ताज़ा खबर
 

CAA, कनेरिया विवादः दलित थे PAK के पहले कानून मंत्री, साथ नहीं कोई बैठता था इसलिए भाग आए थे हिंदुस्तान’, बोले तारिक फतह

गौरतलब है कि पाकिस्तान के पूर्व स्पिनर दानिश कनेरिया ने देश के प्रधानमंत्री इमरान खान और क्रिकेट प्रशासकों से मदद की गुहार लगाई है।

tariq Fateh, Pakistan, CAA,नागरिकता संशोधित कानून और पाकिस्तानी क्रिकेटर दिनेश कनेरिया के विवाद को लेकर तारिक फतह ने बड़ा बयान दिया है। (फाइल फोटो-PTI)

नागरिकता संशोधित कानून और पाकिस्तानी क्रिकेटर दानिश कनेरिया के विवाद को लेकर तारिक फतह ने बड़ा बयान दिया है। उनका कहना है कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यक सुरक्षित नहीं हैं। अपनी तर्क के समर्थन में उन्होंने पाकिस्तान के पहले कानून मंत्री का उदाहरण देते हुए कहा कि पाकिस्तान के पहले कानून मंत्री दलित थे लेकिन वहां उनके साथ भेदभाव होता था, उनके साथ कोई नहीं बैठता था इसलिए वह हिंदुस्तान भाग आए थे।

एक न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि, उन्हें समझ नहीं आता कि नागरिकता संशोधित कानून को लेकर इतना हल्ला क्यों मचा हुआ है? जो हिंदू पाकिस्तान या किसी और देश में परेशान हैं वह पनाह लेने हिंदुस्तान नहीं आएंगे तो कहां जाएंगे। जो यहां आते हैं वो पाकिस्तान के सताए हुए लोग ही आते हैं। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में सिर्फ धार्मिक भेदभाव ही नहीं है, वहां नस्लीय भेदभाव भी है।

पाकिस्तान के पहले लॉ मिनिस्टर हिंदू थे। उनके साथ भेदभाव हुआ क्योंकि वह दलित थे और बंगाल के रहने वाले थे। उनके साथ कोई कैबिनेट में बैठना  नहीं चाहता था। वह भाग कर हिंदुस्तान आ गए थे। इसलिए 2015 से पहले जो पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से भाग कर आया उसे हिंदुस्तान में जगह नहीं मिलेगी तो कहां मिलेगी।

गौरतलब है कि पाकिस्तान के पूर्व स्पिनर दानिश कनेरिया ने देश के प्रधानमंत्री इमरान खान और क्रिकेट प्रशासकों से मदद की गुहार लगाई है।कनेरिया ने बताया कि उनके जीवन में कुछ भी अच्छा नहीं गुजर रहा, वह बहुत तकलीफ में हैं। इससे पहले पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने खुलासा किया था कि कनेरिया के हिंदू होने की वजह से टीम के कई खिलाड़ी उनके साथ खाना नहीं खाते थे।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 नरेंद्र मोदी ने किया इन्कार तो पूर्व CM ने दागा सवाल- केंद्र ने सबसे बड़े डिटेंशन कैंप को जारी किए 46 करोड़ रुपए, फिर कैसे पलट रहे?
2 CAA के खिलाफ अनोखा प्रदर्शनः संपत्ति के नुकसान पर मुस्लिमों ने जारी किया 6 लाख का DD, मार्च निकाल बोले- अब नहीं करेंगे तोड़फोड़
3 मध्य प्रदेशः Jiwaji University की पीजी परीक्षाओं में क्रांतिकारियों को बता दिया गया ‘आतंकी’, पनपा विवाद तो बोले रजिस्ट्रार- लेंगे ऐक्शन
ये पढ़ा क्या?
X