त्रिपुराः तृणमूल सांसद सुष्मिता देव पर हमला, कार में की तोड़फोड़, ममता की पार्टी ने बीजेपी पर मढ़ा आरोप

बताया जा रहा है कि घायल लोग सुष्मिता देव की पार्टी को राजनीतिक अभियानों में मदद करने वाली एक निजी फर्म के कर्मचारी हैं।

Sushmita Dev
तृणमूल कांग्रेस सांसद सुष्मिता देव की कार पर हमला हुआ है और कुछ लोगों ने इसमें तोड़फोड़ की है। (फोटो- Twitter/ @AITC4Tripura)

त्रिपुरा में शुक्रवार को तृणमूल कांग्रेस सांसद सुष्मिता देव की कार पर हमला हुआ है और कुछ लोगों ने इसमें तोड़फोड़ की है। इस दौरान कुछ लोग घायल भी हुए हैं।

बताया जा रहा है कि घायल लोग सुष्मिता देव की पार्टी को राजनीतिक अभियानों में मदद करने वाली एक निजी फर्म के कर्मचारी हैं। देव ने इस हमले के पीछे बीजेपी का हाथ होने का आरोप लगाया है।

टीएमसी सांसद सुष्मिता देव ने कहा कि कार्यक्रम के दौरान कुछ गुंडों ने हमारी कारों पर हमला किया, उन्होंने हमारे कार्यकर्ताओं को पीटा। यह स्पष्ट है कि भाजपा ‘भारतीय गुंडा पार्टी’ है। सीएम बिप्लब देब उन्हें सुरक्षा दे रहे हैं। हमलावरों ने मुंह नहीं ढका था।

इस बारे में अम्ताली पुलिस स्टेशन के ऑफीसर इंचार्ज सिद्धार्थ कर ने बताया कि दोपहर करीब 1.30 बजे हमें जानकारी मिली कि 2 कारों पर अज्ञात लोगों ने हमला किया है। हमारे 4 अधिकारी फौरन वहां पहुंचे और टीएमसी कार्यकर्ताओं को रेस्क्यू किया। उन्होंने शिकायत दर्ज कराई है। हम मामले की जांच करेंगे।

बता दें कि तृणमूल कांग्रेस त्रिपुरा में आगामी नगर निकाय चुनाव लड़ने वाली है। सुष्मिता देव ने बृहस्पतिवार को ही ये घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि चुनाव की घोषणा हो जाने के बाद पार्टी आखिरी रणनीति तय करेगी। हम नगर निकाय चुनाव की तैयारी कर रहे हैं।

देव ने ये भी कहा था कि राज्य के लोगों तक पहुंचने के लिए पार्टी शुक्रवार को ‘त्रिपुरार जोन्नो तृणमूल’ (त्रिपुरा के लिए तृणमूल) अभियान चलाएगी। ये अभियान सफल हो पाता, उससे पहले ही खबर आ गई कि देव की कार पर हमला हुआ है।

इसके बाद से सियासी गलियारों में हंगामा मचा हुआ है और आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। तृणमूल कांग्रेस इस हमले के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहरा रही है, लेकिन बीजेपी की तरफ से अभी कोई सफाई नहीं आई है।

मिली जानकारी के मुताबिक, जिस वक्त ये हमला हुआ, उस वक्त सुष्मिता देव इंडियन पॉलिटिकल ऐक्शन कमिटी (आईपैक) के कर्मचारियों के साथ थीं। इस हमले में उन्हें चोट नहीं आई है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
जम्मू-कश्मीर: घट रहा बाढ़ का पानी, लाखों लोग को अब भी मदद की दरकार