ताज़ा खबर
 

स्टालिन की शपथ के बीच जज्बाती हो रोने लगीं पत्नी, VIDEO वायरल; जानें- कौन हैं दुर्गा स्टालिन?

शपथग्रहण से पहले, सफेद कमीज और धोती पहने स्टालिन ने राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित को अपने मंत्रिमंडल का परिचय दिया। स्टालिन के बाद कुल 33 मंत्रियों को पद की शपथ दिलाई गई जिनमें से 15 पहली बार मंत्री पद संभालेंगे।

Edited By रुंजय कुमार चेन्नई | Updated: May 7, 2021 2:56 PM
अपने पति एम के स्टालिन को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते देख दुर्गा स्टालिन कार्यक्रम के दौरान भावुक हो गईं। (फोटो- पीटीआई )

विधानसभा चुनाव में द्रमुक को मिली प्रचंड जीत के बाद पार्टी अध्यक्ष मुथुवेल करुणानिधि स्टालिन ने शुक्रवार को तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली। राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने 68 वर्षीय स्टालिन को राजभवन में आयोजित सादे समारोह में पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। स्टालिन पहली बार मुख्यमंत्री का पद संभालेंगे। स्टालिन की पत्नी दुर्गा और त्रिपलीकेन-चेपॉक सीट से चुनाव जीते उनके बेटे उदयनिधि स्टालिन समेत परिवार के अन्य सदस्यों ने कार्यक्रम में हिस्सा लिया। शपथ ग्रहण कार्यक्रम के दौरान अपने पति एम के स्टालिन को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते देख दुर्गा स्टालिन भावुक हो गईं और रोने लगीं।

शपथग्रहण से पहले, सफेद कमीज और धोती पहने स्टालिन ने राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित को अपने मंत्रिमंडल का परिचय दिया। स्टालिन के बाद कुल 33 मंत्रियों को पद की शपथ दिलाई गई जिनमें से 15 पहली बार मंत्री पद संभालेंगे। स्टालिन समेत सभी 34 ने अपनी अंतरात्मा और द्रमुक की दशकों पुरानी परंपरा के अनुरूप तमिल में शपथ ली।करीब एक घंटे 10 मिमनट तक चले शपथ ग्रहण समारोह में कोविड-19 नियमों का पालन किया गया और सभी ने मास्क लगाया हुआ था। बाद में, स्टालिन ने द्रमुक के संस्थापक एवं अपने पिता दिवंगत एम करुणानिधि को उनके आवास पर श्रद्धांजलि दी और अपनी मां दयालु अम्मल का आशीर्वाद लिया।

द्रमुक के दिग्गज नेता एवं महासचिव दुराईमुरुगन को स्टालिन के बाद शपथ दिलाई गई और उन्हें सिंचाई परियोजनाओं में जल संसाधन मंत्री का प्रभार दिया गया तथा उनके पास खान एवं खनिज विभाग रहेगा। इससे पूर्व 2006-11 में द्रमुक के शासन में उनके पास लोक निर्माण कार्य जैसे विभागों का प्रभार था। गृह एवं अन्य विभागों जैसे लोक निर्माण, सामान्य प्रशासन, अखिल भारतीय सेवा, जिला राजस्व अधिकारी, विशेष कार्यक्रम क्रियान्वयन एवं दिव्यांग व्यक्ति कल्याण विभागों का प्रभार मुख्यमंत्री स्टालिन का पास होगा। पूर्व निवेश बैंकर, पलानीवेल त्यागराजन, वित्त एवं मानव संसाधन मंत्री होंगे।

केकेएसएसआर रामचंद्रन राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री होंगे। यहां के प्रख्यात पार्टी नेता और चेन्नई के पूर्व महापौर मा सुब्रमण्यन स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री होंगे। के पोनमुदी उच्च शिक्षा मंत्री, थंगम तनारासू उद्योग मंत्री और पी के सेकाराबू हिंदू धर्म एवं धर्मार्थ बंदोबस्त विभाग का मंत्री बनाया गया है। वी सेंथिल बालाजी को बिजली विभाग का प्रभार दिया गया है। वह जे जयललिता की अगुवाई वाली अन्नाद्रमुक सरकार के दौरान 2011 से 2015 के बीच परिवहन मंत्री रहे थे और 2018 में द्रमुक में शामिल हो गए थे।

कृषि एवं पर्यावरण समेत कई विभागों का नाम बदल दिया गया है जैसे कृषि विभाग अब कृषि एवं कृषक कल्याण विभाग है और पर्यावरण विभाग का नाम पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग है। एमआरके पनीरसेल्वम कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्री होंगे। ई वी वेलु लोक निर्माण मंत्री होंगे। गैर निवासी तमिल कल्याण एक नया विभाग है जिसका प्रभार जिंगी के एस मस्तान के पास होगा। उन्हें अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री भी बनाया गया है। मंत्रिमंडल में दो महिला मंत्री भी हैं – पूर्व मंत्री पी गीता जीवन जिन्हें समाज कल्याण एवं महिला सशक्तीकरण और एन कयालविजि सेल्वाराज जिन्हें आदि द्रविड़ार कल्याण मंत्री बनाया गया है। सेल्वाराज ने धारापुरम सीट से भाजपा की तमिलनाडु इकाई के अध्यक्ष एल मुरुगन को हराया है।

द्रमुक अध्यक्ष के बड़े भाई एम के अलागिरि के बेटे दयानिधि एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री दयानिधि मारन भी शपथ ग्रहण के दौरान  उपस्थित थे। विपक्षी अन्नाद्रमुक के शीर्ष नेता ओ पनीरसेल्वम, कांग्रेस के पी चिदंबरम समेत गठबंधन के नेता, एमडीएमके अध्यक्ष वाइको और राज्य के शीर्ष अधिकारी शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने पर द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) अध्यक्ष मुथुवेल करुणानिधि स्टालिन को बधाई दी।
मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘‘तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने पर एम के स्टालिन को बधाइयां।’’

मुख्यमंत्री के तौर पर कार्यभार संभालने के बाद पहला आदेश जारी करते हुए स्टालिन ने निजी अस्पतालों में कोराना वायरस के इलाज को सरकारी बीमा योजना के दायरे में लाने की भी घोषणा की ताकि ऐसे लोगों को राहत मिल सके। ये घोषणाएं महामारी से प्रभावित नागरिकों की सहायता करने के लिए चावल राशन कार्ड धारकों को 4,000 रुपये मुहैया कराने और उनकी आजीविका में मदद करने के पार्टी के वादे की याद दिलाती हैं। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने शुक्रवार को राज्य के लोगों के लिए 2,000 रुपये की कोविड-19 महामारी राहत राशि, आविन दूध के दाम में कटौती और सरकारी परिवहन बसों में महिलाओं के लिए निशुल्क यात्रा की घोषणा की।

सरकार की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि महिलाएं शनिवार से राज्य परिवहन निगम द्वारा संचालित सभी बसों में निशुल्क यात्रा कर सकती हैं और सरकार ने इसके लिए सब्सिडी के तौर पर 1,200 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं। साथ ही  एम के स्टालिन ने ‘‘आपके निर्वाचन क्षेत्र में मुख्यमंत्री’’ योजना को लागू करने के लिए एक आईएएस अधिकारी की अध्यक्षता वाले विभाग का गठन करने को भी मंजूरी दी ताकि लोगों की शिकायतों का 100 दिनों के भीतर समाधान किया जा सकें। उन्होंने चुनाव के दौरान वादा किया थ कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो वह 100 दिनों के भीतर लोगों की शिकायतों का निवारण करेगी।

Next Stories
1 कोरोनाः ये नेशनल इमरजेंसी नहीं, इंटरनेशनल तबाही है- नेताओं के सामने बोलने लगे रिटायर्ड मेजर जीडी बख्शी
2 हम दाढ़ी बढ़ाकर प्रवचन नहीं देते- संबित पात्रा को झूठा बता बोले ममता की पार्टी के नेता, देखें- फिर क्या हुआ
3 covid19: ये हैं नए स्ट्रेन के लक्षण, कम सुनाई देना भी हो सकता है संकेत
ये  पढ़ा क्या?
X