ताज़ा खबर
 

EVM की जगह बैलेट पेपर पर हों चुनाव, संसद परिसर में विपक्षी सांसदों का प्रदर्शन

रविवार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी ईवीएम को लेकर सवाल खड़े करते हुए आरोप लगाया कि 'हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव केन्द्र में सत्तारुढ़ भाजपा के पक्ष में आया एकतरफा चुनाव परिणाम अप्रत्याशित और जन अपेक्षा के विपरीत है।'

EVMटीएमसी सांसद ईवीएम के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए।

ईवीएम को लेकर विभिन्न राजनैतिक पार्टियां काफी समय से सवाल खड़े कर रही हैं। विपक्षी पार्टियां ईवीएम की विश्वसनीयता पर सवाल उठाते हुए बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग कर रही हैं। सोमवार को तृणमूल कांग्रेस के सांसदों ने भी संसद भवन परिसर में ईवीएम के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। टीएमसी सांसद संसद भवन परिसर में स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा के नजदीक इकट्ठा हुए। इस दौरान टीएमसी सांसदों के हाथ में प्लेकार्ड थे, जिन पर ईवीएम के बजाय बैलेट पेपर से चुनाव कराने संबंधी बातें लिखी थीं। बता दें कि बीते दिनों आम चुनावों के दौरान भी ईवीएम को लेकर खूब बातें हुई थी।

रविवार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी ईवीएम को लेकर सवाल खड़े करते हुए आरोप लगाया कि ‘हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव केन्द्र में सत्तारुढ़ भाजपा के पक्ष में आया एकतरफा चुनाव परिणाम अप्रत्याशित और जन अपेक्षा के विपरीत है।’ मायावती ने कहा कि ‘यह बिना सुनियोजित गड़बड़ी और धांधली के संभव नहीं है।’ मायावती ने मांग की कि हालात को देखते हुए ईवीएम के बदले दुनिया के अन्य देशों की तरह ही मतपत्रों से चुनाव कराए जाएं। एक कार्यक्रम के दौरान मायावती ने कहा कि देश के लगभग सभी प्रमुख विपक्षी दल ईवीएम की बजाए बैलेट पेपर से चुनाव कराने पर एकमत हैं, लेकिन भाजपा और चुनाव आयोग इसके खिलाफ हैं, जिससे देश में बेचैनी है।

वहीं द इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर के अनुसार, एक आरटीआई रिपोर्ट में जानकारी मिली है कि एक हालिया जांच में पता चला है कि ईवीएम (इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन) के महत्वपूर्ण अंग माने जाने वाले बैलेट यूनिट और डिटैचेबल मेमोरी मॉड्यूल मध्य प्रदेश के कुछ जिलों में गायब मिले हैं। हालांकि आरटीआई में इस बात का खुलासा नहीं हुआ है कि जिन ईवीएम में धांधली पायी गई है, उनका पिछले आम चुनावों में इस्तेमलाल हुआ है या नहीं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सीबीआई के फंदे में फंस सकती हैं मायावती, शुरुआती जांच के बाद तीन केस चलने का खतरा!
2 20 years of Kargil war: इंडियन एयरफोर्स ने ग्वालियर हवाई अड्डे को ‘युद्ध थियेटर’ में किया तब्दील
3 सुप्रीम कोर्ट ने ‘चमकी बुखार’ पर केंद्र, बिहार और यूपी सरकार को जारी किया नोटिस, 7 दिन के अंदर हलफनामा दाखिल कर देना होगा जवाब