ताज़ा खबर
 

मुंबई: भाई के हाथों 14 परिजनों का कत्ल देखने वाली लड़की ने सुनाई आंखों देखी और अपने बचने की कहानी

सुबिया ने अपने बयान में पूरा घटनाक्रम दोहराया, कि कैसे उसके भाई की ओर से दी गयी दावत में परिवार के सभी लोगों ने मजे किए और फिर सभी सोने चले गए, जिसके बाद हसनैन ने सबकी हत्या कर दी।

Author ठाणे | March 3, 2016 1:25 AM
हसनैन वारेकर (35) ने रविवार को अपने पूरे परिवार को नशा युक्त पेय पिलाया। फिर अपने माता-पिता, पत्नी, बहनों और बच्चों सहित परिवार के 14 लोगों की चाकू से गला काट कर हत्या कर दी। (एपी फोटो)

ठाणे में रविवार को अपने भाई द्वारा परिवार के 14 लोगों की हत्या किए जाने के उस डरावने मंजर के बारे में सुबिया बारमर ने पुलिस को बताया कि उसने अपने भाई को डरावने तरीके से ‘‘खून से सना चाकू’’ लेकर उसकी ओर बढ़ते देखा। वह कह रहा था कि अब मरने की तुम्हारी बारी है।

ठाणे के कसारवाड़ावाली इलाके में रहने वाली सुबिया के भाई हसनैन वारेकर (35) ने रविवार को अपने पूरे परिवार को नशा युक्त पेय पिलाया। फिर अपने माता-पिता, पत्नी, बहनों और बच्चों सहित परिवार के 14 लोगों की चाकू से गला काट कर हत्या कर दी। बाद में उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

उस खौफनाक मंजर को याद करते हुए सुबिया (22) ने मामले की जांच कर रही ठाणे पुलिस की टीम को बताया कि ‘‘उसने अपने भाई को हाथ में खून से सना चाकू लेकर बढ़ते हुए देखा, वह चिल्ला रहा था कि उसने परिवार में सबको मार दिया है और अब उसकी बारी है।’’

जांच से जुड़े पुलिस सूत्रों ने बताया कि लेकिन भाग्य की बात है कि हसनैन जब सुबिया के करीब आया तो उसने अपने भाई को दरवाजे से बाहर धक्का दे दिया। लेकिन इस बीच सुबिया की गर्दन पर चाकू का जख्म लग गया था और बायीं हाथ की अंगुलियां भी कट गयी थीं।

सुबिया ने अपने बयान में पूरा घटनाक्रम दोहराया, कि कैसे उसके भाई की ओर से दी गयी दावत में परिवार के सभी लोगों ने मजे किए और फिर सभी सोने चले गए, जिसके बाद हसनैन ने सबकी हत्या कर दी।

सुबिया ने बताया कि तड़के करीब तीन बजे, उसे कुछ आवाज सुनी और हल्की रोशनी में अपने भाई को एक-एक करके परिवार के सभी लोगों का गला काटते हुए और फिर उसकी ओर बढ़ते देखा। उसने कहा, उसने खुद को कमरे में बंद कर लिया और चिल्लायी। पड़ोसियों ने चीख सुनी और वहां पहुंचे तथा उसे अस्पताल ले गए। वह अभी भी अस्पताल में है।
उसने पुलिस को बताया, ‘‘मुझे बाद में पता चला कि मेरे भाई ने आत्महत्या कर ली।’’

इसबीच परिवार के एक करीबी रिश्तेदार लियाकत धोले ने को बताया कि ठाणे के कोंकणी मुसलमान में में 42 गांवों में वारेकर बहुत सम्मानित परिवार था। उन्होंने कहा, ‘‘मैं एक बात कह सकता हूं कि, अल्लाह की यही मर्जी थी कि वह सभी को कहानी बताने के लिए जिंदा रहे… इसलिए शैतान ने उसे छोड़ दिया।’’

इससे पहले संयुक्त पुलिस आयुक्त आशुतोष दमबारे ने कहा था कि वे हत्या के कारणों को लेकर संपत्ति विवाद, मनोवैज्ञानिक परेशानी सहित सभी पहलूओं की जांच कर रहे हैं। पुलिस को पड़ोसियों से पता चला है कि हसनैन बकरों की कुर्बानी दिया करता था, और उसे पता था कि चाकू का प्रयोग कैसे करना है। अपराध के लिए इसी चाकू का प्रयोग किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App