ताज़ा खबर
 

ठाणे हत्‍याकांड: 15 लोगों के शव देखकर हुई फोटोग्राफर की मौत, जिंदा बची सुबिया के गले पर 25 टांके

हत्‍याकांड में जिंदा बची सुबिया भारमार ने बताया कि उसके घर में ऐसी पार्टी होती रहती थीं। उसके गले पर 25 टांके आए हैं।

Author ठाणे | Updated: February 29, 2016 4:53 PM
शनिवार रात 12 बजे ठाणे के घोरबंदर रोड इलाके में एक शख्‍स ने पार्टी के बहाने परिवार के सदस्‍यों को घर बुलाकर गोश्‍त काटने वाले चाकू से हत्‍या करके खुदकुशी कर ली थी।

महाराष्ट्र के ठाणे में एक ही परिवार 14 लोगों की हत्‍या को कवर करने गए फोटोग्राफर की मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि इतने सारे शवों को एक साथ देखकर उसे दिल का दौरा पड़ा और उसने मौके पर दम तोड़ दिया। फोटोग्राफर का नाम राधेश्याम भौमिक बताया जा रहा है। वह ठाणे के सिविल अस्‍पताल पहुंचा था, जहां सभी 15 शवों को लाया गया था। फोटोग्राफर की एक साल पहले एंजियोप्‍लास्‍टी हुई थी।

शनिवार रात 12 बजे ठाणे के घोरबंदर रोड इलाके में एक शख्‍स ने पार्टी के बहाने परिवार के सदस्‍यों को घर बुलाकर गोश्‍त काटने वाले चाकू से हत्‍या करके खुदकुशी कर ली थी। पुलिस के मुताबिक वारदात में घर की एक मेंबर (आरोपी की बहन) बच गई। बताया जाता है कि फैमिली से नफरत के चलते आरोपी ने ऐसा किया। उसने दो साल पहले भी कोशिश की थी।

पुलिस के मुताबिक आरोपी का नाम हसनैन वारेकर है, जो कि पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट था। मारे गए लोगों के खाने में जहर मिलाए जाने का भी शक है। इसके चलते फैमिली मेंबर बेहोश हो गए, जिसके बाद उसने एक-एक करके सभी का कत्‍ल कर दिया था। ठाणे के कॉरपोरेटर मणेरा ने बताया कि दो साल पहले हसनेन किसी तांत्रिक से दवाई के नाम पर कुछ लाया था। उसने वह खाने में मिलाकर पूरे परिवार को खिला दी थी। इसके बाद सात लोगों को गंभीर हालत में एडमिट कराया गया था और बमुश्किल इनकी जान बची थी। पुलिस की प्राइमरी रिपोर्ट के मुताबिक, हसनैन ने अपनी बहन से कहा था कि वह सबसे नफरत करता है और एक दिन सबको मार डालेगा।

ठाणे के ज्वाइंट सीपी आशुतोष डूमरे ने कहा, ‘मर्डर के पीछे कोई परिवारिक वजह हो सकती है। गांववालों-रिश्तेदारों से बात की जा रही है। जांच के बाद ही हो साफ हो पाएगा कि ऐसा क्यों किया।’ सूत्रों के मुताबिक, इस वारदात में जिंदा बची आरोपी की बहन सुबिया भारमार (21) ने पुलिस को बताया है कि उसके घर में ऐसी पार्टी होती रहती थी। ठाणे के डीसीपी चंदन शिवे ने कहा, ‘पड़ोसियों ने बताया कि रात में 2 से 3 के बीच घर से चिल्लाने की आवाज आई। सुबिया घर में सबसे छोटी है।’ लोग वहां पहुंचे तो देखा कि ग्रिल के पास सुबिया चिल्ला रही है। लोगों ने खिड़की तोड़कर उसे बाहर निकाला।’ सुबिया के गले पर 25 टांके लगे हैं। वह अब भी डरी हुई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
जस्‍ट नाउ
X