ताज़ा खबर
 

TDP vs BJP UPDATES: पार्टियों के बीच तनाव जारी, टीडीपी के मंत्री करेंगे पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात

TDP vs BJP Alliance Latest News, Andhra Pradesh CM N Chandrababu Naidu: दोनों पार्टियों के बीच तनाव वित्त मंत्री अरुण जेटली के बयान के बाद और भी ज्यादा बढ़ गया है। अरुण जेटली ने बुधवार को टीडीपी सांसदों की मांग को खारिज कर दिया था।

संसद के बाहर टीडीपी का विरोध प्रदर्शन (PTI फोटो)

तेलुगु देशम पार्टी और बीजेपी के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है। गुरुवार को केंद्रीय कैबिनेट से टीडीपी के दो मंत्रियों (अशोक गजपति राजू और वाई. सत्यनारायण चौधरी) ने इस्तीफा दे दिया तो वहीं आंध्र प्रदेश की कैबिनेट से बीजेपी के दो मंत्रियों (के श्रीनिवास और पी मणिक्याला) ने इस्तीफा दे दिया। दरअसल, टीडीपी की ओर से पिछले चार सालों से आंध्र प्रदेश के लिए विशेष दर्जे की मांग की जा रही है। दोनों पार्टियों के बीच तनाव वित्त मंत्री अरुण जेटली के बयान के बाद और भी ज्यादा बढ़ गया है। अरुण जेटली ने बुधवार को टीडीपी सांसदों की मांग को खारिज कर दिया था। उन्होंने कहा था कि आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा नहीं दिया जा सकता, स्पेशल पैकेज दिया जा सकता है। उनके इस बयान के बाद आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए अपना गुस्सा जाहिर किया था और कहा था कि केंद्रीय कैबिनेट से टीडीपी के दो मंत्री पी अशोक गजपति राजू और वाई. सत्यनारायण चौधरी इस्तीफा देंगे।

टीडीपी नेता नेता और सांसद एजी राजू और सत्यनारायण चौधरी शाम करीब 6 बजे पीएम मोदी से मुलाकात कर सकते हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सीएम नायडू से फोन पर बात की है। सीएम ने पीएम मोदी को टीडीपी मंत्रियों द्वारा दिए गए इस्तीफे पर सारी जानकारी दी है और कारण बताया है कि आखिर क्यों मंत्रियों ने इस्तीफा दिया। टीडीपी के मंत्री आज शाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर सकते हैं। टीडीपी के नेता वाईएस चौधरी ने कहा कि वह और उनके सहयोगी अशोक गजपति राजू भले ही मंत्री पद छोड़ रहे हों लेकिन उनका दल एनडीए का हिस्सा बना रहेगा। उन्होंने कहा कि यह कदम ‘‘अपरिहार्य परिस्थितियों’’ के कारण उठाना पड़ा। इस फैसले की दुर्भाग्यपूर्ण तलाक से तुलना करते हुए विज्ञान एवं प्रोद्यौगिकी राज्यमंत्री चौधरी ने कहा कि वह और नागरिक उड्डयन मंत्री राजू आंध्र प्रदेश से सांसद के तौर पर काम जारी रखेंगे।

चौधरी ने गुरुवार को संवाददाताओं से कहा, ‘‘हम विवाह के समय प्रसन्न होते हैं न कि तलाक के वक्त। यह एक अच्छा कदम नहीं है लेकिन दुर्भाग्य से अपरिहार्य परिस्थितियों की वजह से हमें यह कदम उठाना पड़ा है। हम मंत्री पद छोड़ रहे हैं लेकिन हमारे अध्यक्ष ने कहा है कि पार्टी राजग का हिस्सा बनी रहेगी।’’ उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की खूबसूरती होती है एकात्मकता लाना और सभी को प्रसन्न रखना और इसकी जिम्मेदारी भाजपा की है।

आंध्रप्रदेश विधानसभा में बोलते हुए बीजेपी मंत्री श्रीनिवास ने कहा कि उनका राजनीतिक करियर 1982 में टीडीपी में शुरू हुआ था। पेशे से डॉक्टर श्रीनिवास ने कहा, ‘‘पार्टी में मेरा पंजीकरण सदस्यता नंबर 80 था। कुछ साल तक पार्टी की सेवा के बाद तीन दशक तक राजनीति से दूर रहा। (अब उपराष्ट्रपति) वेंकैया नायडू के आमंत्रण पर मैं 2014 में भाजपा में शामिल हुआ और विधायक बना।’’ उन्होंने संतोष जताया कि बिना किसी शिकायत के उन्होंने मंत्री के रूप में अपना दायित्व निभाया। श्रीनिवास ने कहा, ‘‘मुख्यमंत्री ने जब मुझसे कहा कि मेरे खिलाफ एक भी शिकायत नहीं हुई तो मुझे बहुत खुशी हुई।’’ इससे पहले दिन में कई मंत्रियों ने भाजपा के दोनों सदस्यों से उनके चैंबर में मुलाकात की और दोस्ताना बातचीत की।

दिल्ली में संसद के सामने स्थित महात्मा गांधी की मूर्ति के सामने टीडीपी सांसदों द्वारा इस मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। पार्टी नेता जयदेव गल्ला ने कहा, ‘अन्य पार्टियां जिन्हें हमसे सहानुभूति है, उन्होंने भी अन्य मुद्दों को लेकर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया है, लेकिन वह हमारे साथ हैं।’

आंध्र प्रदेश कैबिनेट से बीजेपी मंत्री कामिनेनी श्रीनिवास जो कि स्टेट हेल्थ मिनिस्टर थे उन्होंने इस्तीफा दे दिया और राज्य एंडोमेंट मिनिस्टर पायदिकोंडाला मणिक्याला राव ने भी इस्तीफा दे दिया।

अरुण जेटली पर हमला बोलते हुए नायडू ने कहा, ‘जो कुछ भी वित्त मंत्री ने कल कहा वह सही नहीं था। आप लोग उत्तर-पूर्वी राज्यों का हाथ थाम रहे हैं और आंध्र प्रदेश का नहीं। आप उन्हें औद्योगिक प्रोत्साहन दे रहे हैं, लेकिन आंध्र प्रदेश को नहीं। ऐसा भेदभाव क्यों?’

गुरुवार से आंध्र प्रदेश विधानसभा के बजट सेशन की शुरुआत हुई। इस सेशन के पहले दिन ही नायडू ने कहा, ‘केंद्रीय कैबिनेट में हमारे मंत्रियों ने और हमारी कैबिनेट से बीजेपी के मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है। हालांकि इन मंत्रियों ने राज्य में अच्छा काम किया। उन्होंने अपने विभागों में अच्छे बदलाव लाए। मैं उनकी सेवाओं के लिए धन्यवाद कहता हूं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App