ताज़ा खबर
 

पंजाब में कर्फ्यू तोड़ने वालों के लिए बनाईं गईं टेंपरेरी जेल, हरियाणा में बीपीएल परिवार को पांच हजार की मदद

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने आज बताया कि राज्य सरकार ने गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों को हर महीने 5000 रुपये देने का फैसला किया है।

हरियाणा में कोरोना के चलते लॉकडाउन को बढ़ाया गया है। (एक्सप्रेस फोटो)।

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने आज बताया कि राज्य सरकार ने गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों को हर महीने 5000 रुपये देने का फैसला किया है। सरकार का कहना है कि कोरोना को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन से जिन परिवारों की आजीविका पर असर पड़ा है उनको इससे मदद मिलेगी। इस बीच पंजाब के लुधियाना में कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वाले लोगों के लिए चार अस्थायी जेल बनाई गई हैं। ये जेल बहादुर नगर के न्यू एसडी स्कूल, पाखोवाल रोड के इनडोर स्टेडियम, मोती नगर के गुरु नानक स्टेडियम और वाल्मीकि भवन में बनाई गईं हैं। ये जानकारी उपायुक्त वरिंदर शर्मा ने दी।

गौरतलब है कि हरियाणा में 17 मई तक लॉकडाउन बढ़ दिया गया है। इस दौरान सिर्फ 11 लोगों को किसी की शादी और अंतिम संस्कार में शामिल होने की इजाजत होगी। सरकार ने कोरोना को रोकने के लिए पाबंदियों को सख्त कर दिया है। राज्य सरकार ने रविवार 10 मई से 17 मई की देर शाम तक “महामारी अलर्ट / सुरक्षित हरियाणा” लॉकडाउन की घोषणा की। राज्य भर में शराब की दुकानें भी 17 मई तक बंद रहेगी।

रविवार शाम को लॉकडाउन की घोषणा करते हुए, अनिल विज ने ट्वीट किया, “महामारी अलर्ट / सूरक्षित हरियाणा 10 मई से 17 मई तक लागू रहेगा। हरियाणा में कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए कड़े कदम उठाए जाएंगे। ”

सरकार का कहना है कि इस दौरान सभी शैक्षणिक, प्रशिक्षण, कोचिंग संस्थान आदि भी बंद रहेंगे। सभी सिनेमा हॉल, मॉल, शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, व्यायामशाला, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, स्विमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर, बार और ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल और इसी तरह के स्थान भी बंद रहेंगे।

बता दें कि मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पंजाब के लिए ऑक्सीजन का कुल कोटा 300 मीट्रिक टन (MT) करने और “कोविड वैक्सीन की तत्काल आपूर्ति” बढ़ाने का आग्रह भी किया। एक बयान में कहा गया है कि जब पीएम मोदी ने पंजाब सीएम से राज्य की कोविड की स्थिति और संकट से निपटने के लिए चर्चा की तो पंजाब सीएम ने अपनी मांग रखी।

प्रधानमंत्री ने उन्हें हर संभव मदद का आश्वासन दिया, मुख्यमंत्री ने बाद में कहा, उन्होंने उम्मीद जताई कि केंद्र राज्य में ऑक्सीजन की आपूर्ति को पूरा करने के लिए तत्काल कदम उठाएगा, और यह सुनिश्चित करने के लिए कि पंजाब को वैक्सीन की खुराक प्राथमिकता से भेजी जाए।

Next Stories
1 बिहारः गंगा में बहकर आए 40 शव घाट पर हुए जमा, बक्सर प्रशासन बोला-ये यूपी से आए, हमीरपुर में दिखा था ऐसा ही नजारा
2 कोरोनाः CWC की मीटिंग में कांग्रेस प्रेसिडेंट चुनाव को टालने पर रजामंदी, तय शेड्यूल में 23 जून को होनी थी वोटिंग
3 रोते हुए महिला ने सुनाई आपबीती- अस्पताल कर रहा ऑक्सीजन की कालाबाजारी, कहा- वार्ड ब्वॉय से मांगी मदद तो खींचने लगा दुपट्टा
ये  पढ़ा क्या?
X