ताज़ा खबर
 

जो लोग बाल ठाकरे का आदर्श जीवित नहीं रख सके, उन पर क्या बात करना? पत्रकारों को केंद्रीय मंत्री रविशंकर का जवाब

शिवसेना, राकांपा, कांग्रेस के गठबंधन पर निशाना साधते हुए प्रसाद ने कहा कि महाराष्ट्र देश का बड़ा राज्य है और मुम्बई देश की वित्तीय राजधानी । " चोर दरवाजे से देश की वित्तीय राजधानी पर कब्जा करने की साजिश थी ।" प्रसाद ने जोर दिया कि हम प्रमाणिक, स्थायी और ईमानदार सरकार देंगे।

Author November 23, 2019 5:29 PM
Ravishakar Prasad, BJP, Jansatta, TV Debateकेंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद। (फाइल फोटो)

महाराष्ट्र में सरकार गठन के संबंध में आलोचनाओं पर पलटवार करते हुए भाजपा ने शनिवार को शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस गठबंधन को चोर दरवाजे से देश की वित्तीय राजधानी पर कब्जा करने की साजिश बताया और कहा कि भाजपा के पास सरकार बनाने का चुनावी और नैतिक जनादेश है। भाजपा ने यह भी कहा कि देवेन्द्र फड़णवीस के नेतृत्व में अजित पवार के साथ नई युती (गठबंधन) और सरकार स्थायी और प्रमाणिक होगी। भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने संवाददाताओं से कहा, ”” एक स्थायी सरकार के लिये देवेन्द्र फड़णवीस के नेतृत्व में सरकार गठन के लिए अजित पवार के साथ राकांपा का एक बड़ा तबका आया।

आज सुबह भाजपा और अजित पवार ने साथ आवेदन दिया कि हमारे पास बहुमत है।” उन्होंने सवाल किया, ”क्या शिवसेना और राकांपा का कोई आवेदन राज्यपाल के पास अब तक था ? ” शिवसेना पर निशाना साधते हुए कि प्रसाद ने कहा जा रहा है कि लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। उन्होंने कहा कि जब शिवसेना स्वार्थ से प्रेरित होकर अपनी 30 साल पुरानी दोस्ती तोड़कर, अपनी विचारधारा की घोर विरोधी राकांपा और कांग्रेस का दामन थाम ले तो यह लोकतंत्र की हत्या नहीं है क्या ?

शिवसेना, राकांपा, कांग्रेस के गठबंधन पर निशाना साधते हुए प्रसाद ने कहा कि महाराष्ट्र देश का बड़ा राज्य है और मुम्बई देश की वित्तीय राजधानी । ” चोर दरवाजे से देश की वित्तीय राजधानी पर कब्जा करने की साजिश थी ।” प्रसाद ने जोर दिया कि हम प्रमाणिक, स्थायी और ईमानदार सरकार देंगे। प्रसाद ने कहा, ” जो आदरणीय बाला साहब ठाकरे के आदर्शों को जीवित नहीं रख सके उनके विषय में कुछ नहीं कहना है।”

भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि उनका :बाला साहब: प्रमाणिक कांग्रेस विरोध जग जाहिर है, उनकी राष्ट्रभक्ति और राष्ट्रवाद और भारत की संस्कृति-संस्कार के प्रति समर्पण प्रमाणिक है। उन्होंने कहा, ” महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में जनादेश भाजपा और शिवसेना गठबंधन को था और मुख्यमंत्री का मैनडेट (जनादेश) बड़ी पार्टी भाजपा और देवेंद्र फड़णवीस को था।

प्रसाद ने कहा कि शरद पवार और कांग्रेस ने परिणाम के बाद बयान दिया था कि हमें विपक्ष में बैठने का जनमत मिला है। तो ये विपक्ष में बैठने का जनमत कुर्सी के लिए मैच फिक्सिंग कैसे हो गया था ? भाजपा नेता ने कहा कि कुछ लोग छत्रपति शिवाजी की विरासत की बात कर रहे हैं, उनसे मैं बस इतना कहूंगा कि सत्ता के लिए अपने विचारों से समझौता करने वाले तो कम से कम छत्रपति शिवाजी की बात न करें। उन्होंने पूछा कि चुनाव परिणाम के बाद शिवसेना किसके इशारे पर उग्र हो गई थी ?

Next Stories
1 Maharashtra Govt Formation: मोदी है तो मुमकिन है, महाराष्ट्र में देंगे मजबूत सरकार; CM फडणवीस बोले
2 फड़णवीस का गुपचुप शपथ लेना, महाराष्ट्र के इतिहास का काला दिन, बीजेपी ने लांघी सारी शर्मिंदगी की हदें: अहमद पटेल
3 ‘कांग्रेस की साजिश का हिस्सा था गोधरा का साबरमती एक्सप्रेस अग्निकांड’, गुजरात सरकार की किताब में बड़ा दावा
क्लब हाउस चैट लीक:
X