ताज़ा खबर
 

असम और भारत-बांग्लादेश सीमावर्ती इलाके में महसूस किया गया 5.5 तीव्रता का भूकंप

अभी तक भूकंप से किसी भी तरह की जान-माल की हानि की खबर नहीं आयी है।

तस्वीर को प्रतीक के तौर पर इस्तेमाल किया गया है।

यूनाइटेड स्टेट जियोलॉजिकल सर्वे (यूएसजीएस) के अनुसार असम और भारत-बांग्लादेश सीमावर्ती इलाके में मंगलवार (तीन जनवरी) को 5.5 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए। अभी तक भूकंप में किसी तरह के जान और माल के नुकसान की खबर नहीं है। वहीं शिलॉन्ग स्थित सेंट्रल सिस्मोलॉजिक ऑब्जरवेटरी (सीएसओ) के अनुसार रिक्टर पैमाने पर भूकंप की तीव्रता 5.7 मैग्नीट्यूड रही। भूकंप के झटके करीब पांच-छह सेकेंड तक महसूस किए गए। स्थानीय समय के अनुसार मंगवार दोपहर 2.39 बजे ये झटके महसूस किए गए। अनुमान है कि भूकंप का केंद्र त्रिपुरा के धलाई में था।

भूकंप का केंद्र मिजोरम सीमा के नजदीक था। भूकंप के झटके बांग्लादेश के चटगांव पहाड़ी इलाके में भी महसूस किए गए। सीएसओ के एक अधिकारी ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि अभी त भूकंप के केंद्र का सटीक अाकलन नहीं किया जा सका है। भूकंप के झटके पूर्वोत्तर भारत के त्रिपुरा की राजधानी अगरतला समेत मेघालय, मणिपुर, मिजोरम और दक्षिणी असम तक महसूस किए गए।

भूकंप के झटके महसूस होने के बाद बहुत सारे लोग अपने घरों और दुकान इत्यादि से भागकर खुले जगह पर आ गए। अगरतला निवासी प्रदीप मल्लिक ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, “मैंने इससे तेज भूकंप आज तक नहीं महसूस किया था। ऐसा लगा कि पूरी दुनिया उलट पुलट होने वाली है।”

करीब एक साल पहले चार जनवरी 2016 को पूर्वोत्तर भारत में 6.7 तीव्रता का भूकंप आया था। पिछले साल आए भूकंप का केंद्र मणिपुर के तामेंगलोंग जिले में था। उस भूकंप में कम से कम सात लोग मारे गए थे और करीब 100 घर तबाह हो गये थे।

वीडियो: जम्मू-कश्मीर विधानसभा में राष्ट्रगान के अपमान पर हंगामा; राज्य सरकार पर भड़के उमर अब्दुल्ला

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App