर कि पहले की तुलना में आपकी सीटें काफी कम हैं तो गौरव भाटिया ने कहा आसाम और पुडुचेरी में अपनी सरकार बनने तथा पुरानी उपलब्धियां गिनाने लगे।

दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने कहा कि जनता ने भाजपा को हराया नहीं, बल्कि धूल चटा दिया है। साथ ही उन्होंने यह भी दावा किया कि समाजवादी पार्टी से जो लोग टिकट नहीं पाए, वे निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में उतरे थे। यानी जो निर्दलीय जीते हैं, वह असल में समाजवादी पार्टी के ही लोग है। इसको लेकर दोनों दलों के प्रवक्ताओं ने अपने-अपने दावे-प्रतिदावे करते रहे।

उधर, पंचायत चुनाव में गौतम बुद्ध नगर की 88 सीटों में से 40 पर महिलाओं ने जीत हासिल कर इतिहास रच दिया है। दो दिन पूर्व हुए ग्राम पंचायत चुनाव में गौतम बुद्ध नगर में महिलाओं के लिए 30 फ़ीसदी ग्राम पंचायतों में पद आरक्षित था लेकिन महिलाओं ने 44 फीसदी ग्राम पंचायतों पर कब्जा किया है।

जिले की करीब आधी पंचायतों में महिलाएं ग्राम प्रधान निर्वाचित हुई हैं। इनमें से 15 ग्राम प्रधान वे महिलाएं हैं जिनके प्रतिद्ंवद्वी पुरुष थे। सबसे ज्यादा दादरी विकासखंड में 17 महिलाएं ग्राम प्रधान बनी हैं। बिसरख में 12 महिलाएं ग्राम प्रधान का चुनाव जीती हैं, जबकि जेवर क्षेत्र में 11 पंचायतों में महिलाओं ने अपना परचम लहराया है।

जिला सूचना अधिकारी राकेश चौहान ने मंगलवार को गौतम बुद्ध नगर की 88 विजयी ग्राम पंचायत प्रधानों की सूची जारी की। बिसरख प्रखंड में ग्राम पंचायतों की संख्या 24 है। 30 फीसदी आरक्षण की बदौलत आठ ग्राम पंचायतों में प्रधान पद महिलाओं के लिए आरक्षित थे। इन आठ ग्राम पंचायतों के अलावा बिसरख में चार ऐसी ग्राम पंचायतें हैं जहां महिलाओं ने पुरुषों को हराकर प्रधान पदों पर कब्जा किया।

दादरी प्रखंड में 30 ग्राम पंचायतें हैं जिनमें से 17 ग्राम पंचायतों पर महिलाओं का राज चलेगा। जिले के जेवर विकासखंड में सबसे ज्यादा 34 ग्राम पंचायत हैं। लेकिन दादरी और बिसरख की तुलना में यहां महिला ग्राम प्रधानों की संख्या कम रह गई है। जेवर में 11 ग्राम पंचायतें महिलाओं के लिए आरक्षित थी।

Next Stories
1 जज उपलब्ध नहीं हैं, बेंच उपलब्ध होगी तो देखेंगे: COVID के चलते सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट रोकने की याचिका पर सीजेआई ने कहा
2 स्वामी ने कहा- कोरोना की तीसरी लहर होगी ज्यादा भयावह, गडकरी को कमान सौंपे मोदी, पीएमओ को बताया यूजलेस
3 बंगाल हिंसा पर ममता बनर्जी का पलटवार, बोलीं- जहां भाजपा जीती वहीं हो रही हिंसा, फैला रहे हैं फेक वीडियो
ये  पढ़ा क्या?
X