ताज़ा खबर
 

तीन तलाक: कांग्रेसी सांसद के विवादित बोल- श्रीराम ने भी तो शक होने पर सीताजी को छोड़ दिया था

तीन तलाक बिल को पास कराने के लिए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रणनीति बनाने के लिए संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार और कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद के साथ एक बैठक की है।

कांग्रेस के राज्य सभा सांसद हुसैन दलवई ने तीन तलाक पर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि हिन्दुओं के आराध्यदेव भगवान श्रीराम ने भी तो शक के आधार पर अपनी पत्नी सीताजी को छोड़ दिया था। (फोटो-ANI)

कांग्रेस के राज्य सभा सांसद हुसैन दलवई ने तीन तलाक पर विवादित बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि हिन्दुओं के आराध्यदेव भगवान श्रीराम ने भी तो शक के आधार पर अपनी पत्नी सीताजी को छोड़ दिया था। ऐसे में सिर्फ इस्लाम धर्म पर ही सवाल क्यों उठाया जा रहा है? दलवई के इस बयान पर विवाद पैदा हो गया है। महाराष्ट्र से संबंध रखने वाले कांग्रेसी सांसद ने कहा, “महिलाओं के साथ सभी समुदायों में गलत व्यवहार किया जाता है.. न केवल मुस्लिम बल्कि हिंदू, ईसाई, सिख आदि में भी ऐसा होता है। हर समाज में पुरुषों का वर्चस्व है। यहां तक कि श्रीराम ने भी संदेह के चलते सीता जी को छोड़ दिया था। इसलिए हमें पूरी तरह से बदलने की जरूरत है।” दलवई के इस बायन की बीजेपी नेताओं ने निंदा की है। 75 वर्षीय सांसद का यह बयान तब आया है जब कई संशोधनों के साथ तीन तलाक निषेध बिल राज्यसभा में आज (10 अगस्त) पेश होने वाला है। बता दें कि मानसून सत्र का आज आखिरी दिन है। तीन तलाक बिल के अलावा कई अन्य बिल भी आज संसद में पेश होने हैं।

इससे पहले गुरुवार (09 अगस्त) को ही केंद्रीय कैबिनेट में तीन तलाक बिल में कई संशोधनों पर मुहर लगाई। अब आरोपी को मजिस्ट्रेट जमानत दे सकता है। इसके अलावा तीन तलाक की पीड़ित, उसके परिजन या खून के रिश्तेदार भी इसकी शिकायत करा सकेंगे। संशोधित बिल में तीन तलाक की पीड़ितों को मुआवजे का भी प्रावधान किया गया है। बजट सत्र में तीन तलाक बिल लोकसभा से तो पास हो गया था लेकिन राज्यसभा ने इसे प्रवर समिति के पास भेजने की सिफारिश की थी और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने बिल में कुछ संशोधनों की मांग की थी। अब उम्मीद जताई जा रही है कि संशोधित बिल राज्यसभा से पास हो सकता है। हालांकि, कांग्रेस का आरोप है कि सरकार ने इस विषय पर कोई सलाह-मशविरा नहीं किया। इसलिए संसद में हंगामा होने के भी आसार हैं।

इधर, तीन तलाक बिल को पास कराने के लिए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रणनीति बनाने के लिए संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार और कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद के साथ एक बैठक की है। बैठक में गृह मंत्री राजनाथ सिंह और अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी भी मौजूद थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App