ताज़ा खबर
 

EVM की जगह बैलेट पेपर पर हों चुनाव, संसद परिसर में विपक्षी सांसदों का प्रदर्शन

रविवार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी ईवीएम को लेकर सवाल खड़े करते हुए आरोप लगाया कि 'हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव केन्द्र में सत्तारुढ़ भाजपा के पक्ष में आया एकतरफा चुनाव परिणाम अप्रत्याशित और जन अपेक्षा के विपरीत है।'

Author नई दिल्ली | June 24, 2019 1:16 PM
टीएमसी सांसद ईवीएम के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करते हुए।

ईवीएम को लेकर विभिन्न राजनैतिक पार्टियां काफी समय से सवाल खड़े कर रही हैं। विपक्षी पार्टियां ईवीएम की विश्वसनीयता पर सवाल उठाते हुए बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग कर रही हैं। सोमवार को तृणमूल कांग्रेस के सांसदों ने भी संसद भवन परिसर में ईवीएम के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। टीएमसी सांसद संसद भवन परिसर में स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा के नजदीक इकट्ठा हुए। इस दौरान टीएमसी सांसदों के हाथ में प्लेकार्ड थे, जिन पर ईवीएम के बजाय बैलेट पेपर से चुनाव कराने संबंधी बातें लिखी थीं। बता दें कि बीते दिनों आम चुनावों के दौरान भी ईवीएम को लेकर खूब बातें हुई थी।

रविवार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी ईवीएम को लेकर सवाल खड़े करते हुए आरोप लगाया कि ‘हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव केन्द्र में सत्तारुढ़ भाजपा के पक्ष में आया एकतरफा चुनाव परिणाम अप्रत्याशित और जन अपेक्षा के विपरीत है।’ मायावती ने कहा कि ‘यह बिना सुनियोजित गड़बड़ी और धांधली के संभव नहीं है।’ मायावती ने मांग की कि हालात को देखते हुए ईवीएम के बदले दुनिया के अन्य देशों की तरह ही मतपत्रों से चुनाव कराए जाएं। एक कार्यक्रम के दौरान मायावती ने कहा कि देश के लगभग सभी प्रमुख विपक्षी दल ईवीएम की बजाए बैलेट पेपर से चुनाव कराने पर एकमत हैं, लेकिन भाजपा और चुनाव आयोग इसके खिलाफ हैं, जिससे देश में बेचैनी है।

वहीं द इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर के अनुसार, एक आरटीआई रिपोर्ट में जानकारी मिली है कि एक हालिया जांच में पता चला है कि ईवीएम (इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन) के महत्वपूर्ण अंग माने जाने वाले बैलेट यूनिट और डिटैचेबल मेमोरी मॉड्यूल मध्य प्रदेश के कुछ जिलों में गायब मिले हैं। हालांकि आरटीआई में इस बात का खुलासा नहीं हुआ है कि जिन ईवीएम में धांधली पायी गई है, उनका पिछले आम चुनावों में इस्तेमलाल हुआ है या नहीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App