ताज़ा खबर
 

त्रिपुरा: बीएसएफ जवान ने तीन साथियों को गोली मारी, फिर कर ली खुदकुशी

घटना की सूचना मिलते ही बीएसएफ के शीर्ष अधिकारी मौके पर पहुंच चुके हैं और घटना की जांच में जुट गए हैं। माना जा रहा है कि इस घटना के पीछे जवानों के बीच का कोई निजी विवाद हो सकता है।

बीएसएफ जवान ने अपने 3 साथियों को मारी गोली। (express photo/representational image)

त्रिपुरा में बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (बीएसएफ) के एक जवान ने 3 अन्य साथी जवानों की गोली मारकर हत्या कर दी, बाद में आरोपी जवान ने भी खुदकुशी कर ली। खबर के अनुसार, बीएसएफ की 55वीं बटालियन में तैनात जवान शिशुपाल की तैनाती त्रिपुरा के उनाकोटी जिले के मगरुली बॉर्डर पर थी। शनिवार की देर रात करीब 1 बजे पहले शिशुपाल ने एक हेड कॉन्सटेबल रिंकू कुमार को गोली मारी। इसके बाद शिशुपाल ने दो अन्य जवानों पर भी गोली चला दी। गोली लगते ही हेड कॉन्सटेबल की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि 2 अन्य जवानों ने उनाकोटी के जिला अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ा। तीनों जवानों को गोली मारने के बाद शिशुपाल ने खुद को भी गोली मारकर खुदकुशी कर ली। बता दें कि शिशुपाल जम्मू कश्मीर का रहने वाला था।

घटना की सूचना मिलते ही बीएसएफ के शीर्ष अधिकारी मौके पर पहुंच चुके हैं और घटना की जांच में जुट गए हैं। माना जा रहा है कि इस घटना के पीछे जवानों के बीच का कोई निजी विवाद हो सकता है। बता दें कि सुरक्षाबलों में इस तरह की कई घटनाएं हो चुकी हैं। बीते साल दिसंबर माह में भी सीआरपीएफ के एक जवान ने छत्तीसगढ़ में तैनाती के दौरान अपनी राइफल से 4 जवानों की गोली मारकर हत्या कर दी थी। आरोपी जवान को भी इस दौरान छाती में गोली लगी थी। दरअसल जवान ने किसी बात पर बहस होने के बाद यह कदम उठाया था। यह घटना छत्तीसगढ़ के बासगुडा सीआरपीएफ कैंप में घटी। आरोपी जवान उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद का निवासी है और छुट्टियां नहीं मिलने से नाराज था।

बिहार के दानापुर कैंट एरिया में भी इस तरह की घटना सामने आयी थी, जब संतोष सिंह नामक जवान ने अपने साथी रिंकेश कुमार को गोली मार दी थी और बाद में खुदकुशी कर ली थी। इस घटना का कारण पता नहीं चल सका था। सुरक्षाबलों में तनाव इस समस्या का सबसे बड़ा कारण है, जिसके चलते जवान अपने साथी जवानों पर भी गोली चलाने से नहीं हिचकते।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App