ताज़ा खबर
 

BJP की संस्कृति में परिवारवाद नहीं- बंगाल में अमित शाह का दावा, ट्विटर पर लोग दिखाने लगे आईना

शाह ने कहा "बीजेपी बहुत पुरानी पार्टी है। तृणमूल कांग्रेस में सवाल नेतृत्व के अप्रोच का है। मैं मानता हूं सब के भतीजे राजनीति में नहीं हैं। बीजेपी की संस्कृति में परिवारवाद है ही नहीं। भ्रष्टाचार है ही नहीं।"

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: December 21, 2020 12:32 PM
amit shah, bengal, jai shah , BCCI, dynastic politics, trolled, BJP, mamata banarjee, west bengal, election, jansattaकेंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा बीजेपी में परिवारवाद नहीं, हुए ट्रोल। (File)

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के पश्चिम बंगाल के दो दिवसीय दौरे पर थे। वे राज्य में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों की तैयारियों का जायजा लेने के लिए बंगाल पहुंचे थे। रविवार को शाह ने पेस को संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) बहुत पुरानी पार्टी है, यहाँ परिवारवाद नहीं है। जिसके बाद सोशल मीडिया में यूजर्स ने उन्हें ट्रोल करते हुए आईना दिखाया है।

शाह ने कहा “बीजेपी बहुत पुरानी पार्टी है। तृणमूल कांग्रेस में सवाल नेतृत्व के अप्रोच का है। मैं मानता हूं सब के भतीजे राजनीति में नहीं हैं। बीजेपी की संस्कृति में परिवारवाद है ही नहीं। भ्रष्टाचार है ही नहीं।” इसपर यूजर्स ने उन्हें ट्रोल करते हुए पूछा “आपका बेटा जय शाह किस आधार पर बीसीसीआई में पहुँच गया है? क्या वह देश का सबसे अच्छा बल्लेबाज था या बेहतरीन गेंदबाजी करता था।” एक यूजर ने लिखा “अरे भाई कुछ तो शर्म करो, घर जाकर बेटे को क्या मुह दिखाओगे।”

एक यूजर ने बीजेपी के उन सभी नेताओं की तस्वीर शेयर की जिनके पिता कभी पार्टी में अच्छे पदों पर थे। पोस्ट में बीजेपी नेता पूनम महाजन, अनुराग ठाकुर, योगी आदित्यनाथ, विजय गोयल, पीयूष गोयल, वरुण गांधी, देवेंद्र फडणवीस और पंकजा मुंडे की तस्वीर उनके पिताओं के साथ लगी है।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को कहा कि नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों के प्रतिनिधियों से कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के एक-दो दिन में मुलाकात करने की संभावना है। शाह ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘मैं समय के बारे में पूरी तरह से अवगत नहीं हूं, लेकिन किसानों के प्रतिनिधियों से उनकी मांगों पर चर्चा के लिए तोमर के कल (सोमवार) या परसों (मंगलवार) मुलाकात करने की संभावना है।

अमित शाह ने कहा कि ममता बनर्जी किसानों के विरोध प्रदर्शन का समर्थन करती हैं लेकिन बंगाल के किसानों को केंद्रीय योजनाओं का लाभ मिलने की अनुमति नहीं देती हैं। मोदी जी ने देश के 10 करोड़ किसानों को 95 हजार करोड़ रुपये की सहायता विगत ड़ेढ साल के अंदर दी है। यह सहायता बंगाल के एक भी किसान को नहीं मिली क्योंकि ममता दीदी ने सूची नहीं भेजती हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 क्रिसमस पर 1800 परिवारों पर रोटी का संकट, बंद होगा जेनेरल मोटर्स का भारतीय प्लांट, सरकार ने नहीं दी चीनी कंपनी से डील को मंजूरी
2 Kisan Ekta Morcha का पेज किया ब्लॉक तो #ShameOnFacebook ट्रेंड, ‘संघी’ बता पूछने लगे लोग- क्या Reliance ने बंद करने को कहा था?
3 किसानों का आंदोलन और तेज करने का ऐलान, बताया 27 तक का प्लान
ये पढ़ा क्या?
X