श्रद्धालुओं के लिए खुल गया शिरडी के साई का मंदिर, अब ऐसे बुक करा सकते हैं दर्शन का स्लॉट, जानें समय और फीस

मंदिर खुलने को लेकर जिला प्रशासन ने कहा है कि, 10 साल से कम उम्र के बच्चों, गर्भवती महिलाओं, बीमार लोगों, 65 वर्ष से अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिकों को मंदिर की परिधि में प्रवेश करने पर प्रतिबंध होगा।

Shirdi Temple Corona, Sai Baba
कोरोना वायरस के चलते देश में बंद पड़े मंदिरों को एक बार फिर से खोलने की कवायद शुरू हुई है(फाइल/फोटो सोर्स: PTI)।

कोरोना महामारी की वजह से लंबे समय से बंद शिरडी मंदिर को एक बार फिर से खोलने का फैसला किया है। मंदिर में दर्शन करने के लिए श्रद्धालुओं को पहले से स्लॉट बुक कराने होंगे। मंदिर की तरफ से 5 हजार पेड पास जारी किए जाएंगे। इसके अलावा 5 हजार ऑनलाइन समेत ऑफलाइन पासेस भी दिए जाएंगे। वहीं रोजाना हर दिन 15 हजार श्रद्धालुओं को मंदिर में जाने की इजाजत होगी। जिसमें हर घंटे 1150 भक्त मंदिर में प्रवेश कर सकेंगे।

इसके अलावा केवल मंदिर में आरती के समय 90 भक्तों को ही भाग लेने की छूट होगी। नवरात्रि के पहले दिन से खुल रहे मंदिर को लेकर साई बाबा मंदिर ट्रस्ट की सीईओ भाग्यश्री बानायित ने बताया कि 7 अक्टूबर से भक्तों के लिए शिरडी मंदिर खोला जा रहा है। हर दिन 15 हजार भक्त साईं के दर्शन कर सकेंगे। मंदिर मे नंबर 2 प्रवेश द्वार से आने साथ ही 4 और 5 नंबर द्वार से बाहर निकलने की सुविधा दी गई है।

स्लॉट बुकिंग की जानकारी: मंदिर की आधिकारिक वेबसाइट https://online.sai.org.in पर जाकर साई भक्त ऑनलाइन बुकिंग, दर्शन करने का समय और अन्य महत्वपूर्ण विवरणों की विस्तृत जानकारी पा सकते हैं। वेबसाइट पर आगंतुकों को अपना अकांउट बनाकर दर्शन, आवास आदि जैसी ऑनलाइन सेवाओं को चुनने से पहले पंजीकृत करने की आवश्यकता होगी।

आरती का समय:
सुबह की आरती- 4.30AM
मध्याह्न आरती – दोपहर 12:00 बजे
धूप आरती – सूर्यास्त के समय
Shej आरती – रात 10.30 बजे

शुल्क: सुबह के दर्शन के लिए भक्तों को 600 रुपये का भुगतान करना होगा, जबकि मध्याह्न, धूप और शेज आरती के लिए 400 रुपये का भुगतान करना होगा।

ऐसे करें बुकिंग:
शिरडी साई बाबा संस्थान ट्रस्ट के ऑनलाइन पोर्टल पर जाएं
पहली बार उपयोग कर रहे श्रद्धालुओं के लिए, वैध ई-मेल आईडी, फोन नंबर और व्यक्तिगत विवरण के साथ पंजीकृत करें
फोटो आईडी और पासपोर्ट साइज फोटो अपलोड करें
जानकारी सब्मिट करने के बाद पंजीकरण संबंधी डिटेल ई-मेल और टेक्स्ट मैसेज के जरिए प्राप्त होगा
मौजूद स्लॉट में मनमुताबिक दर्शन का समय चुनें और बुकिंग प्रक्रिया को पूरा करें
बताए गए बुकिंग शुल्क का भुगतान करें और फिर रसीद डाउनलोड करें

इन्हें नहीं होगी इजाजत: मंदिर में दर्शन पाने को लेकर जिला प्रशासन की तरफ से कहा गया है कि, 10 साल से कम उम्र के बच्चों, गर्भवती महिलाओं, बीमार लोगों, 65 वर्ष से अधिक उम्र के वरिष्ठ नागरिकों को मंदिर की परिधि में प्रवेश करने पर प्रतिबंध होगा। वहीं, मंदिर में प्रवेश करने वाले सभी भक्तों को मास्क लगाना जरूरी होगा।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट