ताज़ा खबर
 

विशेषज्ञ की कलम से: अनुवाद के क्षेत्र में विकल्प अनेक

भूमंडलीकरण के इस दौर में किसी दूसरे की भाषा सीखना आपके करिअर के लिए फायदेमंद साबित हो सकता। आप अपने देश के अलावा किसी अन्य देश की भाषा को सीखने के साथ एक बेहतर अनुवादक बन सकते हैं। इस क्षेत्र में नौकरी के कई बेहतर विकल्प मौजूद हैं। आज विभिन्न देशों के दूतावास अपने पास ऐसे ही अनुवादक को नौकरी पर रख रहे हैं जो दूसरे देश की भाषा को जानते समझते हों और उसका अनुवाद कर सकते हों। अनुवाद क्षेत्र में वेतनमान/मानदेय काफी बेहतर मौजूद हैं। इस रचनात्मक क्षेत्र में करिअर बनाने की इच्छा रखने वाले युवाओं के लिए अनुवादक बनना एक बेहतर करिअर विकल्प साबित हो सकता है।

सांकेतिक फोटो।

अनुवादक विभिन्न प्रकार के क्षेत्रों में काम करते हैं, जिनमें सरकार से लेकर चिकित्सा तक व व्यवसाय से लेकर शिक्षा और सब कुछ शामिल है। भाषा का उपयोग करने वाले किसी भी क्षेत्र में अनुवादक की आवश्यकता हो सकती है। अनुवादक अकसर फ्रीलांस होते हैं या उनके अपने व्यवसाय होते हैं। हालांकि वे अन्य किसी एकल नियोक्ता के लिए एजंसियों या सीधे भी काम करते हैं।

भूमंडलीकरण के इस दौर में किसी दूसरे की भाषा सीखना आपके करिअर के लिए फायदेमंद साबित हो सकता। आप अपने देश के अलावा किसी अन्य देश की भाषा को सीखने के साथ एक बेहतर अनुवादक बन सकते हैं। इस क्षेत्र में नौकरी के कई बेहतर विकल्प मौजूद हैं। आज विभिन्न देशों के दूतावास अपने पास ऐसे ही अनुवादक को नौकरी पर रख रहे हैं जो दूसरे देश की भाषा को जानते समझते हों और उसका अनुवाद कर सकते हों। अनुवाद क्षेत्र में वेतनमान/मानदेय काफी बेहतर मौजूद हैं। इस रचनात्मक क्षेत्र में करिअर बनाने की इच्छा रखने वाले युवाओं के लिए अनुवादक बनना एक बेहतर करिअर विकल्प साबित हो सकता है।

भाषा का गहन अध्ययन

अपनी स्रोत भाषा का गहन अध्ययन करें। सबसे पहले, आपको एक भाषा का चयन करना होगा। स्वाभाविक रूप से, संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा प्रयोग की जाने वाली भाषाओं के लिए अधिक अनुवाद कार्य उपलब्ध है। चूंकि अधिक लोग इन भाषाओं को जानते हैं, इसलिए काम के लिए अधिक प्रतिस्पर्धा भी है। शास्त्रीय भाषाओं के लिए कम अवसर हो सकते हैं लेकिन उनका अध्ययन भी आपको भीड़ से अलग काम दे सकता हैं और आपको उन नौकरियों तक पहुंच प्रदान कर सकता जो कम लोग ही कर सकते हैं। भाषा चुनने से पहले उस भाषा में अनुवाद के अवसरों पर शोध आवश्यक है।

ऐसा करने के लिए, आप वास्तव में वर्तमान अनुवादक सूचियों का उपयोग कर सकते हैं। यदि आप एक विशिष्ट क्षेत्र में रुचि रखते हैं, तो आप उन भाषाओं की भी जांच कर सकते हैं जिसमे सर्वाधिक अवसर हैं। अनुवाद को लेकर एक समान्य धारणा यह है कि उसका काम सिर्फ विदेशी भाषाओं का या हिंदी का विदेशी भाषाओं में अनुवाद करना होता है। ऐसा बिलकुल नहीं है। अगर देश के अंदर अलग-अलग भाषाओं जैसे कि गुजराती, मराठी, तमिल में भी अनुवाद की पूरी संभावना होती है।

इन भारतीय भाषाओं का भी अनुवाद विदेशी भाषाओं में होता है। ऐसे में आप देश के अंदर भी अलग-अलग भाषाएं सीखकर अनुवादक बन सकते हैं। एक बार जब आप अपनी भाषा चुन लेते हैं, फिर आपको उच्चस्तरीय अध्ययन करना होगा। आपकी स्रोत भाषा में अनुवाद की उन्नत डिग्री आपको और औरों अलग कर सकती है। आपके पास जितना अधिक भाषा का अनुभव और शिक्षा होगी आपका करिअर उतना बेहतर होगा।

विशेष प्रशिक्षण

अनुवाद में प्रवीणता के लिए विशेष प्रशिक्षण प्राप्त करें। भले ही आप किसी भाषा में धाराप्रवाह हों, लेकिन यह आवश्यक नहीं है कि आपके पास अनुवाद करने भर का कौशल हो। स्पष्ट, कुशल अनुवाद प्रदान करने में सक्षम होने के लिए अक्सर भाषा अध्ययन के अतिरिक्त विशेष प्रशिक्षण की जरूरत होती है। अनुवाद के क्षेत्र में प्रमाणन एक महत्त्वपूर्ण विषय है। आपके पास काम करने के लिए आवश्यक कौशल किसी मान्यताप्राप्त संस्थान से प्रमाणित होना चाहिए। जिस क्षेत्र में आप अनुवाद करने में रुचि रखते हैं, उस क्षेत्र में प्रमाणपत्र प्राप्त करने की कोशिश करनी चाहिए। इससे करिअर को पेशेवर बनाने में आसानी हो जाती है।

विशिष्ट शब्द सीखें

एक बार जब आप किसी भाषा में पारंगत हो जाते हैं, तो आप जिस भी क्षेत्र में काम करने में रुचि रखते हैं, उसके लिए आप क्षेत्र से जुड़े विशिष्ट शब्दों को भी सीखिए। केवल धाराप्रवाह होने के नाते आपको प्रासंगिक शब्दावली प्रदान करने की आवश्यकता नहीं है, इसलिए आपको विशिष्ट शब्दावली में कुछ अतिरिक्त ध्यान देने की आवश्यकता होगी। एक बात का ध्यान रखें कि अनुवाद करते समय विशिष्ट कंप्यूटर प्रोग्राम की आवश्यकता होती है। यह अनुवाद प्रक्रिया को तेज और अधिक कुशल बनाता है। अत: विशिष्ट शब्दावली के साथ कंप्यूटर का सम्यक ज्ञान आपके अनुवाद को और बेहतर बनाता है

भाषा से संबंधित संस्कृति की जानकारी

एक बेहतर अनुवादक बनने के लिए आपकी भाषा से संबंधित संस्कृति पर पकड़ होना अत्यंत आवश्यक है। संबंधित भाषा का साहित्य, भूगोल, इतिहास और दर्शन इत्यादि की जानकारी से अनुवाद मौलिक हो जाता है। उदाहरण के तौर पर अगर आपको चीनी भाषा को हिंदी में अनुवाद करना है तो आपकी चीनी और हिंदी दोनों भाषा पर पकड़ होनी चाहिए। संस्कृति को बिना जाने-समझे अनुवाद करने से लेखन नीरस और कभी कभी निरर्थक होता है।

अनुवाद का पूर्व अनुभव

अनुवाद को करिअर बनाने में एक विसंगति यह है कि अधिकांश नौकरियों को प्राप्त करने के लिए, आपको पहले से ही क्षेत्र में काम के अनुभव की आवश्यकता है, अनुबंध या फ्रीलांस काम आपके रिज्यूम में जोड़ने के लिए कुछ अनुभव प्राप्त करने का एक आसान तरीका है। हो सकता है कि आपके पहले उतना भुगतान न हो, लेकिन एक बार जब आप अपने क्षेत्र में अनुभव प्राप्त करते लेते हैं, तो शीघ्र ही अधिक भुगतान वाली नौकरियों को प्राप्त कर सकते हैं।
– पवन विजय
एसोसिएट प्रोफेसर, डीआइआरडी, आइपीयू, दिल्ली

Next Stories
1 परामर्श: नकारात्मकता से दूर रह कर बढ़ाएं अपना आत्मविश्वास
2 जानें-सीखें : फर्म का पंजीकरण है बहुत आसान
3 प्राचीन शिक्षा केंद्रों में खोजें आज की चुनौतियों का हल, JNU के दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति ने दी छात्रों को सलाह
ये पढ़ा क्या?
X