scorecardresearch

TIME का दावा- बीजेपी के करीबी श‍िवनाथ ठुकराल को FACEBOOK ने सौंपा आंखी दास का काम

TIME ने दावा किया है कि बीजेपी के करीबी रहे शिवनाथ ठुकराल को फेसबुक की पूर्व टॉप एग्जिक्यूटिव आंखी दास का काम सौंप दिया है। हालांकि कंपनी ने इस बारे में अब तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की है।

Shivnath thukral, facebook, ankhi das
TIME ने दावा किया है कि आंखी दास के बाद बीजेपी के करीबी को मिलेगा उनका काम।
फेसबुक की टॉप एग्जिक्यूटिव आंखी दास ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। वह भारत, दक्षिण और मध्य एशिया की पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर थीं। वॉट्सऐप के मौजूदा पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर शिवनाथ ठुकराल को दास का पदभार संभालने को कहा गया है। हालांकि कंपनी ने अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की है। TIME का दावा है कि ठुकराल भी बीजेपी के करीबी रहे हैं। दरअसल आंखी पर बीजेपी का पक्ष लेने के आरोप लगे थे। आंखी ने यह कहकर पद छोड़ा कि वह अब समाज सेवा का काम करना चाहती हैं।

ठुकराल पहले भी दो साल तक फेसबुक पब्लिक पॉलिसी डायरेक्टर (भारत और दक्षिण एशिया) के लिए काम कर चुके हैं। TIME के मुताबिक ठुकराल 2014 के आम चुनाव के समय बीजेपी से जुड़े हुए थे। बीजेपी नेता की एक विवादित पोस्ट को लेकर जब मीटिंग हुई थी तो वह बीच से ही उठकर निकल गए थे। इसे हेट स्पीच का दर्जा दिए जाने के बाद भी हटाया नहीं गया और एक साल तक पब्लिक प्लैटफॉर्म पर बनी रही। हालांकि फेसबुक ने कहा है कि दास के इस्तीफे का हेट स्पीच वाले मामले से कोई लेना देना नहीं है।

फेसबुक इंडिया के एमडी अजीत मोहन ने कहा, ‘आंखी समाज सेवा करना चाहती हैं इसीलिए उन्होंने इस्तीफा दिया है। आंखी हमारी ऐसी अधिकारी रही हैं जिन्होंने पिछले 9 साल में कंपनी के लिए बहुत काम किया।’ दास को पिछले महीने संसद की स्थायी समिति में डेटा प्रोटेक्शन बिल को लेकर फेसबुक के स्टैंड के बारे में पूछने के लिए भी बुलाया गया था।

देश में कांग्रेस और अन्य पार्टियां आरोप लगा चुकी हैं कि फेसबुक बीजेपी का पक्ष लेता है। अब तो ये भी बातें चलने लगी हैं कि आंखी दास बीजेपी में शामिल हो सकती हैं। कांग्रेस समेत दूसरे राजनीतिक दल आरोप लगा सकते हैं कि आंखी बीजेपी में शामिल होंगी और उनके जरिए बीजेपी पश्चिम बंगाल में फायदा उठाने की कोशिश करेगी। तृणमूल कंग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा ने कहा कि जनसेवा का मतलब आजकल बीजेपी में शामिल होना ही हो गया है। वह बीजेपी का टिकट पाना चाहती हैं और राजनीति में कुछ भी असंभव नहीं है।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.