देशभर में फैली है महंत नरेंद्र गिरी के मठ की संपत्ति, जुड़ा है 300 साल का इतिहास

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और निरंजनी अखाड़ा के सचिव महंत नरेंद्र गिरि के पास यूपी समेत 4 राज्यों में अकूत संपत्ति का मालिकाना हक रहा। निरंजनी अखाड़ा और बाघंबरी गद्दी की करीब 3 हजार करोड़ की संपत्ति होने का अनुमान है।

Narendra Giri
महंत नरेंद्र गिरि (फाइल फोटो एक्सप्रेस)

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और निरंजनी अखाड़ा के सचिव महंत नरेंद्र गिरि के पास यूपी समेत 4 राज्यों में अकूत संपत्ति का मालिकाना हक रहा। निरंजनी अखाड़ा और बाघंबरी गद्दी की करीब 3 हजार करोड़ की संपत्ति होने का अनुमान है। संपत्ति को लेकर ही महंत नरेंद्र गिरि और उनके शिष्य आनंद गिरि के बीच काफी समय तक विवाद चला। हालांकि बाद में दोनों के बीच सुलह हो गई थी।

निरंजनी अखाड़ा 900 साल और बाघंबरी गद्दी 300 साल पुरानी है। प्रयागराज के अल्लापुर इलाके में स्थित बाघंबरी गद्दी मठ है। ये मठ करीब 5-6 बीघे जमीन में बना है। यहां निरंजनी अखाड़े के नाम का एक स्कूल और गौशाला है। अल्लापुर के पास दारागंज में भी अखाड़े की जमीन है। प्रयागराज के संगम तट पर हनुमान जी का मंदिर बाघंबरी मठ का ही है। लेटे हुए हनुमान जी के मंदिर में देश भर से भक्त दर्शन करने आते हैं। एक अनुमान है कि इस मंदिर से मठ को बहुत मोटी आमदनी होती है। साल भर में लाखों की तादाद में लोग दर्शनों के लिए देश के कोने-कोने से यहां आते हैं।

एमपी की कुंभ नगरी उज्जैन और ओंकारेश्वर में निरंजनी अखाड़े की 250 बीघा जमीन के साथ बहुत से मठ व आश्रम हैं। नासिक में 100 बीघे से ज्यादा जमीन, कई आश्रम और मंदिर हैं। बड़ोदरा, जयपुर, माउंट आबू में भी करीब 125 बीघा जमीन के साथ बहुत से मंदिर और आश्रम बने हैं। हरिद्वार में भी कई मठ और मंदिर हैं। नोएडा, काशी में भी करोड़ों की जमीन है।

प्रयागराज और उसके आस-पास के इलाकों में निरंजनी अखाड़े के मठ, मंदिर और जमीन हैं। इनकी कीमत 300 करोड़ से ज्यादा की है। बाघंबरी मठ के नाम प्रयागराज के मांडा में भी 100 बीघा जमीन है। मिर्जापुर समेत यूपी के कई जिलों में मठ की जमीनें हैं। उत्तराखंड के हरिद्वार और अन्य राज्यों में भी कई संपत्तियां हैं, जिनकी कीमत हजार करोड़ से ज्यादा है।

गौरतलब है कि कुछ समय पहले महंत नरेंद्र गिरि ने बाघंबरी गद्दी की 8 बीघा जमीन बेची थी। उसका हिसाब कोर्ट में दिया गया। लेकिन अखाड़े से निष्कासन के बाद आनंद गिरि ने आरोप लगाया था कि 2012 में नरेंद्र गिरि ने गद्दी की 8 बीघा जमीन सपा के तत्कालीन विधायक को 40 करोड़ रुपए में बेच दी थी। यह जमीन प्रयागराज के अल्लापुर इलाके में है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट