कीर्ति आजाद ने अमित शाह को कहा ‘पप्पू भैया’, पूछा- कपड़ों से पहचानने वाली सरकार नागालैंड में अपने नागरिकों को ही नहीं पहचान पाई

नागालैंड में उग्रवादियों की सूचना मिलने के बाद मोर्चा संभाले सुरक्षा बलों ने गलतफहमी में मजदूरों से भरी एक पिकअप वैन को निशाना बना दिया था। इस मामले में कुल 14 लोगों की मौत हो गई थी।

kirti azad, amit shah, nagalandala
नागालैंड मामले पर कीर्ति आजाद ने साधा अमित शाह पर निशाना (फाइल फोटो- पीटीआई)

नागालैंड में सुरक्षाबलों के हाथों 14 नागरिकों की मौत के मामले पर विपक्ष सरकार को लगातार घेर रहा है। कांग्रेस समेत लगभग सभी विपक्षी दल इस घटना के लिए गृह मंत्री अमित शाह पर निशाना साधते देखे जा सकते हैं। इसी क्रम में पूर्व भाजपा नेता और तृणमूल कांग्रेस नेता कीर्ति आजाद ने भी गृह मंत्री पर हमला बोला है।

नागलैंड मामले पर अमित शाह के संसद में दिए गए बयान पर निशाना साधते हुए पूर्व सांसद और पूर्व क्रिकेटर कीर्ति आजाद ने गृहमंत्री को पप्पू भैया कह दिया। दरअसल संसद में अमित शाह ने कहा था कि नागालैंड घटना गलत पहचान के कारण हुई है। इसी को लेकर तृणमूल कांग्रेस के नेता ने शाह पर निशाना साधा है।

आजाद ने एक पोस्टर शेयर करते हुए लिखा- “संसद में अपने पप्पू भैया”। पोस्टर में लिखा है- कपड़ों से पहचान लेने वाली सरकार, अपने की नागरिकों को पहचान नहीं पाई”। कीर्ति आजाद हाल ही में कांग्रेस छोड़ तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए हैं। उससे पहले वो बीजेपी में थे और बीजेपी से ही सांसद भी बने थे लेकिन अरुण जेटली के साथ विवाद के बाद उन्हें भाजपा से निकाल दिया गया था। जिसके बाद वो कांग्रेस में शामिल हो गए थे।

बता दें कि नागालैंड में उग्रवादियों की सूचना मिलने के बाद मोर्चा संभाले सुरक्षा बलों ने गलतफहमी में मजदूरों से भरी एक पिकअप वैन को निशाना बना दिया। इस हमले में छह लोगों की मौत हो गई। जिसके बाद गुस्साए लोगों ने सेना के वाहनों में आग लगा दी थी। इसके बाद हुई हिंसा में आठ और नागरिकों की मौत हो गई थी।

इस घटना के बाद से नागालैंड के स्थानीय लोगों में काफी रोष है। सरकार ने इस घटना की जांच के लिए एक एसआईटी टीम का भी गठन किया है। वहीं सेना ने भी इस घटना की जांच के लिए कोर्ट ऑफ इंक्वायरी का आदेश दे दिया है। दूसरी ओर नागालैंड पुलिस ने इस घटना का स्वत: संज्ञान लेते हुए जिम्मेदार जवानों के खिलाफ अनेक धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है, जिसमें हत्या से संबंधित धारा भी शामिल है। इस घटना को लेकर राज्य में अफस्पा के खिलाफ एक बार फिर से स्वर उठने लगे हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट