Teachers Day पर वायरल हो रहा कुमार विश्वास के स्टाइल में पढ़ाने वाले सर का VIDEO

कुछ महीने पहले राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इनकी तारीफ करते हुए ट्वीट में लिखा था कि परमेश्वर यादव जी को मेरा सलाम, जो शिक्षा में नये रंग डालने की कोशिश कर रहे हैं। हमारे राज्य में प्रतिभावान शिक्षकों की कमी नहीं है, जरूरत है उन्हें ढूंढकर पटल पर लाने की।

Teachers Day, Hemant Soren, Parmeshwar Yadav, Parimal Kumar
पत्रकार उत्कर्ष सिंह ने इस टीचर का पढ़ाते हुए वीडियो शेयर किया। साथ ही लिखा- काश हमारे टीचर भी डस्टर से मारने की बजाय ऐसे गाकर पढ़ाते।

शिक्षक दिवस 5 सितंबर को होता है। इसी बाबत शनिवार को देश भर में छात्रों ने अपने गुरुओं, टीचर्स और मार्गदर्शकों को याद कर उन्हें धन्यवाद दिया। ऐसे में ही गिरडीह के एक गणित के अध्यापक का वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वे कुमार विश्वास की तरह गा कर बच्चों को गणित पढ़ा रहे हैं।

पत्रकार परिमल कुमार ने अपने ट्विटर हैंडल से वीडियो साझा करके लिखा, “गज़ब। कुमार विश्वास के अंदाज़ की हू ब हू स्टाइल। लग रहा है मानो आवाज़ भी मिलती जुलती हो। बच्चे जैसे सीखें..तरीका वही होना चाहिए। मेरे शिक्षकों को भी मेरा नमन। शिक्षक दिवस की शुभकामनायें”

झारखण्ड के शिक्षक परमेश्वर यादव ने अपने छात्रों को पढ़ाने के लिए कुमार विश्वास की काव्यपाठ करने की शैली की नकल की है। अध्यापन के प्रति उनके इस समर्पण के लिए उनकी सोशल मीडिया पर तारीफ़ हो रही है। कई ट्विटर यूजरों ने उन्हें प्रणाम किया है। इनका एक वीडियो कई दिन पहले भी वायरल हुआ था जिसमें ये बच्चो को अंग्रेजी वर्णमाला पढ़ा रहे थे। तब राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने इनकी तारीफ करते हुए ट्वीट में लिखा था कि परमेश्वर यादव जी को मेरा सलाम, जो शिक्षा में नये रंग डालने की कोशिश कर रहे हैं। हमारे राज्य में प्रतिभावान शिक्षकों की कमी नहीं है, जरूरत है उन्हें ढूंढकर पटल पर लाने की। गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए शिक्षक आगे आयेंगे तो हमारा झारखण्ड और बच्चे जरूर आगे बढ़ेंगे।


ट्विटर यूजर सुमित रावल ने लिखा है कि विद्यार्थियों को पूरे-पूरे गाने जल्दी याद हो जाते है जबकि गणित के छोटे छोटे फार्मूले भी याद करना दुनिया का सबसे कठिन काम लगता है। बात रुचि की है। विद्यार्थियो के लिए गणित को गाने में पढ़ाकर इन शिक्षक ने इसे रुचिकर बना दिया है। ऐसे शिक्षकों को नमन। इनके प्रयास आउट ऑफ द बॉक्स है।

एक अन्य यूजर प्रशांत शेखर ने लिखा है कि एक शिक्षक ही तो होता है जो अपने बच्चे के बारे में उसकी मां से भी ज्यादा जानता है। नमन है ऐसे शिक्षक को, जो हमारे समाज को अग्रणी बनाने को भूमिका ऐसे महत्वपूर्ण कविताओं द्वारा निभा रहे हैं। इसमें कोई दो राय नहीं कि इनका समर्पण आचार्य रामचंद्र शुक्ल की याद दिलाता है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट