ताज़ा खबर
 

पहले पीएम पीएम को और सीएम सीएम को जन्म देता था, हमने उसे बदला, केंद्रीय मंत्री का कांग्रेस पर निशाना

'बीजेपी अटल बिहारी वाजपेयी जी या फिर लाल कृष्ण आडवाणी के नाम से नहीं पहचानी गई। नेतृत्व बदला मगर भाजपा कभी किसी चेहरे के दम पर नहीं चली।'

भाजपा पर किसी एक परिवार का कब्जा नहीं है। (फोटो सोर्स : ANI)

देश में बह रही चुनावी बयार के बीच मोदी सरकार में केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने एक बार फिर कांग्रेस पर वंशवाद के बहाने निशाना साधा है। हैदराबाद में भारतीय जनता युवा मोर्चा को संबोधित करते हुए गडकरी ने कहा कि देश में राज करने वालों ने सिर्फ परिवारों को फायदा पहुंचाया।

नितिन गडकरी ने कहा कि, ‘भाजपा पर किसी एक परिवार का कब्जा नहीं है। बीजेपी जाति, धर्म और भाषा को आधार बनाकर राजनीतिक नहीं करती है। यह पार्टी विचारों और सिद्धातों पर काम करती है। भाजपा किसी एक चेहरे से पहचान की मोहताज नहीं। बीजेपी अटल बिहारी वाजपेयी जी या फिर लाल कृष्ण आडवाणी के नाम से नहीं पहचानी गई। नेतृत्व बदला मगर पार्टी कभी किसी चेहरे के दम पर हीं चली नहीं चली। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह जी हैं।’

भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता गडकरी ने आगे कहा कि, पहले प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री को और मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री को जन्म देते थे। दशकों तक ऐसा ही चलता रहा। लोकतंत्र खत्म होने लगा था। मगर भारतीय जनता पार्टी ने इसे बदला।

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शनिवार को कहा कि, केंद्र सरकार तमिलनाडु, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश और तेलंगाना की पानी की जरूरतों को पूरा करने के उद्देश्य से नदियों को जोड़ने के लिये प्रतिबद्ध है।

भारतीय जनता युवा मोर्चा (बीजेवाईएम) के राष्ट्रीय सम्मेलन में प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार ने छह नदियों को जोड़ने की योजना बनाई है जिस पर करीब दो लाख करोड़ की लागत आएगी। गडकरी ने आगे कहा कि किसी भी देश की प्रगति के लिए कृषि, उद्योग और सेवाओं जैसे क्षेत्रों के विकास महत्वपूर्ण हैं।

इससे पहले गडकरी ने एक इंटरव्यू में कहा था कि, “गंगा को स्वच्छ बनाने के लिये मलजल आधारभूत संचरना, घाट एवं शमशानघाट, नदी के किनारों का विकास, नदी के सतह की सफाई और जलीय जीव-जंतुओं की सुरक्षा के लिये कुल 227 परियोजनायें शुरू की गयी हैं।’ उन्होंने कहा कि गंगा को ‘निर्मल’ (स्वच्छ) और ‘अविरल’ (मुक्त प्रवाह) बनाना उनका सपना है और उनके मंत्रालय इस दिशा में कई कदम उठा रहे हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App