ताज़ा खबर
 

तिरुपति जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए रेलवे की सौगात, स्टेशन पर ही मिलेगी वर्ल्ड क्लास होटल, मल्टीप्लेक्स सुविधाएं

तिरुपति बालाजी मंदिर पहुंचने के लिए तिरुमाला स्टेशन पर भारी संख्या में रोजाना भक्तों की भीड़ रहती है। अलग-अलग राज्यों के लोग मंदिर के दर्शन करने आते हैं।

स्टेशन पर मिलेंगी वर्ल्ड क्लास सेवाएं। फोटो: फाइनेंशियल एक्सप्रेस

आंध्रे प्रदेश के तिरुमाला स्थित प्रसिद्ध तिरुपति बालाजी मंदिर जाने वाले श्रद्धालुओं को भारतीय रेलवे बड़ी सौगात देने जा रहा है। श्रद्धालुओं को अब स्टेशन पर ही वर्ल्ड क्लास होटल और मल्टीप्लेक्स की सुविधाएं मिलेंगी। रेलवे तिरुमाला स्टेशन को वर्ल्ड क्लास हब बनाने की तैयारी में है। तिरुमाला स्टेशन को 2023 तक विश्व स्तरीय स्टेशन बनाया जाएगा। रेल भूमि विकास प्राधिकरण (आरएलडीए) तिरुमला रेलवे स्टेशन का रि-डेवलेपमेंट करेगा। यह एक सरकारी एजेंसी है जो डेवपलमेंट का काम करती है। स्टेशन का कायाकल्प करने के लिए पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) के तहत सरकार निजी कंपनियों के साथ इस परियोजना को अंजाम देगी।

बता दें कि तिरुपति बालाजी मंदिर पहुंचने के लिए तिरुमाला स्टेशन पर भारी संख्या में रोजाना भक्तों की भीड़ रहती है। अलग-अलग राज्यों के लोग मंदिर के दर्शन करने आते हैं। अगर योजना के मुताबिक तिरुमाला का रि-डेवलेपमेंट होता है तो सैकड़ों लोगों को वर्ल्ड क्लास सर्विस मिलेगी। गुंतकाल डिवीजन के डीआएम आलोक तिवारी के मुताबिक स्टेशन पर प्रति दिन एक लाख लोग आते जाते हैं। इस स्टेशन पर पांच प्लेटफॉर्म पर कुल 13 ट्रेंनें संचालित होती है। इसके अलावा अभी तीन और प्लेटफॉर्म बनाए जाने हैं।

मिलेंगी ये सुविधाएं:-

1. यात्रियों को ओपन वेटिग हॉल की सुविधा मिलेगी। इसमें यात्रियों के बैठने के लिए स्टील बेंच रखे जाएंगे। ये हॉल हवादार होगा। और मल्टीप्लेक्स सुविधाएं भी मिलेंगी।
2. स्टेशन पर एयरपोर्ट की तरह लाइटिंग की जाएगी। जगह-जगह एलईडी बल्ब लगाए जाएंगे।
3. एयर कंडीशनिंग वेटिंग लॉन्ज का निर्माण किया जाएगा।
4. यात्रियों की किसी तरह की परेशानी न हो इसके लिए लिफ्ट, एस्केलेटर, फुट ओवर ब्रिज बनाए जाएंगे।
5. स्टेशन की दीवारों पर भगवान विष्णु के सात अवतार को पेंटिंग के जरिए छपाई की जाएगी।
6. ओपन वेटिंग हॉल की दीवारें, लेडीज वेटिंग हॉल और एसी वेटिंग रूम स्थानीय लोक कलाओं से सजी होंगी।
7. स्टेशन रेलवे सुरक्षा बल की निगरानी में रहेगा।

Next Stories
1 ‘हेडलाइन मैनेजमेंट’ छोड़ GST में करें सुधार तो दूर हो सकती है आर्थिक मंदी, पूर्व PM ने नकदी बढ़ाने समेत सुझाए 5 उपाय
2 अब सामने आई मेडिकल रिपोर्ट: पैलेट गन इंज्यूरी को बताया कश्मीरी युवक की मौत की वजह, पुलिस कह रही पत्थर से मरा था
3 2022 तक संसद को नया रंग-रूप देना चाहती है नरेंद्र मोदी सरकार, आर्किटेक्ट्स से मांगे सुझाव
ये पढ़ा क्या?
X