ताज़ा खबर
 

‘ये वे लोग हैं, जो कुत्ते का मुंह तो चाटते हैं पर गाय पर संवेदना मर जाती है’, डिबेट में विरोधियों पर भड़के VHP प्रवक्ता

इसी बीच, बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा आगे बोले- देश में एक विडंबना है...यहां शेर और बाघ के लिए काम करता है, उसे पर्यावरणविद् कहा जाता है। मगर जो कुत्ते के लिए काम करता है, उसकी भी तारीफ होती है, पर गाय की बात करने वालों को निशाने पर ले लिया जाता है।

Cow, Dogs, Lion, Tiger, Vijay Shankar Tiwari, VHP, BJP, Narendra Modi, PM, Mathura, UP, Aaj Tak, Halla Bol, Debate, India News, National Newsविहिप नेता विजय शंकर तिवारी। (फाइल फोटोः fb/vhpspokesperson)

गाय के मुद्दे पर एक टीवी डिबेट में विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के नेता विजय शंकर तिवारी बुरी तरह विरोधियों पर भड़क उठे। बीच में बाकी लोगों का जिक्र करते हुए बोले कि ये वे लोग हैं, जो कुत्ते का मुंह तो चाटते हैं, लेकिन गाय की बात आती है, तब इनकी संवेदना मर जाती है।

यह मामला बुधवार (11 सितंबर, 2019) का है। हिंदी चैनल आज तक पर ‘हल्ला बोल’ कार्यक्रम में डिबेट हो रही थी। दरअसल, यूपी के मथुरा में पीएम ने एक कार्यक्रम के दौरान गाय और ऊं शब्द को लेकर बयान दिया। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों के कान ऊं और गाय शब्द के नाम पर खड़े हो जाते हैं।

इसी के संदर्भ में गाय को लेकर डिबेट में चर्चा हो रही थी। विरोधी उसमें गाय के नाम पर हिंसा और अन्य मुद्दों पर बीजेपी और मोदी को घेरने लगे। इसी पर विहिप प्रवक्ता ने कहा, “ये वे लोग हैं, जो कुत्ते का मुंह तो चांटते हैं। पर गाय पर उनकी संवेदना मर जाती है। बांसुरी का स्वर बेहद मधुर होता है, गाय में संवेदनशीलता होती है…आप में भी है।”

बकौल तिवारी, “जिसके भीतर भी संवेदनशीलता होती है, उसका बंसी से रोमांच होता है। उन्होंने कह दिया, तो उसको किसी ने काटा नहीं। ये सही भी है कि दो प्रकार की फसलें बो दें। एक को इस प्रकार के वातावरण में रखें तो वहां फसल अधिक होगी।”

उन्होंने आगे कहा, “एक पीएम वह थे, जिन्होंने कहा था- अगर गाय की हत्या पर किसी को गोबंदी का बिल पास होगा, मैं आत्महत्या कर लूंगा। दूसरे पीएम हैं, जो कहते हैं- गाय के रोग समाप्त होने चाहिए।”

इसी बीच, बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा आगे बोले- देश में एक विडंबना है…यहां शेर और बाघ के लिए काम करता है, उसे पर्यावरणविद् कहा जाता है। मगर जो कुत्ते के लिए काम करता है, उसकी भी तारीफ होती है, पर गाय की बात करने वालों को निशाने पर ले लिया जाता है।

देखें, और क्या हुआ डिबेट में:

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 महाराष्ट्र: सीट बंटवारे पर नहीं बन रही बीजेपी-शिवसेना की बात, दोनों में हो सकता है दोस्ताना संघर्ष, सेना ने दिए 288 पर लड़ने के संकेत
2 ‘सम्पूर्ण क्रांति’ पर बीजेपी सांसद आपस में उलझे, राजद सांसद बोले- ज्यादा रसूख है तो नई ट्रेन चलवा लें
3 नरेंद्र मोदी पर भड़के असदुद्दीन ओवैसी- जब गाय के नाम पर लोग मारे जाते हैं, तब PM का एंटीना खड़ा क्यों नहीं होता?
ये पढ़ा क्या?
X