ताज़ा खबर
 

ममता बनर्जी को तीसरा झटका, 12 TMC पार्षदों संग MLA विश्वजीत दास बीजेपी में शामिल, कैलाश विजयवर्गीय ने दिलाई पार्टी सदस्यता

तृणमूल के 12 पार्षदों संग विधायक विश्वजीत दास कैलाश विजयवर्गीय और मुकुल रॉय के समक्ष भाजपा में शामिल हुए। कांग्रेस प्रवक्ता प्रसन्नजीत घोष भी भगवा पार्टी में शामिल हुए।

Author नई दिल्ली | June 18, 2019 7:24 PM
कैलाश विजयवर्गीय और मुकुल रॉय के समक्ष भाजपा में शामिल होते टीएमसी नेता। (Photo: ANI)

लोकसभा चुनाव के बाद ममता बनर्जी को तीसरा झटका लगा है। तृणमूल के 12 पार्षदों संग विधायक विश्वजीत दास कैलाश विजयवर्गीय और मुकुल रॉय के समक्ष नई दिल्ली में मंगलवार को भाजपा में शामिल हुए। साथ ही कांग्रेस प्रवक्ता प्रसन्नजीत घोष भी भगवा पार्टी में शामिल हो गए। इससे एक दिन पहले टीएमसी के नोअपारा से विधायक सुनिल सिंह 15 पार्षदों के साथ भाजपा में शामिल हुए थे। पिछले एक महीने में पश्चिम बंगाल के टीएमसी के कई नेता, जिनमें सांसद और विधायक भी शामिल हैं, भाजपा में शामिल हुए हैं।

टीएमसी नेताओं के पार्टी में शामिल होने पर बंगाल के भाजपा प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा था, “पश्चिम बंगाल की राजनीति में भाजपा एक मजबूत खिलाड़ी के रूप में उभरी है। जो लोग राज्य में शांति और विकास चाहते हैं, उन्हें पार्टी में शामिल करने में तरजीह दी जा रही है।” भाजपा ने यह आरोप लगाया है कि ममता बनर्जी के नेतृत्व में बंगाल में लोकतंत्र धाराशायी हो चुका है। हिंसा के सहारे लोगों को डराने का काम किया जा रहा है।

वहीं दूसरी ओर भाजपा का दामन थामने वाले तृणमूल कांग्रेस के नेताओं पर बरसते हुए ममता बनर्जी ने मंगलवार को बागी नेताओं को ‘‘लालची और भ्रष्ट’’ बताया। उन्होंने कहा कि भगवा पार्टी ‘‘कचरा बटोर रही है।’’ तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ने कहा कि वह ‘‘धोखेबाजों’’ का स्थान ‘‘समर्पित सदस्यों’’ को देंगी और जो लोग ‘‘भाजपा में शामिल होने को लेकर असमंजस में हैं’’ वह तुरंत पार्टी छोड़कर चले जाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘हमें उन भ्रष्ट और लालची नेताओं की चिंता नहीं है जो दूसरी पार्टी में जा रहे हैं। वे भाजपा में इसलिए शामिल हुए हैं, क्योंकि उन्हें अपनी करनी का फल मिलने का अंदेशा सता रहा था।’’ उन्होंने कहा कि उनकी सरकार भ्रष्टाचार में लिप्त लोगों के खिलाफ कार्रवाई पर विचार कर रही है।

पूरे राज्य के पार्षदों के साथ हुई बैठक में बनर्जी ने कहा, ‘‘हम अपना कचरा फेंक रहे हैं और भाजपा उन्हें बटोर रही है। लेकिन दूसरी पार्टी में शामिल होकर लोग भ्रष्टाचार की जांच से नहीं बच सकते हैं।’’ तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ने कहा कि 2021 पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले वह पार्टी का पुनर्गठन करना चाहती हैं और जो भाजपा में शामिल होने को लेकर भ्रम में हैं, उन्हें तुरंत पार्टी छोड़ देनी चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App