ताज़ा खबर
 

सेक्स वर्कर ने पीएम मोदी से लगाई पुराने नोट बदलवाने की गुहार, कहा – मुझे अपने देश जाना है

महिला ने अपनी आर्थिक हालत को देखते हुए उस युवक की बात मान ली। फिर युवक महिला को मुंबई के वाशी ले आया।

Author Updated: May 3, 2017 3:50 PM
इतना ही नहीं संबंध बनाने के बाद यह महिला प्रेग्नेंट भी हो गई।

पुणे का बुधवार पेठ इलाका शहर का सबसे बड़ा रेडलाइट एरिया है। शाम होते ही यहां सेक्स वर्करो की महफिल सज जाती है। जिस्म की इस मंडी में कई सेक्स वर्कर पैसों के लिए धंधा करती हैं तो कईयों को नौकरी के बहाने धोखे से यहां लाया जाता है। दिसंबर 2015 में एक ऐसा ही मामला सामने आया था, जब एक युवती को बांग्लादेश से नौकरी का झांसा देकर यहां लाया गया था और फिर इस जिस्म की मंडी में बेच दिया गया था। लेकिन एक बाद में एक एनजीओ की मदद से उसे वहां से छुड़ा लिया गया था।

अब इस महिला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्वीट कर और चिट्ठी लिखकर मांग की है कि उसे अपने देश में वापिस जाने के लिए मंजूरी मिल गई है। इस दौरान जो उसने भारत में रुपये कमाएं हैं वो पुराने नोट हैं। जोकि नोटबंदी के बाद से उनका चलन बंद हो गया है। बांग्लादेशी महिला ने पीएम से मांग की है कि उसके पास 10000 रुपये पुराने नोट हैं, जिसे वो बदलना चाहती है। युवती ने पीएम मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को महिला ने चिट्ठी लिखकर कहा है कि उसने ये पैसे अपने ग्राहकों से टिप्स के रुप में कमाए हैं। नोटबंदी के समय उसके 10000 रुपये वेश्यालय के मालिक के पास थे। जिस कारण वो बदल नहीं पाई। लेकिन अब वो अपने देश जाने से पहले अपने पैसे बदलवाना चाहती है।

बांग्लादेशी महिला का कहना है कि भारत आने से पहले वो अपने शादी-शुदा जीवन में भी अपमानजनक हालत में थी। कुछ समय बाद उसके पति ने उसे तलाक दे दिया। बाद में घर का गुजारा चलाने के लिए उसने एक कपड़े की कारखाने में नौकरी पकड़ ली। वहां उसे 9000 रुपये वेतन मिलता था। जिससे वो अपने माता-पिता का देखभाल करती थी। इसी दौरान उनके एक जानकार ने उसे भारत में नौकरी दिलाने की बात कही। उसने महिला को बताया वो उसे 15000 रुपये वेतन दिलाएगा।

महिला ने अपनी आर्थिक हालत को देखते हुए उस युवक की बात मान ली। फिर युवक महिला को मुंबई के वाशी ले आया। जहां उसे नेपाली महिला को 5000 रुपये में बेच दिया। इसके बाद उसे बेंगलौर में एक अन्य महिला को बेच दिया गया। इसके बाद वहां उसे वेश्यावृति में धकेल दिया गया। जब बांग्लादेशी महिला ने इसका विरोध किया तो उसे आश्वासन दिया गया कि उसे वापिस बांग्लादेश ले जाया जा रहा है। लेकिन उसे पुणे के बुधवार पेठ में बेच दिया गया।

बुधवार पेठ में काफी अत्याचार के बाद एक एनजीओ की मदद से उसे डेढ़ साल बाद छुड़ाया गया। अब बांग्लादेशी महिला को अपने देश वापिस जाने की मंजूरी दे दी गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 राष्ट्रऋषि की उपाधि पर बोले पीएम मोदी- बाबा रामदेव ने मुझे दिया सरप्राइज और बढ़ा दी मेरी जिम्मेदारी
2 मुंबई: लोगों को ना हो परेशानी इसलिए सीएम ने की नाइट शिफ्ट, आधी रात को मेट्रो की काम का जायजा लेने निकले देवेन्द्र फडणवीस
3 आम आदमी पार्टी में कुमार विश्‍वास का प्रमोशन, उन्‍हें बीजेपी एजेंट बताने वाले विधायक सस्‍पेंड
ये पढ़ा क्‍या!
X