ताज़ा खबर
 

जम्मू-कश्मीर: हिमस्खलन की चपेट में आई सैन्य चौकी, 6 जवान लापता

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सोमवार देर रात गुरेज सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास बक्तूर सैन्य चौकी हिमस्खलन की चपेट में आ गई।

Author श्रीनगर | Published on: December 12, 2017 1:23 PM
लापता सैनिकों का पता लगाने की कोशिश की जा रही है। (file photo/ANI)

जम्मू-कश्मीर के बांदीपोरा जिले के गुरेज सेक्टर में एक सैन्य चौकी हिमस्खलन की चपेट आ गई है। इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, इसमें भारतीय सेना के 6 जवान लापता हो गए हैं। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि सोमवार देर रात गुरेज सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास बक्तूर सैन्य चौकी हिमस्खलन की चपेट में आ गई। उन्होंने कहा, ‘‘लापता सैनिकों का पता लगाने की कोशिश की जा रही है, लेकिन लगतार हो रही बर्फबारी के कारण बचाव एवं खोज के प्रयास प्रभावित हो रहे हैं।’’ गुरेज सेक्टर के तुलैल में हिमस्खलन की चपेट में आने के बाद सोमवार से ही सेना का एक पोर्टर लापता है।

वहीं, जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग और मुगल रोड को लगातार बर्फबारी और बारिश के कारण मंगलवार को लगातार दूसरे दिन बंद रखना पड़ा। कश्मीर को देश के अन्य हिस्सों से सभी मौसम में जोड़ने वाला करीब 300 किलोमीटर लंबा एकमात्र राजमार्ग बनिहाल, रामबन और पटनीटॉप में भारी बारिश और जवाहर सुरंग के दोनों ओर बर्फबारी के कारण एहतियातन बंद कर दिया गया।

Read Also: इतनी गिरी बर्फ कि कश्मीर का टूटा भारत से संपर्क, देखें PHOTOS

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘‘राजमार्ग को लगातार दूसरे दिन बंद किया गया। पठियाल में मंगलवार तड़के भूस्खलन के अलावा जवाहर सुरंग, पटनीटॉप और रामबन में भारी बर्फबारी के बाद राजमार्ग को बंद कर दिया गया।’’ यातायात पुलिस विभाग के परामर्श के अनुसार, आगामी दिनों में राजमार्ग से यात्रा की योजना बना रहे यात्रियों को अपने गंतव्य रवाना होने से पहले यातायात नियंत्रण कक्ष से संपर्क करना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 गुजरात चुनाव: आखिरी दिन मोदी ने सी-प्लेन से भरी उड़ान, अंबाजी मंदिर में किए दर्शन
2 लाखों रेल कर्मचारियों के लिए बुरी खबर- मोदी सरकार ने रोकी वीआरएस पर बच्चे को नौकरी देने की स्कीम
3 पाकिस्तानी सेना, आईबी के पूर्व अफसर ने कहा- नरेंद्र मोदी गुजरात में अपनी हार का सेहरा मेरे सर बांधना चाहते हैं तो स्वागत है