गुजरात: गांधीधाम तनिष्क स्टोर पर हमले से पुलिस ने किया इनकार, मंत्री बोले-फर्जी खबर फैलाने वालों के खिलाफ हो केस

गांधीधाम में तनिष्क फ्रैंचाइज़ी के मालिक प्रकाश गुप्ता ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि छह से सात लोगों ने सोमवार शाम शोरूम में प्रवेश किया था, उनमें से एक ने नोटिसबोर्ड पर स्केच पेन के साथ स्टोर की ओर से माफीनामा लिखा था।

tanishq, tanishq ad, boycott tanishq, jwellery brand tanishq, tanishq hindu muslim ad,
हमला करने वाले लोगों ने तनिष्क स्टोर के मैनेजर से माफीनामा लिखवाया।

तनिष्क के ज्वैलरी के विज्ञापन के विरोध में गुजरात के गांधीधाम शहर में कुछ लोगों के समूह द्वारा कथित हमला करने की खबर के बाद पुलिस ने इलाके में सतर्कता बढ़ा दी है। गांधीधाम में तनिष्क फ्रैंचाइज़ी के मालिक प्रकाश गुप्ता ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि छह से सात लोगों ने सोमवार शाम शोरूम में प्रवेश किया था, उनमें से एक ने नोटिसबोर्ड पर स्केच पेन के साथ स्टोर की ओर से माफीनामा लिखा था।

गुप्ता ने बताया कि उन्होंने हमें बताया कि उन्हें कंपनी द्वारा जारी किए गए एक विज्ञापन पर आपत्ति थी और वे इसे नकारात्मक मान रहे थे। उन्होंने कहा कि हमने उन्हें बताया कि हम कंपनी को इसके बारे में सूचित करेंगे। इसके बाद उन्होंने नोटिसबोर्ड पर लिखा, जिसका इस्तेमाल हम आमतौर पर सोने की कीमत को प्रदर्शित करने के लिए करते हैं, कि हम हिंदू समुदाय से माफी मांग रहे थे और छोड़ दिया। गुप्ता ने कहा कि उन्होंने मंगलवार को पुलिस को घटना के बारे में सूचित किया था। “

उन्होंने आगे कहा कि जवाब में, पुलिस आई। हमने जो भी किया है, उसे सूचित किया है, लेकिन हम किसी भी पुलिस शिकायत दर्ज करने का इरादा नहीं रखते हैं। हमारी कंपनी ने विज्ञापन को भी वापस ले लिया है, ”गुप्ता ने कहा कि शोरूम में “ हमला नहीं किया गया ”था। गृह राज्य मंत्री प्रदीपसिंह जडेजा ने ट्विटर पर पोस्ट किया कि शोरूम पर “हमला” होने की खबरें झूठी थीं। उन्होंने कहा आगे निर्देश दिया गया था कि “फर्जी खबर” फैलाने वालों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाए।

एसपी मयूर पाटिल के मुताबिक मालिक ने माफी मांग ली थी लेकिन उन्हें कच्छ से लगातार धमकी भरे फोन आ रहे थे। स्टोर पर हमले की खबरें झूठी हैं। स्थानीय लोगों ने भी तोड़फोड़ या मारपीट की किसी भी घटना से साफ इंकार किया है।

इससे पहले मंगलवार को तनिष्क ने ऐड पर विवाद के होने के बाद उसे वापस ले लिया था। यही नहीं कंपनी ने कहा कि ऐड का जो मकसद था, उससे उलट लोगों की प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। हमें इस बात का दुख है कि लोगों की भावनाएं इससे आहत हुई हैं और इसके चलते हमने ऐड को वापस लेने का फैसला किया है।

यही नहीं टाटा ग्रुप के Titan ब्रांड का हिस्सा तनिष्क ने कहा कि हम अपने कर्मचारियों, पार्टनर्स और स्टोर स्टाफ की सलामती के लिए यह फैसला ले रहे हैं।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।