ताज़ा खबर
 

डीयू और एएमयू समेत दस की वेबसाइटें हैक, लिख दिया पाकिस्तान जिंदाबाद

हैकर समूह ने अपना नाम ‘पाकिस्तान हैकर्स क्रू (पीएचसी)’ बताया है।

Author नई दिल्ली | April 26, 2017 2:22 AM
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

देश के चार प्रमुख शिक्षण संस्थानों दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू), अलीगढ़ मुसलिम विश्वविद्यालय (एएमयू), आइआइटी दिल्ली और आइआइटी बीएचयू की वेबसाइटों सहित दस आधिकारिक वेबसाइटों को मंगलवार को हैक कर लिया गया। हैकरों ने उन पर ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे पोस्ट कर दिए। हैकर समूह ने अपना नाम ‘पाकिस्तान हैकर्स क्रू (पीएचसी)’ बताया है। उन्होंने अपने संदेश में लिखा, ‘कुछ भी हटाया या चुराया नहीं गया। केवल भारतीयों तक अपना संदेश पहुंचाने के लिए यहां हैं।’ हैक की गई दूसरी वेबसाइटों में कोटा विश्वविद्यालय, ग्रेटर नोएडा स्थित आर्मी इंस्टीट्यूट आॅफ मैनेजमेंट एंड टेक्नोलॉजी, डिफेंस इंस्टीट्यूट आॅफ एडवांस्ड टेक्नोलॉजी, कोलकाता स्थित आर्मी इंस्टीट्यूट आॅफ मैनेजमेंट, नेशनल एअरोस्पेस लेबोरेट्रीज और बोर्ड आॅफ रिसर्च इन न्यूक्लियर साइंसेज (बीआरएनएस) शामिल हैं।

इन वेबसाइटों पर लिखे संदेश में कहा गया, ‘भारत सरकार और भारत की जनता का अभिवादन। क्या आपको पता है कि आपके तथाकथित नायक (सैनिक) कश्मीर में क्या कर रहे हैं? क्या आप जानते हैं कि वे कश्मीर में कई बेगुनाह लोगों को मार रहे हैं।’ संदेश में लिखा है, ‘क्या आपको पता है कि उन्होंने कई लड़कियों के साथ बलात्कार किया है? क्या आप जानते हैं कि वे बाकीआज भी कश्मीर में लड़कियों के साथ बलात्कार कर रहे हैं? अगर आपके भाई, बहन, पिता और माता को मार दिया जाए तो आप कैसा महसूस करेंगे? अगर कोई आपकी मां या बहन के साथ बलात्कार करेगा तो आपको कैसा लगेगा? क्या आपकी जिंदगी और आपका परिवार तबाह नहीं हो जाएगा?’ इन संदेशों में दो वीडियो हैं, जिनके साथ ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के कैप्शन लिखे हैं। वीडियो में कथित तौर पर सेना को कश्मीर में ज्यादती करते और इसे लेकर लोगों को प्रदर्शन करते दिखाया गया है।

दिल्ली विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार तरुण दास ने कहा, ‘डोमेन नेम में कुछ समस्या आने के कारण थोड़े समय के लिए परिसर के बाहर वेबसाइट नहीं खुल रही थी। सर्वर गलत तरीके से दूसरी साइट दिखा रहे थे।’ उन्होंने कहा, ‘समस्या का पता लगा लिया गया और तत्काल एर्नेट से संपर्क कर इसे ठीक कर लिया गया, उसने दिल्ली विश्वविद्यालय के लिए डोमेन नेम मुहैया करा दिया।’ वहीं एएमयू के प्रवक्ता ने कहा कि मामला उनके संज्ञान में लाया गया है। उनका आइटी विभाग इसे देख रहा है।इस संबंध में दोनों आइआइटी के अधिकारियों से बात नहीं हो सकी।

 

2008 मालेगांव ब्लास्ट: बॉम्बे हाई कोर्ट ने साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को दी जमानत

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App