टूलकिट केस: दिशा रवि को नहीं मिली राहत, अदालत ने न्यायिक हिरासत की अवधि बढ़ाई

एक्टिविस्ट दिशा रवि, जिन्हें टूलकिट मामले में गिरफ्तार किया गया है, को पटियाला हाउस कोर्ट ने तीन और दिनों के लिए जेल भेज दिया है।

disha raviएक्टिविस्ट दिशा रवि को अदालत के सामने पेश किया गया। (PTI)

एक्टिविस्ट दिशा रवि, जिन्हें टूलकिट मामले में गिरफ्तार किया गया है, को पटियाला हाउस कोर्ट ने तीन और दिनों के लिए जेल भेज दिया है। 22 वर्षीय दिशा रवि को पिछले हफ्ते बेंगलुरू के उनके घर से गिरफ्तार किया गया था। उन पर साजिश और देशद्रोह के आरोप हैं। टूलिकट को स्वीडिश क्लाइमेट एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने किसानों के समर्थन में ट्वीट किया था और फिर हटा दिया था। दिशा रवि और दो अन्य एक्टिविस्ट – निकिता जैकब और शांतनु मुलुक ने इस टूलकिट को बनाया था। किसानों द्वारा 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली निकालने के बाद राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा में दिल्ली पुलिस जांच कर रही है।

“सबूत से छेड़छाड़” की संभावना पर जोर देते हुए, पुलिस ने आज अदालत से दिशा रवि के लिए तीन और दिन की न्यायिक हिरासत की मांग की। दिल्ली पुलिस ने पटियाला हाउस कोर्ट को बताया, “हमने जांच में शामिल होने के लिए कई अन्य लोगों को नोटिस जारी किया है। इस मामले में, हमने शांतनु को नोटिस जारी किया है और हम दिशा और शांतनु से आमने सामने पूछताछ करना चाहते हैं।” इससे पहले दिशा रवि पांच दिनों तक पुलिस हिरासत में थीं।

दिशा रवि की गिरफ्तारी को लेकर कई विपक्षी नेताओं ने अपनी नाराजगी जताई है और इसे “अत्याचार” बताया है।किसान नेताओं ने भी इसकी निंदा की है। दिशा रवि ने रविवार को अदालत को बताया,” मैंने टूलकिट नहीं बनाया था। हम किसानों का समर्थन कर रहे थे। मैंने 3 फरवरी को दो लाइनें एडिट कीं।”

हालांकि, आलोचना के बीच दिल्ली पुलिस ने अपनी इस कार्रवाई को सही ठहराया है। दिल्ली पुलिस अधिकारी प्रेम नाथ ने सोमवार को मीडिया से कहा, “दिशा के फोन से काफी सारी जानकारी बरामद की गई, जिससे यह साफ हो गया कि उसने शांतनु और निकिता के साथ टूलकिट बनाया और दूसरों को भेजा।”

उन्होंने बताया, “टूलकिट का मकसद कानून को लेकर सरकार के खिलाफ गलत जानकारी फैलाना था। उन्होंने 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस वाले दिन लोगों से शामिल होने की बात कही थी। हमने दिशा के खिलाफ कार्रवाई की, क्योंकि उन्होंने टूलकिट के लिए बनाए गए एक व्हाट्सएप ग्रुप को डिलीट किया।”

Next Stories
1 कोरोनाः Coronil को WHO की योजना के तहत Ayush Ministry से मिला प्रमाण-पत्र- बोली रामदेव की Patanjali
2 BJP का जहां लगता है हाथ, वहां होते हैं दंगे- बोले CPM नेता, एंकर ने टोका- आप SC, CBI या NIA हैं, जो हम मान लें?
3 कोरोनाः डरा रहा महाराष्ट्र! 75 दिन बाद 24 घंटे में 5000 से अधिक केस, हेल्थ मिनिस्टर समेत 3 मंत्री संक्रमित; कुछ जगह पाबंदियां
यह पढ़ा क्या?
X