ताज़ा खबर
 

तनातनी के बीच आज विश्वास मत

मुंबई/ नई दिल्ली। शिवसेना के साथ तनातनी के बीच महाराष्ट्र में 13 दिन पुरानी देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार कल विश्वास मत प्रस्ताव पेश करेगी जिसमें राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) की मदद से जीत मिलने की संभावना है। दिल्ली में भाजपा ने संकेत दिया है कि समर्थन को लेकर उसे राकांपा से परहेज […]

आरक्षण खत्म करने का दावा करने वाले फडणवीस अब आरक्षण के पक्ष में

मुंबई/ नई दिल्ली। शिवसेना के साथ तनातनी के बीच महाराष्ट्र में 13 दिन पुरानी देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार कल विश्वास मत प्रस्ताव पेश करेगी जिसमें राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) की मदद से जीत मिलने की संभावना है। दिल्ली में भाजपा ने संकेत दिया है कि समर्थन को लेकर उसे राकांपा से परहेज नहीं है। भाजपा के वरिष्ठ नेता राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि पार्टी गड़बड़ियों की जिम्मेदार कांग्रेस को छोड़ कर, सभी दलों से समर्थन पाने का स्वागत करेगी जिससे सरकार महाराष्ट्र के विकास के लिए काम कर सके और जनता की उम्मीदों को पूरा कर सके। महाराष्ट्र विधानसभा के चुनाव होने तक राज्य के पार्टी प्रभारी रहे रूडी की इस टिप्पणी से साफ संकेत मिलता है कि भाजपा राकांपा सहित गैर कांग्रेस दलों का समर्थन पाने के खिलाफ नहीं है।

कभी एक दूसरे की साथी रही भाजपा और शिवसेना ने विश्वास मत प्रस्ताव पर मतदान से पहले ही एक दूसरे के खिलाफ तलवारें खींच ली हैं और उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए अपने उम्मीदवार खड़े कर दिए। इनके अलावा कांग्रेस ने भी अपना उम्मीदवारा उतारा है।

भाजपा के बाद दूसरी सबसे बड़ी पार्टी शिवसेना ने कल विपक्ष के नेता पद के लिए अपना दावा पेश किया था, हालांकि उसने अभी तक यह साफ नहीं किया है कि सदन में विश्वास मत प्रस्ताव पर मतदान के दौरान उसका क्या रुख होगा।

शिवसेना के मुख्यालय में पार्टी के विधायकों की बैठक हुई। पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे ने सोमवार रात विरोधाभासी संकेत देते हुए कहा कि भाजपा जब भी आगे आएगी तो वह सरकार में भागीदारी को लेकर उसके साथ सुलह करने संबंधी बातचीत को तैयार है।

कांग्रेस विधायक दल के नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल ने कहा कि वर्षा गायकवाड़ ने पवार का आह्वान किया है कि वह अपनी पार्टी का समर्थन दें जिस पर राकांपा प्रमुख ने उनसे कहा कि उनकी पार्टी चर्चा के बाद फैसला करेगी। गायकवाड़ ने स्पीकर के लिए परचा भरा है। महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष माणिक राव ठाकरे ने कहा कि उन्होंने अपने राकांपा के समकक्ष सुनील तटकरे से बात की और वर्षा के लिए समर्थन मांगा है। उन्होंने कहा, ‘राकांपा ने कहा है कि वह विपक्ष की भूमिका निभाएगी। वे विश्वास मत में सरकार का सहयोग कर सकते हैं लेकिन हम विधानसभा अध्यक्ष के चुनाव में उनसे सहयोग की उम्मीद कर सकते हैं।’

उधर, दिल्ली में भाजपा के वरिष्ठ नेता राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि महाराष्ट्र के विकास के लिए जो आगे आना चाहते हैं उनका स्वागत है। मुझे उम्मीद है कि शिव सेना साथ आएगी। शरद पवार के नेतृत्व वाली राकांपा के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि वह पार्टी पहले ही बिना शर्त समर्थन दे चुकी है।
इस सवाल पर कि क्या केंद्रीय मंत्री अनंत गीते नरेंद्र मोदी मंत्रिपरिषद से इस्तीफा दे देंगे और शिव सेना महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष में बैठेगी, रूडी ने कहा कि उन्हें गीते के इस्तीफे के बारे में जानकारी नहीं है। चुनाव से पहले भी हम शिव सेना को साथ लेकर चलना चाहते थे और अब चुनाव के बाद भी उसे सरकार के हिस्से के रूप में देखना चाहते हैं।

शिवसेना के विरोधाभासी बयानों के बीच रूडी की यह टिप्पणी महत्त्वपूर्ण मानी जा रही है। शिव सेना एक ओर कह रही है कि वह विधानसभा में विपक्ष में बैठेगी और दूसरी ओर मेल-मिलाप की वार्ता के लिए भी राजी दिख रही है। मुख्तार अब्बास नकवी के साथ संसदीय कार्य राज्य मंत्री का पदभार संभालने के अवसर पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान रूडी ने ये बात कही।

शिव सेना ने सोमवार को महाराष्ट्र विधानसभा के सचिव को पत्र लिख कर उनसे आग्रह किया था कि उसके विधायक दल के नेता एकनाथ शिंदे को सदन में विपक्ष के नेता का दर्जा दिया जाए। इससे एक दिन पहले शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने भाजपा से यह स्पष्ट करने को कहा था कि विश्वास मत हासिल करने में क्या वह राकांपा का समर्थन लेगी।

विधानसभा सचिव को पत्र लिखने के कुछ ही घंटों के अंदर उद्धव ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष के दर्जे का दावा इसलिए किया गया था कि कांग्रेस इस बिना पर इस पद पर दावा कर रही थी कि शिव सेना भाजपा नीत राजग सरकार का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस की चाल सफल हो जाती तो हम कहीं के नहीं रहते।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App