ताज़ा खबर
 

Piramal Group में अजय पीरामल के ये हैं बड़े मददगार, जानिए- कौन-कौन हैं कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में?

डॉ.स्वाति ए पिरामल हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ से पढ़ाई कर चुकी है और पीरामल एंटरप्राइजेज लिमिटेड की उपाध्यक्ष हैं। इन्हें पद्मश्री पुरस्कार भी मिल चुका है।

mukesh ambani, ajya piramalअजय पीरामल, मुकेश अंबानी (Photo-indian express )

देश के जाने-माने बिजनेस एम्पायर पीरामल ग्रुप  100 से अधिक साल से भारत में कारोबार कर रहा है। कुछ साल पहले पीरामल ग्रुप के प्रमुख अजय पीरामल के पुत्र आनंद पीरामल की शादी, मुकेश अंबानी की बेटी ईशा से हुई थी। टेक्सटाइल के क्षेत्र से लेकर कई व्यवसायों में नाम कमाने वाले इस ग्रुप के प्रमुख अभी अजय पीरामल है जिनके सहयोग के लिए तीन लोगों की सलाहकार टीम है। साथ ही बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में अजय पीरामल के अलावा 12 लोग हैं।

अजय पीरामल की टीम के अन्य नाम हैं स्वाति ए पिरामल,दीपक एम सतवलेकर, गौतम बनर्जी, नारायणन वाघुल,नंदिनी पीरामल,एस रामादोराई, विजय शाह,आनंद पीरामल, राजेश लड्ढा, कुणाल बहल,सुहैल नथनी, अंजलि बंसल। डॉ.स्वाति ए पिरामल हार्वर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ से पढ़ाई कर चुकी है और पीरामल एंटरप्राइजेज लिमिटेड की उपाध्यक्ष हैं। इन्हें पद्मश्री पुरस्कार भी मिल चुका है।

दीपक एम सतवलेकर: वित्तीय सेवा के क्षेत्र से जुड़े रहे हैं। वो एचडीएफसी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक और एचडीएफसी स्टैंडर्ड लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के प्रबंध निदेशक रह चुके हैं। इन्होंने विप्रो के लिए भी काम किया है। बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में अगला प्रमुख नाम मुकेश अंबानी के दामाद आनंद पिरामल का है। आनंद ने भी हार्वर्ड से पढ़ाई की है। और पिता के व्यवसाय को तेजी से आगे बढ़ा रहे हैं।

नंदिनी पीरामल: पिरामल एंटरप्राइजेज लिमिटेड की कार्यकारी निदेशक हैं और कंपनी के ओवर-द-काउंटर (OTC) व्यवसाय का नेतृत्व करती हैं। बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स की सदस्य अंजलि बंसल अवाना ग्रुप की संस्थापक और चेयरपर्सन हैं, जो बड़े पैमाने पर प्रौद्योगिकी और नवाचार कंपनियों को उपलब्ध करवाती हैं। उन्होंने देना बैंक के लिए भी काम किया है।

राजेश लड्ढा पीरामल एंटरप्राइजेज लिमिटेड में कार्यकारी निदेशक और समूह के मुख्य वित्तीय अधिकारी हैं। कॉर्पोरेट वित्त से जुड़े कार्यो को वो देखते हैं। कुणाल बहल भारत के प्रमुख, ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस Snapdeal.com के सीईओ और सह-संस्थापक हैं, जिन्होंने प्रमुख वैश्विक निवेशकों जैसे टेमासेक के साथ मिलकर पूंजी जुटाई है। एस रामादोराई टाटा कंसल्टेंसी सर्विस में उपाध्यक्ष रह चुके हैं। वो उस कंपनी के साथ 36 साल तक जुड़े रहे थे।

Next Stories
1 इंडियन रेलवे: मुंबई और पुणे से बिहार उत्तर प्रदेश के लिए कई स्पेशल ट्रेन की घोषणा
2 Google को Oracle के साथ कॉपीराइट विवाद में मिली जीत, प्रौद्योगिकी कंपनियों ने ली राहत की सांस
3 मुख्तार अंसारी की 2 साल बाद यूपी वापसीः घर पर हामिद अंसारी के अलावा कई दिग्गजों के हैं फोटो
कोरोना:
X