ताज़ा खबर
 

क‍िसान आंदोलन के बीच व्‍यापार‍ियों का भारत बंद: 26 को नहीं चलेंगे 40 लाख वाहन, 1500 जगहों पर धरना

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में तेजी के विरोध तथा ई-वे बिल कानूनों को खत्म करने को लेकर ऑल इंडिया ट्रांसपोर्ट वेलफेयर एसोसिएशन ने भी भारत बंद का समर्थन किया है।

strike, trade closedव्यापारिक संघों के साथ ही ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने भी 26 फरवरी के भारत बंद का समर्थन किया है। (पीटीआई फोटो)

दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन और कई राज्यों में चुनावी तैयारियों के बीच व्यापारियों ने 26 फरवरी शुक्रवार को भारत बंद का ऐलान किया है। जीएसटी के प्रावधानों की समीक्षा की मांग को लेकर आयोजित हो रहे इस बंद में देशभर के व्यापारिक एसोसिएशनों के समर्थन के दावे किए गए हैं। बंद का आह्वान कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स ने किया है। पेट्रोल और डीजल की कीमतों में तेजी के विरोध तथा ई-वे बिल कानूनों को खत्म करने को लेकर ऑल इंडिया ट्रांसपोर्ट वेलफेयर एसोसिएशन ने भी भारत बंद का समर्थन किया है।

एसोसिएशन ने देश भर में चक्का जाम करने की भी घोषणा की गई है। नेताओं ने दावा किया है कि इस बंद में देश भर के आठ करोड़ से ज्यादा व्यापारी शामिल रहेगे। कहा है कि पूरे देश में व्यापारियों में नाराजगी है। वे सरकार की नीतियों के खिलाफ अपनी आवाज उठाने के लिए इस हड़ताल में सक्रियता से शामिल होंगे। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स ने जीएसटी की समीक्षा के साथ ही ई-कामर्स कंपनी अमेजन पर प्रतिबंध लगाने की भी मांग की है।

व्यापारिक संघों का कहना है कि बंद के दौरान देश भर के सभी वाणिज्यिक बाजार बंद रहेंगे। उनका दावा है कि करीब 40 हजार से अधिक व्यापारी संघ बंद में हिस्सा ले रहे हैं। इससे निजी ट्रांसपोर्ट के भी प्रभावित होने की आशंका जताई गई है। आल इंडिया ट्रांसपोर्टर्स वेलफेयर एसोसिएशन (AITWA) ने सभी ट्रांसपोर्ट कंपनियों को सांकेतिक विरोध के रूप में सुबह 6 से 8 बजे के बीच अपने वाहन खड़े रखने को कहा है।

व्यापारिक संघ देश के 15 सौ से अधिक स्थानों पर राष्ट्रव्यापी धरना देंगे। साथ ही बिल ओरिएंटेड माल की बुकिंग और मूवमेंट ठप रखेंगे। इस दौरान सड़कों से 40 लाख से ज्यादा वाहन नहीं चलेंगे।

हालांकि दूसरी तरफ बताया जा रहा है कि ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (AIMTC) और भाईचारा ऑल इंडिया ट्रक ऑपरेटर वेलफेयर एसोसिएशन (BAITOWA) हड़ताल में हिस्सा नहीं लेंगे।

जिन संगठनों ने भारत बंद का समर्थन किया है, उनमें ऑल इंडिया एफएमसीज़ी डिस्ट्रिब्युटर्स फेडरेशन, फेडेरेशन ऑफ एल्युमिनियम यूटेंसिल मैन्यूफैकचर एंड ट्रेडर्स एसोसिएशन, नार्थ इंडिया स्पाईसेस ट्रेडर्स एसोसिएशन, आल इंडिया वूमेन एंटरप्रेन्योर्स एसोसिएशन, ऑल इंडिया कम्प्यूटर डीलर एसोसिएशन, आल इंडिया कॉस्मेटिक मैनुफक्चरर्स एसोसिएशन आदि शामिल हैं।

Next Stories
1 26 जनवरी हिंसा: लक्खा सिंह का दिल्ली पुलिस को खुला चैलेंज, बोला- आ रहा हूं राजधानी
2 श्रीलंका संग ECT समझौता रद्द होने पर बोले भाजपा सांसद- अडानी हैं जिम्मेदार, केंद्र दे स्पष्टीकरण
3 पुदुचेरी में राष्ट्रपति शासन लागू, विपक्ष ने नहीं किया सरकार बनाने का दावा
IPL 2021 LIVE
X