ताज़ा खबर
 

तमिलनाडु में तोड़ी पेरियार की मूर्ति, इलाके में तनाव; अभिनेता रजनीकांत के बयान पर विवाद

तमिलनाडु के चेंगलपट्टू जिले में कुछ बदमाशों ने रात के समय पेरियर की मूर्ति का दाहिना हाथ और चेहरे को तोड़ दिया है। इससे इलाके में तनाव का माहौल बना हुआ है।

पेरियार की मूर्ति तोड़ी गई, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

तमिलनाडु के चेंगलपट्टू जिले के उत्तरमेरूर टाउन के पास बसे एक गांव कालिया पट्टी में द्रविड़ियन विचारक पेरियर की मूर्ति के साथ तोड़ फोड़ की घटना सामने आई हैं। बता दें कि कुछ बदमाशों ने रात के समय पेरियर की मूर्ति का दाहिना हाथ और चेहरे को तोड़ दिया। अगले दिन सुबह जब गांव वालों ने मुर्ति को देखा तो वह हैरान रह गए। इस घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंचकर मामले को शांत किया।

राजनीतिक नेताओं ने इसकी निंदा की है: सलवक्कम स्टेशन के पुलिस ऑफिसर ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया की मामले की जांच पड़ताल के लिए सीनियर ऑफिसर मौके पर मौजूद हैं। पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि जिले के सलावाक्कम में आज सुबह प्रतिमा क्षतिग्रस्त हालत में मिली जिससे इलाके में खलबली मच गई। राजनीतिक नेताओं ने प्रतिमा की तोड़फोड़ की घटना की निंदा की है।

Hindi News Live Hindi Samachar 24 January 2020:देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे

रजनीकांत के बयान के बाद शुरू हुआ था विवाद: यह घटना ऐसे समय में सामने आई है जब पिछले एक सप्ताह से राज्य में पेरियार पर राजनीति  हो रही है। दरअसल यह राजनीति अभिनेता रजनीकांत के बयान के बाद शुरू हुआ था। दरअसल रजनीकांत एक कार्यक्रम में पेरियार की रैली का जिक्र करते हुए कहा था कि भगवान को चप्पल की माला पहनाई गई थी।

रजनीकांत ने किया था टिप्पणी: दरअसल, तमिल पत्रिका ‘तुगलक’ द्वारा 14 जनवरी को आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लेने के दौरान रजनीकांत ने आरोप लगाया था, ‘‘1971 में सेलम में पेरियार ने रैली निकाली थी जिसमें उन्होंने भगवान श्री रामचंद्र की मूर्ती को चप्पल की माला पहनाई थी, और सीता की नग्न तस्वीरें दिखाई गई थीं।’’ रजनीकांत की इस टिप्पणी पर पेरियार समर्थक संगठनों और राजनीतिक दलों ने नाराजगी जताई थी। द्रमुक अध्यक्ष एम के स्टालिन और पीएमके संस्थापक एस रामदास ने प्रतिमा से तोड़फोड़ की घटना पर रोष जताया और तर्कवादी नेता की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त करने में शामिल लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X
Next Stories
1 JNU Hostel Fee Hike: दिल्ली हाई कोर्ट ने की सुनवाई, विश्वविद्यालय, MHRD व UGC को भेजा नोटिस
2 अमित शाह समेत 503 सांसदों ने लोकसभा को नहीं दी ये जानकारी, RTI में खुलासा, बीजेपी से आगे कांग्रेस
3 ‘पसीने से करता हूं मालिश, इसलिए चमकता है चेहरा’, बयान पर मीम्स के जरिए PM नरेंद्र मोदी को ट्रोल कर रहे लोग
ये पढ़ा क्या?
X