ताज़ा खबर
 

जब राज्यसभा की रिपोर्टिंग करते थे हरिवंश, बोले- परिदृश्य समेत बहुत कुछ बदल गया

सभी राजनीतिक दलों को आपसी समझ से रचनात्मक सोच विकसित करनी होगी।

Author Updated: September 19, 2018 7:01 PM
राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश

राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश ने कहा है कि देश के सभी राजनीतिक दलों को आपसी समझ से रचनात्मक सोच विकसित कर देश की बुनियादी समस्याओं का हल ढूंढना होगा।
राज्यसभा के उपसभापति हरिवंश मंगलवार देर शाम अपने पैतृक गांव बलिया जिले के जयप्रकाश नगर के दलजीत टोला में अपने आवास पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे ।
राज्यसभा के उप सभापति निर्वाचित होने के बाद पहली बार अपने गांव आये हरिवंश ने कहा कि आज दुनिया मे नालेज सोसायटियां गठित हो रही है, लेकिन दुनिया मे बन रहे इस ज्ञान के समाज में देश की स्थिति चिंताजनक है ।

उन्होंने कहा कि जब वह पत्रकार के रूप मे राज्यसभा की रिपोर्टिंग करते थे तब के राज्यसभा के परिदृश्य में और अब के राज्यसभा के परिदृश्य मे काफी बदलाव आ गया है ।
हरिवंश ने कहा कि शिक्षा देश की एक बुनियादी समस्या है । भारतीय ग्रामीण परिवेश के शिक्षा पर पिछले दिनों आये एक रपट का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि यह कितना त्रासदपूर्ण स्थिति है कि ग्रामीण क्षेत्र में कक्षा नौ में पढ़ने वाला छात्र कक्षा तीन के गणित के प्रश्न को हल नही कर सकता ।

उन्होंने सवाल किया कि क्या यह पूरे देश के लिए चिंता का विषय नहीं है ? उन्होंने कहा कि समाज तेजी से बदल रहा है । उन्होंने कहा कि आज गरीब परिवार में पैदा हुआ प्रतिभावान व्यक्ति भी अपनी प्रतिभा के बल पर सबकुछ हासिल कर सकता है । सब कुछ सरकार ठीक करेगी यह सोच उचित नहीं है । देश के बुद्धिजीवियों और राजनीतिक दलों के रहनुमाओं को बुनियादी समस्याओं को हल करने के लिए सार्थक पहल करना होगा।तभी भारत दुनिया मे बन रहे ज्ञान के समाज मे प्रतिष्ठा हासिल कर सकेगा ।

Next Stories
1 गले लगाने पर घिरे सिद्धू का जवाबी हमला: इमरान गले लगाने के लिए कहेंगे तो क्या कोहली पीछे हट जाएंगे?
2 नरेंद्र मोदी के शासनकाल में तिगुना हुआ सरकारी बैंकों का ‘बैड लोन’, RBI का खुलासा
3 13 हजार करोड़ के घोटाले में फंसी देश की सबसे बड़ी लॉ फर्म, ट्रकों में लाए गए थे नीरव मोदी के कागजात!
ये पढ़ा क्या?
X