ताज़ा खबर
 

तीन तलाक मजहबी मुद्दा नहीं, शरीयत में नहीं है मान्यता- वेंकैया नायडू

वेंकैया नायडू ने कहा कि, मुस्लिम महिलाओं के साथ ये भेद क्यों, इसे तुरंत खत्म किया जाना चाहिए और इसका राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए।

इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

देश में तीन तलाक पर चल रही जोरदार बहस के बीच केन्द्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा है कि ये मुद्दा मजहब से जुड़ा नहीं है। रविवार (30 अप्रैल) को सूचना प्रसारण मंत्री  वेंकैया नायडू ने हैदराबाद में कहा कि तीन तलाक को शरीयत में मंजूरी दी ही नहीं गई है इसलिए ये इस्लाम से जुड़ा मुद्दा नहीं है। वेंकैया नायडू ने इस पर मुद्दे पर कांग्रेस पर भी हमला किया और कहा कि कांग्रेस कई सालों से मुद्दे पर ‘चुप्पी’ साधे रही और इस मुद्दे को अटकाकर राजनीतिक फायदा लेती रही। वेंकैया नायडू ने कहा, ‘यह मुद्दा दूसरी महिलाओं के साथ साथ मुस्लिम औरतों के समानता के अधिकार और सम्मानपूर्वक जिंदगी गुजारने के हक के साथ जुड़ा है।’ वेंकैया नायडू ने कहा कि, मुस्लिम महिलाओं के साथ ये भेद क्यों, इसे तुरंत खत्म किया जाना चाहिए और इसका राजनीतिकरण नहीं किया जाना चाहिए।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर तीन तलाक का राजनीतिकरण करने के कांग्रेस के आरोपों पर वेंकैया नायडू ने कहा कि, पीएम ने जो कहा उसका मतलब ये था कि मुस्लिम समाज को इस मुद्दे पर सोचना चाहिए। बता दें कि कांग्रेस नेता गुलमा नबी आजाद और मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा था कि पीएम इस मुद्दे पर सियासत कर रहे हैं। वेंकैया ने कहा, ‘कांग्रेस खुद को मुसलमानों का मसीहा कहती है, लेकिन उन्हें मुस्लिम महिलाओं की चिंता नहीं है, ये धर्म के आधार पर महिलाओं के साथ भेदभाव और असमानता बरतने का मामला है।’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस इस मुद्दे पर कई सालों तक चुप रही, उन्हें देश को जवाब देना चाहिए।

वेंकैया नायडू के मुताबिक विपक्ष हर मसले पर एक रोड़ा अटकाने वाले की भूमिका निभा रहा है। केन्द्रीय मंत्री के मुताबिक कुछ नेता सरकार के हर मुद्दे पर कुप्रचार अभियान में लगे हुए हैं। नायडू ने विपक्ष को सलाह दी कि विपक्ष को एक वैकल्पिक एजेंडा लेकर देश के सामने आना चाहिए, विपक्ष का मौजूदा एजेंडा विध्वसंक और नकारात्मक है। वेंकैया नायडू ने कहा कि अभी देश के राजनीतिक नेतृत्व के सामने न्यू इंडिया का निर्माण करना एक चुनौती है, यह न्यू इंडिया देश के सभी वर्गों खासकर गरीबों और युवाओं की महात्वाकांक्षाओं को पूरा करने में सफल होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App