ताज़ा खबर
 

जनसत्ता युवा: सफल उद्यमी बनना है तो इन गलतियों से बचें

वर्तमान में बड़ी संख्या में युवा आंत्रप्रन्यॉर यानी उद्यमी बनना चाहते हैं। इसके लिए युवाओं को ज्यादा काम करने के साथ अधिक त्याग, कौशल और लगन की आवश्यकता होती है। यदि आप भी अपना कोई व्यवसाय शुरू करने जा रहे हैं तो इन गलतियों से बचने की कोशिश कीजिएगा।

Author Published on: March 26, 2020 12:38 AM
युवाओ में उद्यमी बनने की चाह बढ़ी।

वर्तमान में बड़ी संख्या में युवा आंत्रप्रन्यॉर यानी उद्यमी बनना चाहते हैं। इसके लिए युवाओं को ज्यादा काम करने के साथ अधिक त्याग, कौशल और लगन की आवश्यकता होती है। यदि आप भी अपना कोई व्यवसाय शुरू करने जा रहे हैं तो इन गलतियों से बचने की कोशिश कीजिएगा।

बिना योजना काम शुरू करना : आप बेशक अपने क्षेत्र के बेहतर पेशेवर हों या अपने दफ्तर के सबसे अच्छे कर्मचारी, लेकिन आपके ये गुण आपको एक सफल उद्यमी बनने की गारंटी नहीं देते हैं। किसी के लिए काम करना और अपने लिए काम करने में बहुत अंतर होता है। इसलिए किसी भी व्यवसाय को शुरू करने से पहले एक बेहतर योजना बनाना आवश्यक है।

बड़े लक्ष्य तय करना : नए उद्यमी उत्साह में अपने लिए बड़े लक्ष्य तय कर लेते हैं। जब ये लक्ष्य पूरे नहीं होते हैं तो वे खुद का विफल समझने लगते हैं। यहां यह जरूरी है कि उद्यमी वास्तविक और पा सकने वाले लक्ष्य तय करें। इसके अलावा उन्हें कदम दर कदम लक्ष्य तय करने चाहिए। क्योंकि छोटे लक्ष्य पूरे होने पर आत्मविश्वास बढ़ता है।

परिवर्तन के लिए तैयार न होना : बाजार के बदलते स्वरूप के इस दौर में एक नए उद्यमी को हमेशा बाजार के हिसाब से परिवर्तन के लिए तैयार रहना चाहिए। यदि कोई उद्यमी किसी एक सेवा या उत्पाद में परिवर्तन करने के लिए तैयार नहीं रहता है तो अपनी योजना में विफल होना पड़ सकता है। हमेशा नए चीजों को अपनाने के लिए भी तैयार रहना चाहिए और भविष्य में होने वाले परिवर्तनों के लिए भी खुद को तैयार रखना चाहिए।

टकराव में पड़ना : नए उद्यमियों के लिए सबसे मुश्किल काम विभिन्न मुद्दों पर टकराव को टालना होता है। व्यवसाय में नुकसान से बचने के लिए टकराव से बचना बहुत आवश्यक होता है। जब कोई मुद्दा गर्म हो तो तत्काल उस पर कोई निर्णय लेना गलत हो सकता है। इसलिए ऐसी परिस्थितियों में निर्णय को टकराव की स्थिति खत्म होने तक टाल देना चाहिए।

दूरदर्शिता का न होना : किसी भी व्यवसायी को दूरदर्शी होना बहुत जरूरी है और इसके बिना व्यवसाय में सफलता नहीं मिल सकती है। अदूरदर्शिता की वजह से कई उद्यमी को तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है जिसमें गैरजरूरी खर्चे बढ़ना, कार्य का समय पर पूरा नहीं होना आदि शामिल हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 जनसत्ता युवा: चॉकलेट पसंद करने वालों के लिए है यह करिअर
2 India Lock down: रामायण और महाभारत की टीवी पर होगी वापसी! जनता की अपील के बाद प्रसार भारती कर रहा तैयारी
3 ई-रिटेलर्स का आरोप, डिलीवर के दौरान पुलिस करती है हमला, 15000 लीटर दूध 10000 किलो सब्जी हो चुकी है बर्बाद