ताज़ा खबर
 

‘द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ पर भड़के पूर्व नैशनल सिक्योरिटी एडवाइजर, बोले- 80 प्रतिशत दावे झूठे

पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार एम. के. नारायणन ने मंगलवार को कहा कि किताब ‘द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर : द मेकिंग एंड अनमेकिंग ऑफ मनमोहन सिंह’ में किये गए 80 प्रतिशत दावे ‘‘झूठे’’ हैं। विवादास्पद किताब के लेखक संजय बारू की आलोचना करते हुए नारायणन ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार इतने बड़े कद के नहीं थे।

The Accidental Prime Minister का पोस्‍टर।

पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार एम. के. नारायणन ने मंगलवार को कहा कि किताब ‘द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर : द मेकिंग एंड अनमेकिंग ऑफ मनमोहन सिंह’ में किये गए 80 प्रतिशत दावे ‘‘झूठे’’ हैं। विवादास्पद किताब के लेखक संजय बारू की आलोचना करते हुए नारायणन ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार इतने बड़े कद के नहीं थे। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के करीबी माने जाने वाले पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) ने आरोप लगाया कि बारू ने 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान पैसा कमाने के लिए किताब लिखी। भारत चैंबर ऑफ कॉमर्स के साथ एक सत्र में नारायणन ने कहा कि यह किताब पूरी तरह झूठ पर आधारित है। उनके 80 प्रतिशत दावे झूठे हैं। (सरकार में) वह इतने बड़े नहीं थे। उनका कोई महत्व नहीं था। उन्होंने आरोप लगाया कि मीडिया सलाहकार के तौर पर बारू सही से काम नहीं कर पाए और 2008 में चले गए क्योंकि उन्हें लगा कि कांग्रेस नीत संप्रग सरकार सत्ता में वापस नहीं आएगी। पूर्व आईपीएस अधिकारी ने कहा, ‘‘(किताब की) विषयवस्तु पूरी तरह उनका अपना नजरिया है।’’ मनमोहन सरकार की बड़ी उपलब्धियों में से एक भारत-अमेरिका परमाणु समझौते में नारायणन की महत्वपूर्ण भूमिका रही थी।

बता दें इस फिल्म को लेकर काफी विवाद देखने को मिला है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस फिल्म पर प्रतिक्रिया देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसा था। उन्होंने कहा था कि ”अगर एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर पर फिल्म है तो डिजास्ट्रस प्राइम मिनिस्टर टाइटल से भी एक फिल्म बननी चाहिए। यह भविष्य में बनाई जाएगी। किसी को बख्शा नहीं जाएगा।” वहीं फिल्म में पूर्व पीएम डॉ. मनमोहन सिंह का किरदार निभाने वाले अनुपम खेर ने भी कांग्रेस पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा था और ट्विटर के जरिए राहुल गांधी पर बरसे थे। अनुपम खेर ने कांग्रेसियों द्वारा एक थिएटर में तोड़फोड़ के बाद ट्वीट किया था। उसमें उन्होंने लिखा था कि, डियर राहुल गांधी, मुझे नहीं लगता कि थिएटर में चल रही ‘द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के दौरान तोड़फोड़ करने वाले आपके समर्थकों ने आपके द्वारा किए गए फ्रीडम ऑफ एक्सप्रेसन के ट्वीट पढ़े होंगे।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 केरल: मोदी का लेफ्ट सरकार पर हमला- कम्युनिस्ट भारत की संस्कृति, इतिहास का सम्मान नहीं करते
2 सामान्य वर्ग को आरक्षण: सरकार का ऐलान- उच्च शिक्षा संस्थानों और विश्वविद्यालयों में बढ़ाई जाएंगी 25 पर्सेंट सीटें
3 Indian Railways: यात्रियों के लिए खुशखबरी, हर रेलवे डिविजन में मार्च तक बनेगा एक ‘मॉडल स्टेशन’, जानें खासियत